किसान रैली: टैक्टर चलाकर हरियाणा पहुंचे राहुल गांधी, घुसने नहीं दिया तो धरने पर बैठे

100 कार्यकर्ताओं के साथ हरियाणा बॉर्डर में प्रवेश किया राहुल गांधी ने, वहीं सिरसा में किसानों ने किया दुष्यंत चौटाला और बिजली मंत्री के घर का घेराव, पुलिस ने किया भीड़ को तितर बितर

0
किसान ट्रैक्टर रैली में राहुल गांधी
किसान ट्रैक्टर रैली में राहुल गांधी

Politalks.News/Punjab/Haryana. कृषि कानूनों का विरोध रही कांग्रेस की ट्रैक्टर रैली आज राहुल गांधी के नेतृत्व में हरियाणा बॉर्डर पहुंची. राहुल गांधी ने खुद स्टी​यरिंग संभाली और ट्रैक्टर चलाकर हरियाणा बॉर्डर पहुंचे. पटियाला से हरियाणा बॉर्डर पहुंची ट्रैक्टर रैली में किसानों की तादात सैंकड़ों की संख्या में थी. बॉर्डर पर पहुंचने से पहले ही हरियाणा पुलिस तैयार थी और उन्होंने रैली को रोक दिया. यहां धक्का-मुक्की भी हुई और पुलिस ने बॉर्डर में घुसने नहीं दिया. इस पर राहुल धरने पर बैठ गए और कार्यकर्ताओं के साथ हरियाणा जाने की मांग की. कुछ देर बातचीत के बाद राहुल को 100 कार्यकर्ताओं के साथ भाजपा शासित राज्य में एंट्री दे दी.

बिहार से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें
बिहार से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

इससे पहले पटियाला के सन्नौर में अपनी आखिरी रैली को समाप्त करने के बाद राहुल गांधी ने तीन दिवसीय ‘खेत बचाओ यात्रा’ के समापन के दिन हरियाणा की सीमा तक पहुंचने के लिए ट्रैक्टर चलाया. उनके साथ ट्रैक्टर पर पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ और पार्टी के वरिष्ठ नेता हरीश रावत भी मौजूद थे. राहुल के साथ रैली में हरियाणा की तरफ से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा, वरिष्ठ नेता भूपिंदर सिंह हुड्डा, रणदीप सिंह सुरजेवाला, किरण चौधरी, अजय सिंह यादव और पार्टी के हरियाणा मामलों के प्रभारी विवेक बंसल मौजूद रहे.

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी जब प्रधानमंत्री बनेंगे तो इन काले कानूनों को खत्म कर देंगे – कृषि कानूनों पर कै.अमरिंदर 

पंजाब के पटियाला जिले से कई कांग्रेसी कार्यकर्ता राहुल गांधी के साथ जा रहे थे लेकिन रैली को पिहोवा सीमा पर स्थित तोकर गांव के पास राजमार्ग पर एक घंटे के लिए रोक दिया गया. इस पर राहुल गांधी कांग्रेसी नेताओं के साथ धरने पर बैठ गए. इस पर मौके पर मौजूद हरियाणा पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने संवाददाताओं से कहा कि वे COVID-19 प्रतिबंधों के कारण दिशानिर्देशों के अनुसार एक स्थान पर 100 से अधिक लोगों को इकट्ठा नहीं होने देंगे. बाद में समझाइश करने के बाद राहुल गांधी के साथ 100 कांग्रेसी कार्यकर्ताओं और किसानों को हरियाणा में प्रवेश करने की इजाजत दी.

इससे पहले पटियाला में किसान रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कृषि संबंधी तीन ‘काले कानूनों से खाद्य सुरक्षा की व्यवस्था नष्ट हो जाएगी. पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने गंभीर आरोप लगाते हुए दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन कानूनों के जरिए अपने कुछ पूंजीपति मित्रों को फायदा पहुंचाना चाहते हैं. राहुल गांधी ने कहा कि ये जो तीनों कानून बनाए गए हैं वो खाद्य सुरक्षा की मौजूदा व्यवस्था को नष्ट करने का प्रयास है. कांग्रेस गांधी ने कहा कि हरियाणा की जमीन पर किसानों के लिए न्याय का संघर्ष शुरू है. ये संघर्ष न्याय दिलाकर ही रुकेगा. कांग्रेस किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी थी, खड़ी है और खड़ी रहेगी.

मध्यप्रदेश से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें
मध्यप्रदेश से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

इधर, पंजाब के कांग्रेस नेताओं के मुताबिक, तीनों कृषि कानूनों से पंजाब और हरियाणा पर सबसे ज्यादा विपरीत असर होगा. वहीं राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने पहले नोटबंदी की गई और जीएसटी लागू किया गया जिससे छोटे एवं मध्यम कारोबार नष्ट हो गए. सरकार ने कोई मदद नहीं की. राहुल गांधी ने कहा कि देश में खाद्य सुरक्षा की एक व्यवस्था है. अगर यह टूट गई तो सिर्फ किसानों को नहीं, बल्कि सभी लोगों को नुकसान होगा. विपक्ष के कमजोर होने की धारणा से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि जब पूरे संस्थागत ढांचे को नियंत्रण में ले लिया गया है तो ऐसे में यह कहना उचित नहीं है कि विपक्ष कमजोर है. राहुल ने कहा कि देश की आत्मा पर जबरन कब्जा कर लिया गया है.

किसान संगठन ने किया दुष्यंत चौटाला के आवास का घेराव

कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब और हरियाणा के किसान संगठनों ने डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला और बिजली मंत्री रणजीत सिंह के आवास का घेराव करने पहुंचे. किसानों को रोकने के लिए पुलिस ने पूरे इलाके को बैरिकेड्स लगाकर सील कर दिया लेकिन फिर भी सैकड़ों की संख्या में पहुंचे किसानों ने बैरिकेड्स तोड़कर आगे बढ़ने का प्रयास किया. बाद में पुलिस ने उन्हें हल्के बल प्रयोग से खदेड़ा. वहीं हरियाणा के सिरसा में प्रदर्शन कर रहे किसानों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया.

Leave a Reply