योगी सरकार-यूपी भाजपा संगठन के लिए अगले 10 दिन रहेंगे काफी गहमागहमी-बदलाव वाले, जानिए क्यों?

योगी मंत्रिमंडल विस्तार-फेरबदल अगले 10 दिनों में कभी भी, भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक अगले कुछ दिनों में कभी भी, प्रधानमंत्री मोदी का 15 जुलाई को प्रस्तावित वाराणसी दौरा लगभग तय, मंत्रिमंडल विस्तार में 4 से 6 नए मंत्री तो सहयोगी दलों की भी किया जाएगा संतुष्ट

0
योगी सरकार-यूपी भाजपा संगठन के लिए अगले 10 दिन रहेंगे काफी गहमागहमी
योगी सरकार-यूपी भाजपा संगठन के लिए अगले 10 दिन रहेंगे काफी गहमागहमी
Advertisement2

Politalks.News/UttarPradesh. मोदी मंत्रिमंडल विस्तार के बाद अब कभी भी योगी मंत्रिमंडल विस्तार-फेरबदल होना तय माना जा रहा है. इसी बीच बीती शुक्रवार रात यूपी प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह और प्रदेशाध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ हुई लम्बी मंत्रणा के बाद माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार और प्रदेश भाजपा संगठन के लिए अगले 10 दिन काफी गहमागहमी भरे होने वाले हैं. क्योंकि एक तरफ भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 15 जुलाई को प्रस्तावित वाराणसी दौरा कार्यक्रम करीब तय माना जा रहा है. वहीं प्रदेश मंत्रिमंडल के विस्तार की तैयारियां भी जोरशोर से चल रही हैं. माना जा रहा है कि योगी मंत्रिमंडल विस्तार के लिए अब सिर्फ केंद्रीय नेतृत्व के आदेश का इंतजार है.

आपको बता दें, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह तथा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने शुक्रवार की शाम को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कालिदास मार्ग स्थित उनके सरकारी आवास पर लम्बी मुलाकात की है. इस मुलाकात के दौरान भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की तिथि तय करने के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 15 जुलाई को प्रस्तावित वाराणसी कार्यक्रम की तैयारियों पर चर्चा की गई. इसके साथ ही माना जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में होने वाले योगी मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर भी तीनों दिग्गजों के बीच गहन मंत्रणा हुई है.

यह भी पढ़ें: संघ की चित्रकूट बैठक में शुरू हुआ सियासी मंथन, भागवत के बयान व योगी के कामकाज पर उठे सवाल

गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में विस्तार के बाद अब यूपी में योगी मंत्रिमंडल के विस्तार की भी कवायद तेज हो गई है. सूत्रों की मानें तो योगी मंत्रिमंडल विस्तार में चार से छह नए चेहरे शामिल किए जा सकते हैं. वहीं, चार एमएलसी भी मनोनीत होने की खबर भी आ रही है. वहीं अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए सहयोगी दलों का भी समायोजन भी इस योगी मंत्रिमंडल विस्तार में देखने को मिल सकता है.

यह भी पढ़ें- राज्यसभा में दिखेगी ‘दादा’गिरी, पीएम मोदी की ‘न्यू टीम’ के सामने ममता दीदी का ‘बंगाल टाइगर’!

जानकारों की मानें तो अपना दल की अनुप्रिया पटेल को चूंकि केंद्र में कैबिनेट मंत्री का दर्जा नहीं मिला है, इसलिए उनकी पार्टी के कोटे से यूपी में एक मंत्री बनाया जा सकता है. वहीं निषाद पार्टी के संजय निषाद को भी भागीदारी देकर उनका ‘असंतोष‘ खत्म किया जा सकता है. इसके साथ ही वेस्ट यूपी व रुहेलखंड से भी कुछ चेहरे जोड़े जाएंगे. आपको बता दें, केंद्र में भागीदारी न मिलने से नाराज निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद का कहना है कि निषादों को कोई भागीदारी नहीं दी गई है, क्या बीजेपी निषादों के साथ नहीं है? बड़े-बड़े वादे किए गए, यही हाल रहा तो हम अलग राह देखेंगे.

यह भी पढ़ें- मोदी 2.0 सरकार के नए मंत्रिमंडल में 42% मंत्रियों पर आपराधिक मामले हैं दर्ज तो 90% मंत्री हैं करोड़पति

वहीं दूसरी तएफ उत्तरप्रदेश कार्यसमिति की बैठक के लिए नेताओं ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से बात कर तिथि तय करने की गुजारिश की है. बताया जाता है कि आज भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक की तिथि तय कर दी जाएगी. 13, 14 जुलाई तथा 16 जुलाई में से ही कोई संभावित तिथि होगी. जिस दिन राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा समय देंगे उसी दिन बैठक होगी. बता दें, विधानसभा चुनाव के नजरिए से कार्यसमिति की इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है. प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के बाद राज्य में मंत्रिमंडल विस्तार का फैसला भी जल्द हो जाएगा. सूत्र बताते हैं कि भाजपा केंद्रीय नेतृत्व जैसे ही आदेश देगा मंत्रिमंडल विस्तार कर दिया जाएगा.

Leave a Reply