raman singh biography in hindi
raman singh biography in hindi

Raman Singh Latest News – रमन सिंह भारतीय जनता पार्टी के एक वरिष्ठ नेता हैं और छत्तीसगढ़ राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री हैं. श्री सिंह मुख्यमंत्री बनने से पहले भी अटल बिहारी सरकार में 1999  से लेकर 2003  तक केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री रह चुके हैं. वह अबिभाजित मध्यप्रदेश में भी 1990 और 1993 में कवर्धा विधानसभा क्षेत्र से लगातार चुने जा चुके है. वे 1999 में तात्कालिक मध्यप्रदेश राज्य के अंतर्गत आने वाले राजनांदगांव लोकसभा से 13वीं लोकसभा के लिए चुने जा चुके है. रमन सिंह लगातार तीन बार 2008, 2013 और 2018 राजनांगांव सीट से जीत चुके है. 2000 में मध्यप्रदेश के विभाजन के बाद रमन सिंह नवनिर्मित राज्य छत्तीसगढ़ की राजनीति में सक्रिय हो गए. छत्तीसगढ़ राज्य के गठन के बाद रमन सिंह को भारतीय जनता पार्टी का राज्य का अध्यक्ष बना दिया और फिर 2003 में छत्तीसगढ़ के वह मुख्यमंत्री बन गए और फिर 2018 तक लगातार 3 बार राज्य के मुख्यमंत्री बने रहे. वर्त्तमान में छत्तीसगढ़ में कांग्रेस का शासन है.

रमन सिंह छत्तीसगढ़ राज्य के सबसे अधिक समय तक मुख्यमंत्री रह चुके है और राज्य के प्रमुख नेता है. वर्तमान में रमन सिंह छत्तीसगढ़ राज्य के राजनांगांव विधानसभा के सदस्य है और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं.

इस लेख में हम आपको छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह की जीवनी (Raman Singh Biography in Hindi) के बारें में जानकारी देने वाले है.

रमन सिंह की जीवनी (Raman Singh Biography in Hindi)

नाम रमन सिंह
उम्र 70 साल
जन्म तारीख 15 अक्टूबर 1952
जन्म स्थान कवर्धा, छत्तीसगढ़, भारत
शिक्षा बैचलर ऑफ़ आयुर्वेद मेडिसिन एंड सर्जरी)
कॉलेज आयुर्वेदिक विश्वविद्यालय, रायपुर
वर्तमान पद भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष
व्यवसाय राजनेता
राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी
वैवाहिक स्थिति विवाहित
पिता का नाम विघ्नहरण सिंह
माता का नाम सुधा सिंह
पत्नी का नाम वीणा सिंह
बच्चे एक बेटा और एक बेटी
बेटे का नाम अभिषेक सिंह
बेटी का नाम अस्मिता सिंह
स्थायी पता ग्राम.मकान नं.-05, ​​विंध्यवासिनी वार्ड, रायपुर नंदगाँव मार्ग, कवर्धा, जिला-कबीरधाम, छत्तीसगढ़,
वर्तमान का पता सिविल लाइंस, रायपुर
संपर्क नंबर 0771-2443399
ईमेल आईडी

रमन सिंह का जन्म और परिवार (Raman Singh Birth & Family)

रमन सिंह का जन्म 15 अक्टूबर, 1952 को मध्यप्रदेश (अब छत्तीसगढ़) के कवर्धा (अब कबीरधाम) जिले के ठाठापुर (अब रामपुर) के किसान परिवार में हुआ था. रमन सिंह के पिता का नाम विघ्नहरण सिंह और माता का नाम सुधा सिंह था. रमन सिंह के पिता पेशे से एक वकील व किसान थे. रमन सिंह के माता और पिता दोनों अब इस दुनिया में नहीं रहे है.

Patanjali ads

रमन सिंह की पत्नी का नाम वीणा सिंह है. रमन सिंह का एक बेटा और एक बेटी है. रमन सिंह के बेटे का नाम अभिषेक सिंह हैं और बेटी का नाम अस्मिता सिंह हैं. उनका बेटा अभिषेक सिंह पेशे से इंजीनियर है, जबकि बाद में वह राजनीति में शामिल हो गए और वह राजनांदगांव से सांसद भी रह चुके है. रमन सिंह की बेटी अस्मिता सिंह एक डेंटल सर्जन है. रमन सिंह हिन्दू धर्म से है. वह जाति से राजपूत है.

रमन सिंह की शिक्षा (Raman Singh Education)

रमन सिंह ने हाई स्कूल की शिक्षा 1969 में कर्वधा हाई स्कूल से पूरी की. स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद वे 1972 में सरकारी विज्ञान कॉलेज, बेमेतरा से स्नातक और फिर बाद में 1975 में आयुर्वेदिक विश्वविद्यालय, रायपुर से बी ए एम एस की डिग्री ली.

रमन सिंह का शुरूआती जीवन (Raman Singh Early Life)

रमन सिंह का प्रारंभिक जीवन गांव देहात वाले माहौल में गुजरा, क्योकि उनके पिता एक किसान के साथ साथ स्थानीय कोर्ट में वकील भी थे. बाद में वे पढ़ाई के दौरान ही युवा राजनीति में प्रवेश में प्रवेश कर गए लेकिन सक्रिय राजनीति में उनका आना पढाई पूरी करने के बाद ही हुआ.

रमन सिंह का राजनीतिक करियर (Raman Singh Political Career)

रमन सिंह की राजनीतिक यात्रा की शुरुआत छात्र राजनीति से हुई थी, वे भारतीय जनसंघ में शामिल हो गए थे. रमन सिंह 1976-77 में कवर्धा में भारतीय जनसंघ के युवा विंग के अध्यक्ष बन गए और फिर 1983 में वह में कवर्धा नगर पालिका के पार्षद बन गए.

पहली बार रमन सिंह 1990 में अभिभाजित मध्यप्रदेश के कवर्धा विधानसभा सीट से जीत करके विधायक चुने गए और इसके बाद वे राज्य की मुख्य राजनीति में सक्रिय हो गए. उसके बाद वे 1993 में भी कवर्धा से दूसरी बार चुने गए मगर वर्ष 1998 में उन्हें कवर्धा विधानसभा सीट से पराजय का सामना करना पड़ा. उसके बाद वे 1993 में अबिभाजित मध्यप्रदेश के राजनांदगांव लोकसभा सीट से जीत दर्ज की और केंद्र की राजनीति में अपनी भूमिका निभाया. उस समय केंद्र में अटल बिहारी की सरकार आ गई थी और रमन सिंह को केंद्र की राजनीति में अच्छा अवसर मिल गया था. वे अटल बिहारी सरकार में राज्य मंत्री बनाये गए. रमन सिंह अक्टूबर, 1999 से लेकर जनवरी, 2003 तक अटल बिहारी सरकार में केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री के पद पर रहे.

उसके बाद वे राज्य की राजनीति में सक्रिय हो गए और 7 दिसंबर, 2003 को वे छत्तीसगढ़ के दूसरे एवं भारतीय जनता पार्टी के पहले मुख्यमंत्री बने. इसके बाद वे पुनः दूसरी बार जीत कर 12 दिसंबर, 2008 को राज्य के दूसरी बार मुख्यमंत्री बने. इसी प्रकार जीत का क्रम जारी रखते हुए वे  2013 में छत्तीसगढ़ के तीसरी बार मुख्यमंत्री बने.

इस प्रकार रमन सिंह वर्ष 2003 से वर्ष 2018 तक लगातार 15 वर्षो तक छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रह चुके है. राज्य के गठन के बाद वे पहले मुख्यमंत्री है, जिन्होंने इतने लम्बे समय तक राज्य का शासन व्यवस्था संभाला हो.

2018 में छत्तीसगढ़ में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की प्रचंड जीत हुई और कांग्रेस के हाथो हार के बाद उन्हें मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र देना पड़ा, लेकिन इसके बाद भी इस समय वे भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता के रूप में लोकप्रिय है और राज्य की राजनीति में पार्टी का एक बड़ा चेहरा के रूप में जाने जाते है.

रमन सिंह की उपलब्धियां (Raman Singh Political Achievements)

  • 1977 – भारतीय जनसंघ में शामिल हो गए एवं कवर्धा में युवा विंग के अध्यक्ष बन गए
  • 1990 – पहली बार मध्यप्रदेश के कवर्धा विधानसभा सीट से जीत कर विधायक चुने गए.
  • 1993 – दूसरी बार मध्यप्रदेश के कवर्धा विधानसभा सीट से जीत कर विधायक चुने गए.
  • 1998 – कवर्धा विधानसभा सीट से पराजय
  • 1999 – अबिभाजित मध्यप्रदेश के राजनांदगांव लोकसभा सीट से जीत दर्ज की
  • 2000 – छत्तीसगढ़ राज्य का गठन
  • 2003 – छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री बने
  • 2008 – छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री बने
  • 2013 – छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री बने
  • 2003-18 – छत्तीसगढ़ राज्य के मुख्यमंत्री रहें
  • 2004 – छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रहते राज्य के डोंगरगांव विधानसभा सीट से जीत कर विधायक बने
  • 2008 – छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रहते राज्य के राजनांदगांव विधानसभा सीट से जीत एवं राज्य के दूसरी बार मुख्यमंत्री बने.
  • 2013 – छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रहते राज्य के राजनांदगांव विधानसभा सीट से जीत एवं राज्य के तीसरी बार मुख्यमंत्री बने.
  • 1018 – छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रहते राज्य के राजनांदगांव विधानसभा सीट से जीत लेकिन पार्टी की हार के बाद राज्य के मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र.
  • 2018 – भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त किये गए.

रमन सिंह की संपत्ति (Raman Singh Net Worth)

  • खेती वाली जमीन – 2,07,00,000 करोड़ रूपये
  • गैर-खेती वाली जमीन – Nil
  • कमर्शियल बिल्डिंग – Nil
  • आवासीय भवन – 4,34,00,000 करोड़ रूपये
  • कैश – 2,76,250 लाख रूपये
  • बैंक डिपॉजिट एवं अन्य जमा – 1,54,80,469 करोड़ रूपये
  • बांड्स एवं शेयर – 1,29,040 लाख रूपये
  • वाहन – Nil
  • ज्वेलरी – 1,43,57,000 करोड़ रूपये
  • अन्य सम्पत्ति – 2,50,192 लाख रूपये
  • कुल संपत्ति – 10,72,34,236 करोड़ रूपये

Note – संपत्ति की जानकारी उनके द्वारा विधानसभा चुनाव के समय दी गई है.

इस लेख में हमने आपको छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह की जीवनी (Raman Singh Biography in Hindi) के बारे में जानकारी दी है. अगर आपका कोई सुझाव है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं.

Leave a Reply