‘दो तुगलकों ने देश की मुद्रा को ऐसा बेकार किया कि देश आज तक भुगत रहा है’

सोशल मीडिया पर आज की हलचल

0
#DeMonetisationDisaster
#DeMonetisationDisaster

आज का सोशल मीडिया पर सबसे वायरल टॉपिक है नोटबंदी. दरअसल आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पुराने 500 और एक हजार रुपये के नोट को बंद किए तीन साल पूरे हो गए. 8 नवंबर, 2016 को काले धन को रोकने के लिए मोदी सरकार का ये फैसला सही हो या न हो लेकिन आज सोशल मीडिया पर ये टॉपिक सुबह से टॉप पर चल रहा है. #DeMonetisationDisaster और #3YrsOfDeMoDisaster हैशटैग से ये मुद्दा काफी वायरल हो रहा है. इस विषय पर राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, मायावती और ममता बनर्जी के अलावा लोकल यूजर्स ने भी जमकर ट्वीट किए.

कांग्रेस के वायनाड सांसद राहुल गांधी ने कुछ समाचार पत्रों की कटिंग पोस्ट करते हुए इस दिन को काला दिवस बताया. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि इस शातिर हमले के पीछे उन लोगों को न्याय के लिए लाया जाना बाकी है.

वहीं ममता बनर्जी ने कहा कि आर्थिक तबाही उस दिन शुरू हुई और देखो अब कहां तक आ पहुंची है. अर्थव्यवस्था पूरी मंदी में आ गयी है. किसानों से लेकर युवा पीढ़ी और मजदूरों से लेकर व्यापारियों, गृहिणियों तक हर कोई प्रभावित है.

वहीं कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आज का तुगलक बताते हुए कहा कि तीन साल बीत गए लेकिन आज भी देश अर्थव्यवस्था, रोजगार, आतंकवाद आदि को भुगत रहा है.

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट पोस्ट करते हुए कहा कि सरकार और इसके नीमहक़ीमों द्वारा किए गए ‘नोटबंदी सारी बीमारियों का शर्तिया इलाज’ के सारे दावे एक-एक करके धराशायी हो गए. इस ‘तुग़लकी’ कदम की जिम्मेदारी अब कौन लेगा?

बसपा सुप्रीमो मायावती भी इस लिस्ट में पीछे नहीं रहीं. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘देश में बढ़ती बेरोजगारी व बिगडत़ी आर्थिक स्थिति इसी का मुख्य कारण है जि सपर जनता की पैनी नजर है.

एक सोशल मीडिया यूजर ने पीएम मोदी को नोटबंदी के फैसले पर ‘नायक’ फिल्म का अमरीश पुरी बताया.

वहीं एक यूजर ने मोदी को भारतीय अर्थव्यवस्था पर क्लिक बोल्ड होने का फोटो शेयर किया.

एक अन्य यूजर ने तीन साल पहले के आम जन के परेशान होते फोटो का एक वीडियो शेयर किया है.

Leave a Reply