प्रदेश में पास जारी करने की सुविधा अब ओर हुई सुविधाजनक, 106 नए मरीज आए सामने तो 2 की हुई मौत

दूसरे राज्यों में स्वयं के वाहनों से जाने वाले लोगों को जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, उपखण्ड अधिकारी, पुलिस उप अधीक्षक, तहसीलदार, आरटीओ, डीटीओ, एसएचओ पास जारी कर सकेंगे

0
Img 20200502 1343261125689713586355156(1)
Img 20200502 1343261125689713586355156(1)

पॉलिटॉक्स न्यूज़/राजस्थान. रविवार को प्रदेश में 106 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए. प्रदेश में सबसे ज्यादा 30 नए कोरोना पॉजिटिव उदयपुर में सामने आए. पिछले कुछ दिनों से उदयपुर में भी कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. अकेले उदयपुर में अब कोरोना संक्रमित कुल मरीजों की संख्या 133 हो गई है. इसके साथ ही बीते दिन जयपुर और बांसवाड़ा में एक—एक कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो गई.

प्रदेश में बढ रहे कोरोना संक्रमण के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लॉकडाउन के दौरान लोगों पास जारी करने की व्यवस्था को ओर अधिक सुविधाजनक बनाने के लिए नए दिशा-निर्देश दिए हैं. अब जिले के अंदर अनुमत गतिविधियों के आवागमन के लिए किसी पास की आवश्यकता नहीं होगी. सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक यह छूट प्राप्त रहेगी. प्रदेश भर में कोरोना के हॉट स्पॉट कर्फ्यू ग्रस्त इलाकों में यह छूट नहीं मिलेगी.

दूसरे राज्यों में स्वयं के वाहनों से जाने वाले लोगों को जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, उपखण्ड अधिकारी, पुलिस उप अधीक्षक, तहसीलदार, आरटीओ, डीटीओ, एसएचओ पास जारी कर सकेंगे. इसके साथ ही, जिला उद्योग अधिकारी, एसई माइनिंग, महाप्रबंधक डीआईसी, रीको के जिला स्तरीय अधिकारी एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारी अपने विभाग से जुड़ी गतिविधियों के लिए पास जारी कर सकेंगे. इन सभी अधिकारियों को जारी किए गए पासों की जानकारी प्रतिदिन जिला कलेक्टर को देनी होगी.

इसके साथ ही दूसरे राज्यों में बस एवं ट्रेन से यात्रा के लिए जिला कलेक्टर पास जारी कर सकेंगे. कर्फ्यू ग्रस्त इलाकों के लिए केवल जिला कलेक्टर ही पास जारी कर सकेंगे. राज्य में अन्य प्रदेशों से आने वालों लोगों के लिए संबंधित राज्य द्वारा जारी पास मान्य होगा. यदि वह राज्य राजस्थान की एनओसी मांगता है, तो संबंधित जिला कलेक्टर एनओसी जारी कर सकेंगे. दूसरे राज्यों से राजस्थान आने वाले लोगों के लिए 14 दिन का क्वारेंटीन अनिवार्य होगा.

प्रदेश में रविवार को उदयपुर में 30 नए पॉजिटिव मामले सामने आए. इसके अलावा जयपुर में 23, कोटा में 17, जोधपुर में 11, अजमेर में 9, नागौर में 3, पाली में 2, बांरा में 2, टोंक में 4, बीकानेर में 1, डूंगरपुर में 1, जालौर में 1, राजसमंद में 1, सिरोही में 1 नया कोरोना पॉजिटिव केस सामने आया है.

यह भी पढ़े: सांसदों-विधायकों के साथ गहलोत ने किया सबसे लंबा ऑनलाइन संवाद, विधानसभा सत्र जैसा दिखा नजारा

बता दें, प्रदेश के 31 जिलों में अब कोरोना का संक्रमण फैल चुका है. प्रदेश में रविवार देर रात तक जयपुर में 1219, जोधपुर-873, कोटा-250, अजमेर-220, टोंक-140, चित्तौढगढ-136, उदयपुर-133, नागौर-122, भरतपुर-116, बांसवाडा-66, पाली-62, झालावाड-47, भीलवाडा-43, झुंझुनू-42, बीकानेर-39, जैसलमेर-35, दौसा-22, धौलपुर-21, अलवर-20, चुरू-17, राजसमंद-16, हनुमानगढ-11, सवाई माधोपुर और डूंगरपुर में 10-10, सीकर-9, जालोर-8, करौली-5, प्रतापगढ, सिरोही और बाडमेर 4-4, बांरा-3 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आ चुके है. रविवार देर रात तक कोरोना संक्रमण के चलते जयपुर और बांसवाडा में 1-1 कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो गई. इस तरह प्रदेश में अब कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 108 पहुंच गया है.

इसके साथ ही जोधपुर में दिल्ली से लौटे बीएसएफ के 42 जवानों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इससे पहले जोधपुर और जैसलमेर में ईरान से रेस्क्यू कर लाये गये भारतीयों में से 61 पॉजिटिव केस सामने आये थे, जयपुर में कोरोना के शुरूआती दौर में पॉजिटिव आए इटली के 2 मरीज, इन सभी की रिपोर्ट अब पॉजिटिव से नेगेटिव हो चुकी है ओर इन सभी को डिस्चार्ज किया जा चुका है. इन सभी को मिलाकर अब तक प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 3814 वहीं प्रदेश में 2 ओर संक्रमित मरीजों की मौत हो जाने से अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या बढकर 108 हो चुकी है. प्रदेश में अब तक सामने आए 3814 कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से 2241 मरीज पॉजिटिव से नेगेटिव हो चुके है जिनमें से 1993 को डिस्चार्ज किया जा चुका है.

Leave a Reply