दारु पीते पकड़े गए रिश्तेदार को छुड़ाने थाने पहुंचे विधायक जी का हंगामा, बोले- क्या हुआ शराब पी ली तो, आखिर बच्चे हैं

विधायक जी का थाने में धरना, पुलिस को जमकर हड़काया, मामला बढ़ा तो पुलिस ने खींचे हाथ, सुलट गया मामला, जोधपुर के रातानाड़ा थाने में शेरगढ़ से कांग्रेस विधायक मीना कंवर और उनके पति का जोरदार हंगामा, वीडियो हो रहा है वायरल बीजेपी ने कसा तंज तो सोशल मीडिया पर यूजर्स ने लगाई क्लास

0
'क्या हुआ शराब पी ली तो, आखिर बच्चे हैं'
'क्या हुआ शराब पी ली तो, आखिर बच्चे हैं'
Advertisement2

Politalks.News/Rajasthan. जोधपुर का रातानाडा थाना फिर से सुर्खियों में है. लवली कंडारा एनकाउंटर मामला शांत नहीं हुआ और अब शेरगढ़ से कांग्रेस विधायक मीनाकंवर और उनके पति ने थाने में धरना दे दिया. विधायक के रिश्तेदार का पुलिस ने चालान काटा तो विधायक अपने पति सहित थाने पहुंच गईं. विधायक और उनके पति ने पुलिस को धमकाया और जमकर हंगामा किया. हैरान करने वाली बात तो ये है कि चालान एमवीआई एक्ट के तहत पर काटा गया. इस पर विधायक ने पुलिस से कहा कि, ‘क्या हो गया शराब पी ली तो, बच्चे हैं पी लेते है’. इस दौरान विधायक के पति पुलिसकर्मी को विधायक के सामने कुर्सी पर बैठने पर भी टोकते नजर आए. इधर इस वाक्ये को लेकर जहां भाजपा ने कांग्रेस और गहलोत सरकार पर तंज कसा है तो सोशल मीडिया पर भी जोरदार खिंचाई हो रही है. सियासी गलियारों में सत्ता पक्ष के विधायक के धरने की काफी चर्चा है. लोग पूछ रहे हैं कि सरकार में इनकी सुनवाई नहीं हो रही है क्या?

यह था मामला
रविवार देर रात 10.30 बजे एयर फोर्स इलाके में पुलिस की गश्ती दल ने दो लोगों को पकड़ा और एमवीआई एक्ट के तहत उनका चालान बना दिया. चालान बनाने के बाद गाड़ी को सीज किया गया. इसके के बाद युवक ने अपने रिश्तेदार शेरगढ विधायक मीना कंवर के पति उम्मेद सिंह राठौर को फोन लगा दिया. उम्मेद सिंह की पुलिस से बात करवा डाली. कानून के दायरे में बंधे पुलिस के जवान ने उन्हें कहा कि, ‘उन्होंने चालान बना दिया है और अब गाड़ी सीज हो चुकी है. वह गाड़ी छोड़ने में असमर्थ है.’

इसके बाद उम्मेद सिंह राठौर अपनी विधायक पत्नी मीना कंवर के साथ थाने पहुंच गए. थाने में करीब एक घंटे तक हंगामा चला. जब बात बनती नहीं दिखी तो विधायक और पति जमीन पर बैठ गए. अपनी जिद पर अड़ गए. कभी डीसीपी तो कभी आलाकमान को फोन करने लगे. जयपुर से एक बड़े अधिकारी को बार-बार फोन किया गया. आखिरकार डीसीपी के हस्तक्षेप के बाद मामला तो शांत हो गया. इतना ही नहीं विधायक के सामने कुर्सी पर बैठे पुलिसकर्मी को भी उनके पति ने धमकाते हुए बोले कि, ‘विधायक नीचे बैठी हैं और तुम कुर्सी पर’. यहां तक कि एसएचओ लीलाराम वाले मामले का हवाला देते हुए भी धमकाने लगाने.

यह भी पढ़ें- गहलोत सरकार का किसानों को दीवाली तोहफा, मार्च तक 18500 करोड़ का फसली ऋण बांटेगी सरकार

थाने में चले विधायक और पति के ड्रामे का वीडियो वहां मौजूद किसी पुलिसकर्मी ने बना लिया. आला अधिकारी ने वीडियो बनाने वाले कांस्टेबल को वीडियो तुरंत डिलीट करने का आदेश दे डाला. वहीं पूरे थाने को भी कह दिया कि वह इस बारे में किसी को नहीं बताएं, लेकिन घटना का वीडियो सोमवार देर रात सामने आ गया.

अब हम आपको बताते हैं कि इस वीडियो में क्या क्या बात हो रही है.
मीना कंवर- मेरे घर का बच्चा है.
उम्मेद सिंह (पुलिस से)- एमएलए के सामने तू कुर्सी पर बैठा है.
पुलिस- आप इंसानियत से बोलो..
उम्मेद सिंह- तो क्या कर लेगा.
मीना कंवर- हमने रिक्वेस्ट की है, बच्चे सबके पीते हैं… कोई बात नहीं… थोड़ा बहुत ले लिया….
पुलिस- हम्म
मीना कंवर- हम्म क्या है…?, बच्चे को अंदर डाल दिया आपने…
उम्मेद सिंह (पुलिस से)- तू शराब पिया हुआ है?
पुलिस: नहीं… सभी ऐसे ही दिखते हैं आपको…।
उम्मेद सिंह- तेरी हालात देख, एमएलए नीचे तू ऊपर बैठा है…
दूसरा पुलिस कर्मी- कुर्सी दी थी, कुर्सी पर क्यों नहीं बैठ रहे आप?
उम्मेद- इसको बोलो खड़ा हो…
(फिर बैठने को कुर्सी दी जाती है, लेकिन उम्मेदसिंह बैठते नहीं)
मीना कंवर- इन सबके बच्चे ऐसे होंगे ना… बच्चे हैं… क्या फर्क पड़ गया… रिक्वेस्ट कर दी आपसे…
फिर टोकते हुए- आप वीडियो बना रहे है?? बनाइए…. यह सही नहीं कर रहे… बंद कर दीजिए…
उम्मेद सिंह (गुस्से में)- बंद कर…

यह भी पढ़ें: रोडवेज के रिटायर्ड कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले, बहुप्रतिक्षित मांग को पूरा कर सीएम गहलोत ने दिया दिवाली का तोहफा

अशोक गहलोत जी अपने खिलाफ धरने पर कब बैठेंगे- पूनियां
कांग्रेस विधायक और उनके पति के इस हंगामे पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने तंज कसा है. पूनियां ने कहा है कि, ‘राज्य में कांग्रेस की सरकार है. नोखा में उनके अध्यक्ष बदमाशों द्वारा पीट दिये जाते हैं और अब ये शेरगढ़ की विधायक महोदया हैं पति के साथ थाने में धरने पर बैठी हैं. मामला काफ़ी रोचक है पुलिसकर्मी को तो सलाम है ही लेकिन आज का प्रश्न है कि अशोक गहलोत जी अपने ख़िलाफ़ धरने पर कब बैठेंगे?

 

Leave a Reply