मेघवाल पर सोलंकीवार- खुद का पता नहीं अगला चुनाव किस पार्टी से लड़ेंगे और मुझसे मांग रहे हैं सफाई

मुझे हनी ट्रैप में फसाने की कोशिश की जा रही है, मेरे खिलाफ लम्बे समय से षड्यंत्र चल रहे हैं लेकिन मैं न पहले दबा था और ना ही आगे दबूंगा, मेरे खिलाफ बोलने वाले खुद भाजपा की बाड़ेबंदी में थे शामिल- वेदप्रकाश सोलंकी

0
गोविंद मेघवाल v/s वेदप्रकाश सोलंकी
गोविंद मेघवाल v/s वेदप्रकाश सोलंकी
Advertisement2

Politalks.News/Jaipur. जयपुर जिला प्रमुख चुनाव में उठा आरोप-प्रत्यारोप का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है. जिला प्रमुख चुनाव में क्रॉस वोटिंग को लेकर संभाग प्रभारी गोविंद मेघवाल ने आलाकमान को रिपोर्ट भेज दी है. आलाकमान को भेजी गई रिपोर्ट में पायलट कैंप के चाकसू विधायक वेदप्रकाश सोलंकी को कसूरवार ठहराया गया है. हालांकि वेदप्रकाश ने भी अपने बचाव में कई ऑडियो-वीडियो के साथ एक रिपोर्ट प्रभारी अजय माकन सहित आलाकमान को मेल कर दी है. इसी बीच अपने बचाव में मंगलवार को की गई एक पत्रकार वार्ता के दौरान वेद प्रकाश सोलंकी ने ऐसा बयान दिया जिसकी गूंज बहुत दूर तक जाने की संभावना है. सोलंकी ने कहा कि मुझे हनी ट्रैप में फसाने की कोशिश की जा रही है. सोलंकी यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि मेरे खिलाफ लम्बे समय से षड्यंत्र चल रहे हैं लेकिन मैं न पहले दबा था और ना ही आगे दबूंगा. वहीं पायलट गुट के विधायक सोलंकी के इस बयान ने बीजेपी ने गहलोत सरकार को घेरने का एक और मौका दे दिया है.

आपको याद दिला दें, हाल ही में हुए जयपुर जिला प्रमुख चुनाव में जीत के सपने संजोये बैठी कांग्रेस को क्रॉस वोटिंग के चलते हार का मुहं देखना पड़ा. क्रॉस वोटिंग के लिए कांग्रेस नेता एवं संभाग प्रभारी गोविंद मेघवाल ने वेद प्रकाश सोलंकी पर गंभीर आरोप लगाए थे. इसके साथ ही मेघवाल ने आलाकमान को भेजी गई रिपोर्ट में क्रॉस वोटिंग के लिए सोलंकी को जिम्मेदार ठहराया है. इस पुरे मामले में अपनी ओर से सफाई देने के लिए मंगलवार को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में चाकसू विधायक वेद प्रकाश सोलंकी ने एक नया सगुफ़ा छोड़ते हुए कहा कि मेरे खिलाफ काफी लम्बे समय हनी ट्रैप की साजिश रची जा रही है.

यह भी पढ़े: जब ‘शांति’ ने दिखाई ‘बाजीगरी’, मोदी सरकार के निर्देशों के हवाले पर भाजपा को करना पड़ा समर्थन
मेरे खिलाफ की जा रही है हनी ट्रैप की साजिश- सोलंकी
विधायक वेद प्रकाश सोलंकी ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि मुझे हनी ट्रैप में फंसाने की कोशिश की जा रही है. मेरे मोबाइल पर अश्लील वीडियो कॉल के मैसेज भी आते हैं. इस पुरे मामले पर मैंने 2 माह पहले बजाज नगर थाने में परिवाद दर्ज कराया था, जिस पर आज तक कोई भी कार्रवाई नहीं हुई है. सोलंकी ने बताया कि उन्होंने इस मामले में एसपी और कमिश्नर से भी बात की है लेकिन अब तक कार्रवाई नहीं हुई. उनके खिलाफ की जा रही इस तरह की साजिश के पीछे कौन लोग हैं इस बारे में सवाल पूछे जाने पर सोलंकी ने कहा कि मुझे फंसाने के पीछे कौन कौन लोग शामिल है मुझे नहीं पता. लेकिन मैं उन सब को ये संदेश देना चाहता हूँ कि ना तो मैं पहले दबा हूँ, और ना ही आगे दबूंगा.
मेघवाल का खुद का पता नहीं अगला चुनाव कौनसी पार्टी से लड़ेंगे- सोलंकी
वहीं गोविंद मेघवाल पर निशाना साधते हुए सोलंकी ने कहा कि गोविंद मेघवाल तो खुद बीएसपी, भाजपा सहित सभी पार्टियों में घूमकर आए हैं और आज वो मुझसे सर्टिफिकेट मांग रहे हैं. मैं तो यह भी कहता हूँ कि मेघवाल जी को खुद को नहीं पता कि वो अगला चुनाव कौन सी पार्टी से लड़ेंगे. सोलंकी ने आगे कहा कि आलाकमान को रिपोर्ट भेजने से पहले ना तो मेरा पक्ष जानने की कोशिश की गई और ना ही नेताओं से बात की गई बस आनन फानन में रिपोर्ट भेज दी. अरे मैं भी भरतपुर का इंचार्ज रहा हूं, मैंने जो जाहिदा जी की शिकायत की थी उसपर कोई कार्रवाई नहीं हुई. लेकिन मेरी रिपोर्ट 24 घंटे में बनाकर भेज दी. मैं यह पूछना चाहता हूँ कि प्रभारी और पर्यवेक्षक पर ऐसा किसका दबाव था की उन्होंने इतनी जल्दबाजी की.

यह भी पढ़े: महंगी बिजली पर विपक्ष ने जमकर घेरा गहलोत सरकार को तो वहीं सदन में भी गुंजा ‘नाथी का बड़ा’
मेरे खिलाफ बोलने वाले खुद भाजपा की बाड़ेबंदी में थे शामिल- सोलंकी
वेदप्रकाश सोलंकी ने आगे कहा कि गोविंद मेघवाल ने मेरे राजनीतिक विरोधियों से मेरे खिलाफ बयान दिलवाये और मुझ पर अनगिनत आरोप लगाए. सोलंकी ने कहा कि इस पुरे मामले में मैंने गोविंद मेघवाल को फोन कर के कहा था कि ब्लॉक अध्यक्ष दो कैंडिडेट लेकर भाग गया है. सोलंकी ने कहा कि मैं खुद 2 अगस्त से लगातार बाड़ाबंदी की बात कह रहा हूँ. बाड़ाबंदी को लेकर मैंने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा को कहा था. मेरे फोन करने के बाद डोटासरा ने मेघवाल को फोन कर बाड़ेबंदी के लिए कहा लेकिन मेघवाल आनाकानी करते रहे. आज जो लोग मेरे ऊपर आरोप लगा रहे हैं वो खुद भाजपा की बाड़ाबंदी में शामिल थे.
रमा देवी को टिकट देना सामूहिक फैसला- सोलंकी
सोलंकी ने आगे कहा कि मैं अपना पक्ष आलाकमान के सामने रख चूका हूँ. मेने साफ़ कहा है कि जो भी लोग कांग्रेस में रहकर भाजपा के लिए काम कर रहे हैं, भाजपा से मिले हुए हैं उन पर सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. लेकिन संभाग प्रभारी ने मेरे खिलाफ रिपोर्ट तैयार कर आनन फानन में आलाकमान को भेजी है उसे प्रदेश की जनता देख रही है. वहीं रमा देवी का जिक्र करते हुए सोलंकी ने कहा कि रमा देवी को टिकट देने के लिए विधायक बाबूलाल नागर की भी मर्जी थी और यह एक सामूहिक फैसला था तो फिर नागर को भी इस पुरे मामले में दोषी मानना चाहिए.

Leave a Reply