00c248b0 3f58 490c a4f7 edaa3cef7c85
00c248b0 3f58 490c a4f7 edaa3cef7c85

मणिपुर में जानलेवा हिंसा की घटना के बीच दो आदिवासी महिलाओं को नग्न कर गैंगरेप के मामले में देशभर का सियासी पार चढ़ा हुआ है. एक तरफ कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दल मोदी सरकार पर अंगुली उठा रहे हैं, वहीं बीजेपी अन्य राज्यों की शासन व्यवस्था की दुआई देते हुए अपना बचाव कर रही है. इस बीच कांग्रेस ने महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी का रिपोर्ट कार्ड सोशल मीडिया पर डालते हुए कहा कि स्मृति ईरानी अब जागी है. इस पर स्मृति ने कांग्रेस को भ्रष्टाचार के मामले में घेरा जिसका जवाब देते हुए तृणमूल कांग्रेस की लोकसभा सांसद महुआ मोइत्रा ने पलटवार करते हुए पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए केंद्रीय मंत्री को एक शब्दकोष खरीदने की नसीयत दे दी.

सबसे पहले कांग्रेस पार्टी ने अपने हैंडल से मणिपुर मामले में स्मृति ईरानी को घेरा. कांग्रेस ने ट्वीट कर स्मृति ईरानी के काम का रिपोर्ट कार्ड साझा किया और उन्हें फेल मंत्री बताया. कांग्रेस ने हमला बोलते हुए लिखा कि महिला एवं बाल विकास मंत्री को मणिपुर में महिलाओं की दुर्दशा के बारे में कोई जानकारी नहीं थी और वह दो महीने बाद जागीं.

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस के ट्वीट का जवाब दिया है. मंत्री ने कांग्रेस के रिपोर्ट कार्ड पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि दूसरी ओर कांग्रेस है, जिसने दो मोर्चों पर अच्छा स्कोर किया है- भ्रष्टता और अज्ञानता.

Patanjali ads

स्मृति ईरानी ने ट्वीट किया, ‘भ्रष्टता की गहराई में बहुत कम लोग सक्षम हैं. जानबूझकर अज्ञानता के ऐसे उदाहरण हैं जिन्हें बहुत कम लोग प्रदर्शित करते हैं. दोनों मामलों में कांग्रेस ने अच्छा स्कोर किया है. यदि वंशवाद की राजनीति अनुमति देती है, तो संसद में चर्चा करें.’

यह भी पढ़ें: राजस्थान तक पहुंची ‘मणिपुर हिंसा’ की तपिश! घर वहां जल रहे, यहां उठ रहा धुआं

स्मृति के बाद तृणमूल कांग्रेस की लोकसभा सांसद महुआ मोइत्रा ने पलटवार करते हुए मंत्री से ‘भ्रष्टता’ का अर्थ जानने के लिए एक शब्दकोष खरीदने को कहा.

महुआ ने लिखा, ‘क्षमा करें डब्ल्यूसीडी मंत्री जी, भ्रष्टता वो नहीं है, भ्रष्टता वो है जब भाजपा अन्य राज्यों में फर्जी खबरों के जरिए मणिपुर मुद्दे को भटका रही है. जब पीएम, गृह मंत्री और डब्ल्यूसीडी हमारी बहनों के मरने पर चुप्पी साध लेते हैं. भ्रष्टता तब है जब आपकी कुर्सी हमारे पहलवानों की रक्षा नहीं कर सकती. अगर मौनगुरु अनुमति दें, शब्दकोश खरीदें.’

गौरतलब है कि मणिपुर में पिछले ढाई महीनों से दो समुदायों के बीच खूनी हिंसा का दौर चल रहा है. बीते दिनों दो महिलाओं को नग्न कर घुमाने का वीडियो वायरल हुआ था जिसके बाद सियासी उभान में उंची उंची लहरें उठ रही हैं. एक महिला से गैंगरेप की पुष्टि हुई है. मामले में शीर्ष कोर्ट ने केंद्र एवं प्रदेश सरकार को हालातों को जल्द से जल्द नियंत्रण में करने की बात कही है.

Leave a Reply