‘आखिर स्टूडेंट्स के साथ ऐसे पेश क्यों आया जाता है’

सोशल मीडिया की हलचल

पॉलिटॉक्स ब्यूरो. नागरिकता संशोधन ​कानून जब से बना है तब से देश में हिंसा की खबरें चारों तरफ से आ रही हैं. असम और बंगाल ही नहीं अब तो राजधानी दिल्ली और वहां के शिक्षण संस्थानों में भी इसकी आग फैलती जा रही है. रविवार को जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी (Jamia University) में छात्रों का हिंसक प्रदर्शन और उसके बाद पुलिस की जवाबी कार्यवाही इस समय देश के पलट पर छाई हुई है. इस पर सियासी रंग भी चढ़ चुका है. पार्टियों का एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप का दौर बदस्तूर जारी है. अब ये मसला सोशल मीडिया पर भी जोर पकड़ा जा रहा है. अब तो बॉलीवुड सेलेब्स वाला धड़ा भी इस लड़ाई में कूद पड़ा है. (Stand with Jamia) विक्की कौशल, स्वरा भास्कर, मनोज वाजपेयी, ऋचा चढ्ढा, सिद्धार्थ मल्होत्रा, विक्रांत मैसी, हूमा कुरैशी जैसे कई स्टार्स ने इस बारे में अपनी राय जाहिर की.

यह भी पढ़ें: ‘CAB मतलब चुपके से घुसने नहीं देंगे क्योंकि भारत मेरे बाप का है’

इस बारे में फिल्म डायरेक्टर अलंकृता श्रीवास्तव ने ट्वीटर हैंडल पर लिखा, ‘मैंने जामिया से पढ़ाई की हे और ये वो जगह हे जहां मैं फिल्ममेकर बनने के लिए ट्रेंड हुई. वह जगह जिसने एक लक्ष्य को लेकर भ्रमित लड़की को आशा और प्रोत्साहन दिया लेकिन आज मेरा दिल जामिया के उन स्टूडेंट्स के लिए खून के आंसू रो रहा है जिनपर कैंपस में हमला हुआ. हर स्तर पर गलत और बेरहम है. मैं स्टूडेंट्स के लिए हुआ करती है’. (Stand with Jamia)

Patanjali ads

हर सामजिक मुद्दे पर अपनी बेबाक राय रखने के लिए जानी जाने वाली स्वरा भास्कर ने ट्वीटर पर पोस्ट किया, ‘आखिर स्टूडेंट्स के साथ ऐसे पेश क्यों आयाजाता है जैसे वे कोई अपराधी हों? होस्टल में आंसू गैस क्यों छोड़ी गई? दिल्ली पुलिस का हैरान और शर्मिदा करने वाला कृत्य’.

वहीं एक्टर विक्रांत मैसी ने लिखा, ‘जामिया के कई स्टूडेंट्स सीएए के विरोध में अंबेडकर और गांधी की फोटो पकड़े हुए हैं. हम अपनी जड़े नहीं भूले और अपने गौरवशाली देश की की खोई पवित्रता वापस पाने के लिए लड़ते रहेंगे. मैं जामिया के साथ खड़ा हूं’.

फुकरे फेम ऋचा चढ्ढा ने पोस्ट करते हुए लिखा, ‘हम सभी एक लोकतंत्र पर असहमत होने के लिए सहमत हैं. छात्र अपने लोकतांत्रिक अधिकार के असंतोष का विरोध कर रहे हैं या आप माननीय पीएम का सम्मान नहीं करते जो असंतोष को प्रोत्साहित करता है?’

वहीं एक्टर मनोज वाजपेयी ने छात्रों के प्रदर्शन का तो समर्थन किया लेकिन हिंसा का विरोध करते हुए लिखा, ‘विरोध करने के लिए छात्रों और उनके लोकतांत्रिक अधिकारों के साथ लेकिन प्रदर्शनकारी छात्रों के खिलाफ हिंसा की निंदा करता हूं’. (Stand with Jamia)

फिल्म संजू फेम एक्टर विक्की कौशल ने कहा कि लोगों को शांतिपूर्वक अपनी राय रखने का पूरा अधिकार है लेकिन जो और जिस तरह से हो रहा है, वो ठीक नहीं. किसी भी परिस्थिति में लोकतंत्र में हमारा विश्वास नहीं हिलना चाहिए’.

वहीं सिद्धार्थ मल्होत्रा का कहना है, ‘हमारे जैसे लोकतंत्र में शांतिपूर्ण विरोध के माध्यम से नागरिकों को अपनी राय देने के लिए हिंसा को देखना दुखद है. यहां किसी प्रकार की हिंसा और मंशा के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए. मैं इस कृत्य की कड़ी निंदा करता हूं’.

वहीं हूमा कुरैशी ने जामिया स्टूडेंट्स का पक्ष लेते हुए कहा कि हम एक धर्मनिरपेक्ष लोकतंत्र हैं. छात्रों के साथ व्यवहार में पुलिस ने जो हिंसा दिखाई, वो भयानक है. नागरिकों को शांतिपूर्वक विरोध करने का अधिकार है. नरेंद्र मोदी और अमित शाह या अब कोई विकल्प नहीं है ?? (Stand with Jamia)

Leave a Reply