पहले राहुल फिर दिग्गज नेताओं के बाद अब कांग्रेस का भी ट्विटर अकाउंट लॉक, पार्टी बोली- हम लड़ते रहेंगे

ट्विटर और कांग्रेस में तकरार, पार्टी के साथ राहुल और दिग्गजों के अकांउट ब्लॉक, कांग्रेस का बयान- सरकार के दबाव में एक्शन, हम अपनी जारी रखेंगे लड़ाई, दावा- 5000 अकाउंट किए ब्लॉक, रेप पीड़िता के परिजनों की फोटो की थी पोस्ट, बीजेपी बोली जब हमारे अकाउंट ब्लॉक होते थे तब तो बनते थे उनके प्रवक्ता

0
कांग्रेस पर ट्विटर का एक्शन
कांग्रेस पर ट्विटर का एक्शन
Advertisement2

Politalks.News/Delhi. ट्विटर और कांग्रेस के बीच की तकरार लगातार बढ़ती जा रही है. कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के अकाउंट के बाद अब कांग्रेस पार्टी का ट्विटर अकाउंट भी लॉक हो गया है. गुरुवार को कांग्रेस द्वारा आरोप लगाया गया है कि उनका ट्विटर अकाउंट लॉक कर दिया गया है, लेकिन हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे.

कांग्रेस द्वारा फेसबुक पर इस बात जानकारी दी गई है. कांग्रेस ने लिखा है कि, ‘जब हमारे नेताओं को जेलों में बंद कर दिया गया, हम तब नहीं डरे तो अब ट्विटर अकाउंट बंद करने से क्या ख़ाक डरेंगे. हम कांग्रेस हैं, जनता का संदेश है, हम लड़ेंगे, लड़ते रहेंगे’. कांग्रेस की ओर से कहा गया है कि, ‘अगर बलात्कार पीड़िता बच्ची को न्याय दिलाने के लिए आवाज उठाना अपराध है, तो ये अपराध हम सौ बार करेंगे. जय हिंद, सत्यमेव जयते’.

आपको बता दें कि दिल्ली में एक नौ साल की बच्ची के साथ कथित बलात्कार फिर हत्या के मामले के बाद कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने उसके परिवार से मुलाकात की थी. इस मुलाकात की तस्वीर राहुल गांधी ने ट्विटर पर साझा की थी. इसी के बाद राहुल गांधी का अकाउंट पहले सस्पेंड हुआ और बाद में लॉक कर दिया गया. कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस के अन्य कई नेताओं का भी अकाउंट लॉक किया गया, जिनमें रणदीप सुरजेवाला, अजय माकन, सुष्मिता देव समेत अन्य कुछ नेताओं का नाम शामिल है.

यह भी पढ़ें- विपक्षी महागठबंधन की कवायद के बीच जगन पर BJP की ‘नजर’, पीके की मुलाकात ने बिगाड़े समीकरण

क्यों हुआ था एक्शन?
राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने राहुल गांधी के ट्वीट पर संज्ञान लिया था और ट्विटर को एक नाबालिग पीड़िता की गोपनीयता का उल्लंघन करने के लिए कांग्रेस नेता के अकाउंट के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया था. आयोग ने राहुल गांधी के एक्ट को कानूनी तौर पर गलत बताया था.

कांग्रेस द्वारा इस मसले पर लगातार सरकार को घेरा जा रहा है. कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि, ‘मोदी सरकार के दबाव में ट्विटर द्वारा इस तरह का एक्शन लिया गया है’. बीते दिनों यूथ कांग्रेस ने भी दिल्ली में मौजूद ट्विटर के दफ्तर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया था.

इस पूरे मसले पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कांग्रेस और कांग्रेस नेताओं के ट्विटर लॉक करने के मामले पर बोले कि, ‘जब बीजेपी नेताओं के ट्विटर अकाउंट ब्लॉक किए जाते थे, तो ट्विटर के प्रवक्ता कौन थे, यही कांग्रेस के बड़े-बड़े नेता प्रवक्ता बनकर के ट्विटर के सामने आ जाते थे, अब उनको क्या हो गया है’. नकवी ने कहा है कि, ‘यह महान करप्शन के क्रांतिकारी हैं, इन पर हम क्या कहेंगे. ऐसे क्रांतिकारियों के बारे में मैं कुछ कह नहीं सकता. इनके खिलाफ करप्शन पर कार्रवाई होती है, तो क्रांतिकारी बनकर हिंसा और अराजकता करेंगे’.

कांग्रेस, राहुल गांधी और पार्टी के नेताओं के ट्विटर अकाउंट अस्थायी रूप से ‘लॉक’ किया गया है. कांग्रेस पार्टी ने दावा किया कि उसके नेता राहुल गांधी का ट्विटर अकाउंट अस्थायी रूप से ‘निलंबित’ यानी सस्‍पेंड कर दिया गया है. लेकिन, माइक्रोब्लॉगिंग साइट ने इस दावे को खारिज कर दिया. उसने कहा कि ‘यह अकाउंट अभी सेवा में बना हुआ है.’ इससे पहले बुधवार को ट्विटर ने दिल्ली हाईकोर्ट को बताया कि राहुल गांधी के 4 अगस्त को किए ट्वीट ने कंपनी की नीतियों का उल्लंघन किया था. उन्होंने रेप पीड़िता के माता-पिता के साथ अपनी तस्वीर ट्वीट की थी. इसकी वजह से उनके अकाउंट को अस्थायी तौर पर बंद कर दिया गया. अपने विवादास्पद ट्वीट को लेकर राहुल गांधी की पूरे देश में आलोचना हुई थी.

यह भी पढ़ें: ताऊ की जयंती पर मोदी के खिलाफ तीसरे मोर्चे का एलान कर सकते हैं चौटाला, जारी हैं सियासी मुलाकातें

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ कांग्रेस के सोशल मीडिया प्रमुख रोहन गुप्ता ने कहा है कि, ‘पार्टी के एकाउंट के साथ-साथ उसके नेताओं और कार्यकर्ताओं के लगभग 5,000 खातों को ट्विटर ने ब्लॉक कर दिया है. उन्होंने आरोप लगाया है कि, ट्विटर केंद्र सरकार के दबाव में आकर कांग्रेस नेताओं के ख़िलाफ़ क़दम उठा रही है’. रोहन गुप्ता ने कहा, ‘ट्विटर स्पष्ट रूप से सरकार के दबाव में काम कर रहा है क्योंकि उसने राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के एकाउंटों पर कुछ दिन पहले शेयर की गई उन्हीं तस्वीरों को नहीं हटाया.’

Leave a Reply