मलिक के निशाने पर NCB, बोले-‘मेरे दामाद को झूठे केस में फंसाया, इनको ड्रग्स और तंबाकू में फर्क नहीं पता’

क्रूज ड्र्ग्स मामले पर पूरे देश की नजर, लेकिन NCP के निशाने पर NCB, नवाब मलिक फिर भड़के NCB पर, कार्रवाई पर उठाए गंभीर सवाल, बीजेपी नेता के रिश्तेदार को छोड़ने का लगाया आरोप, बोले- 'मिल रही हैं जान से मारने की धमकियां', नवाब के आरोप पर भड़के बीजेपी नेता- माफी मांगें वरना करेंगे 100 करोड़ की मानहानि का दावा

0
मलिक के निशाने पर NCB
मलिक के निशाने पर NCB
Advertisement2
Politalks.News/Maharashtra. क्रूजशिप ड्रग्स मामले को लेकर NCB निशाने पर है. महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और NCP के दिग्गज नेता नवाब मलिक लगातार NCB के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं. नवाब मलिक का कहना है कि, ‘जब से NCB की क्रूज शिप ड्रग्स पार्टी की जांच में अनियमितताओं को उजागर करना शुरू किया है तब से उन्हें फोन पर लगातार धमकी मिल रही है’. जिसके बाद नवाब मलिक की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है. इस मामले में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को भी गिरफ्तार किया गया है. तो वहीं इसी मामले को लेकर नवाब मलिक ने कहा कि, ‘क्रूज छापे के दौरान मुंबई भाजपा नेता के एक रिश्तेदार को छोड़ दिया गया जबकि अन्य को गिरफ्तार कर लिया गया ऐसा क्यों?’ वहीं अपने दामाद कि रिहाई को लेकर नवाब मलिक ने कहा कि, ‘उनके दामाद के पास से कोई भी गांजा बरामद नहीं हुआ लेकिन फिर भी NCB ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था’.

 

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने गुरूवार को पत्रकार वार्ता के दौरान नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो पर सवालिया निशान खड़े किए. नवाब मलिक ने कहा कि ‘NCB को तो तंबाकू और ड्रग्स के बीच में कोई फर्क ही समझ में नहीं आता. NCB ने मेरे दामाद को ड्रग्स रखने के आरोप में जनवरी में गिरफ्तार किया गया था, मेरे दामाद के पास से कोई भी गांजा बरामद नहीं किया गया था. बल्कि उसके पास से हर्बल तंबाकू मिली थी’. बता दें कि मुंबई की एक विशेष अदालत ने ड्रग्स मामले में गिरफ्तार नवाब मलिक के दामाद समीर खान को गुरुवार को जमानत दे दी है. हालांकि NCB ने मलिक के दामाद की जमानत के खिलाफ हाई कोर्ट में अपील दर्ज कर दी है जिसके बाद उनकी मुश्किलें बढ़ सकती है.

पत्रकार वार्ता के दौरान मलिक ने कहा कि ‘जनवरी में मेरे दामाद को गिरफ्तार किया था और उस वक्त उन पर यह आरोप लगाया गया है कि उनके पास से भारी मात्रा में गांजा बरामद किया गया. NCB ने मेरे दामाद को झूठे आरोपों में फंसा कर जेल भेजा और कई महीने उसे जेल में रहना पड़ा’. नवाब मलिक ने बताया कि ‘उस समय मेरा परिवार दुःख से गुजर रहा था. उस वक़्त शरद पवार ने मेरा हौसला बढ़ाते हुए कहा कि इनके दामाद ने जो भी गुनाह किया है, उसकी सजा उसको मिलनी चाहिए. लेकिन दामाद की गलती की सजा किसी ससुर को नहीं मिलनी चाहिए’.
वहीं क्रूज शिप में ड्रग्स पार्टी मामले की जांच को लेकर नवाब मलिक लगातार एनसीबी और भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ हैं. शाहरुख़ खान के बेटे की गिरफ्तारी को लेकर उन्होंने कहा कि, ‘नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने क्रूज छापे के दौरान मुंबई भाजपा नेता के एक रिश्तेदार को छोड़ दिया. लेकिन एक सोची समझी रणनीति के तहत शाहरुख खान के बेटे को गिरफ्तार कर लिया. क्रूज़ पर हिरासत में लिए गए व्यक्तियों में से एक ऋषभ सचदेव थे, लेकिन उन्हें नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा तुरंत रिहा कर दिया और साथ ही प्रतीक गाबा और आमिर फर्नीचरवाला को भी छोड़ दिया गया ऐसा उन्होंने क्यों किया इसका जवाब उनके पास नहीं है’. मलिक ने बताया कि, ‘ऋषभ भाजपा नेता मोहित कंभोज के बहनोई हैं इसी कारण उन्हें छोड़ा गया’. वहीं नवाब मलिक ने क्रूज जहाज की छापेमारी को नकली बताया है.
नवाब मलिक ने कहा, ‘भाजपा के नेता कहते हैं कि मैं एनसीबी पर हमले इसलिए कर रहा हूं क्योंकि उन्होंने मेरे दामाद को गिरफ्तार किया था. लेकिन मैंने कभी अपने दामाद का समर्थन नहीं किया और वह अपना मुकदमा लड़ेंगे’. नवाब मलिक ने क्रूज शिप ड्रग्स मामले को लेकर कहा कि ‘मैं इस मामले में जो जानकारी मेरे पास है वह NCB के साथ साझा नहीं कर सकता क्योंकि उन्होंने एक झूठा मामला तैयार किया है. अगर जांच करने के लिए एक स्वतंत्र आयोग का गठन किया जाता है, तो मैं सारी जानकारी उन्हें दे दूंगा’.
नवाब मलिक ने कहा कि ‘जब से मैंने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के फर्जीवाड़े को मीडिया और देश के सामने रखा है, तभी से मुझे धमकी भरे फोन आ रहे हैं. मुझे यह सारे फोन एनसीपी ऑफिस में आ रहे हैं. जिसके बाद मेरी जान को खतरे में देखते हुए मेरी सुरक्षा व्यवस्था को भी बढ़ाया गया है. मैं किसी से डरने वाला नहीं हूँ. मैं सच्चाई के लिए लड़ता रहूँगा और आने वाले दिनों में एनसीबी के और भी फर्जीवाड़े का खुलासा करूंगा’. बता दें की नवाब मलिक कि सुरक्षा में इजाफा करते हुए अब उन्हें Y से Y प्लस सिक्योरिटी दी गई है.
वहीं नवाब मलिक द्वारा NCB पर लगाए गए आरोपों को लेकर बीजेपी नेता ने उनपर पलटवार किया है. भाजपा नेता मोहित भारतीय ने राकांपा नेता पर मादक पदार्थ के तस्करों का समर्थन करने और अपने आधिकारिक पद का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है. भारतीय ने कहा कि, ‘अगर एनसीबी को ऋषभ सचदेवा और उसके दोस्तों के खिलाफ कोई आपत्तिजनक सबूत मिलता तो एजेंसी उन पर कानून के दायरे में कार्रवाई करती. एनसीबी की ईमानदारी पर शक नहीं किया जा सकता और उस पर किसी भी राजनीतिक प्रभाव का असर नहीं डाला जा सकता, शायद इसलिए नवाब मलिक एनसीबी और उसके मेहनती अधिकारियों पर निशाना साध रहे हैं’.
मोहित ने आगे कहा कि, ‘मैं नवाब मलिक के खिलाफ 100 करोड़ रुपये के हर्जाने की मांग करते हुए मानहानि का मामला दायर करूंगा और मैं मादक पदार्थ के खिलाफ जंग की ओर इस मुकदमे को आगे ले जाने का वचन देता हूं’.

 

Leave a Reply