जवाहर लाल नेहरू और राजीव गांधी पर तंज कसना संबित पात्रा को पड़ा भारी, FIR हुई दर्ज

पूर्व प्रधानमंत्रियों के पोस्टर पोस्ट कर फंसे बीजेपी प्रवक्ता, मानहानि का मुकदमा हुआ दर्ज, आपराधिक मामला दर्ज कराने की तैयारी में कांग्रेस, मुश्किल में फंसे बीजेपी नेता

0
संबित पात्रा Sambit Patra
संबित पात्रा Sambit Patra

पॉलिटॉक्स न्यूज/एमपी. बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा अपनी वाकपटुता और जुबानी हमलों की वजह से खासे चर्चा में रहते हैं. टॉक शो और चर्चाओं में उनके शब्दभेदी बाण विपक्ष पर बिलकुल सटीक बैठते हैं लेकिन इस बार मध्य प्रदेश कांग्रेस के एक ट्वीट पर तंज कसना संबित पात्रा को खासा भारी पड़ गया. यहां तक की कांग्रेस नेताओं ने पात्रा के खिलाफ एफआईआर तक दर्ज करा दी है.

दरअसल हुआ कुछ ऐसा कि एमपी कांग्रेस ने अपने अधिकारिक टवीटर हैंडल पर एक पोस्ट करते हुए लिखा कि यदि इस समय कोरोना संकट में कांग्रेस की सरकार होती तो हम टेस्ट उपचार व्यवस्था राहत मदद और तकनीकी में सबसे आगे होते.

प्रदेश कांग्रेस के इस टवीट पर तंज कसते हुए और अपना रिएक्शन देते हुए बीजेपी नेता संबित पात्रा ने कांग्रेस के समय को रोना संकट के होने पर घोटाले होने का अंदेशा जताते हुए नया बवाल खड़ा कर दिया.

संबित पात्रा ने टवीट में लिखा, ‘यदि कोरोना संकटकाल में कांग्रेस की सरकार होती तो 5000 करोड़ का मास्क घोटाला, 7000 करोड़ का कोरोना टेस्ट किट घोटाला, 20 हजार करोड़ का जवाहर सैनिटाइजर घोटाला और 26 हजार करोड़ का राजीव गांधी वायरस रिसर्च घोटाला हो जाता’. पात्रा ने अपने टवीट के साथ पोस्टर भी जारी किए जिसमें देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के फोटो लगे हुए थे.

बस फिर क्या था, इस पूरे मामले को लेकर भोपाल से लेकर दिल्ली तक कांग्रेस भड़क उठी है. दिल्ली में यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने संबित पात्रा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. दिल्ली पुलिस में दर्ज कराई गई FIR में पूर्व प्रधानमंत्रियों पर इस तरीके का हवाला देते हुए आर्थिक और सामाजिक मानहानि का आरोप लगाया गया है. कांग्रेस यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास का कहना है कि सीधे तौर पर कांग्रेस और पूर्व प्रधानमंत्रियो का अपमान है जिस पर एफआईआर बनती है.

यह भी पढ़ें: भारत ने गिलगिट व बाल्टिस्तान के मौसम का हाल क्या सुनाया, जनाब इमरान खान की उड़ी नींद!

मध्यप्रदेश कांग्रेस पात्रा के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कराने की कवायद में भी जुट गई है. इधर, कांग्रेस के नेता पीसी शर्मा ने संबित के टवीट को सीधे तौर पर देश के पूर्व प्रधानमंत्रियों का अपमान है और इस पूरे मामले में एफआईआर दर्ज कराई जाएगी.

बहरहाल, कोरोना संकट और लॉकडाउन के चलते प्रदेश की सड़कें और राजनीति का मैदान तो खाली है लेकिन सियासत अभी भी गर्म है. संकट काल में व्यवस्थाओं को लेकर कांग्रेस और बीजेपी अब आमने-सामने हैं. फिलहाल लॉकडाउन होने के कारण सड़कों पर नहीं उतर पा रहे नेता सोशल मीडिया के जरिए एक दूसरे पर हमला करते हुए नजर आ रहे हैं. लेकिन इस पलटवार के दौर में बीजेपी के नेता संबित पात्रा की मुसीबतें इस बार्बीबढ़ती दिख रही हैं.

Leave a Reply