वीर सावरकर की हिंदू विचारधारा का समर्थन नहीं, बैंकिंग सिस्टम में गलतियां जरूर हुई: मनमोहन सिंह

मुंबई में एक कार्यक्रम में पूर्व प्रधानमंत्री डॉ.मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) ने अर्थव्यवस्था पर केंद्र और राज्य सरकार को बताया फेल, NRC का समर्थन करते हुए गिनाई उसकी खामियां, RSS को निशाने पर लिया

1
Manmohan Singh

इन दिनों वीर सावरकर को भारत रत्न दिए जाने की चर्चा जमकर चल रही है. इस मुद्दे को महाराष्ट्र बीजेपी ने अपने चुनावी संकल्प पत्र में भी शामिल किया है. अब देश के पूर्व प्रधानमंत्री और राजस्थान से राज्यसभा सांसद डॉ.मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) ने अपने विचार व्यक्त किए. मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान डॉ.मनमोहन सिंह ने कहा कि कांग्रेस की सरकार पहले ही वीर सावरकर के नाम से पोस्टल स्टाम्प जारी कर चुकी है. साथ ही उन्होंने देश में एनआरसी का समर्थन करते हुए उसकी खामी गिनाई तथा बैंकिंग सिस्टम पर अपनी सरकार की गलती भी स्वीकर की.

बड़ी खबर: राम मंदिर पर संभावित सुप्रीम फैसले के मद्देनजर छावनी बना अयोध्या, चप्पे-चप्पे पर पुलिस

वीर सावरकर को भारत रत्न दिलाए जाने की हवा के बीच डॉ.मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) का ये बयान काफी अहम और चौंकाने वाला है. दरअसल बीजेपी ने महाराष्ट्र वि.स. चुनाव में जब इस मांग को संकल्प पत्र में शामिल किया तो कांग्रेस ने इसका विरोध करने में बिल्कुल देर नहीं लगाई. अब इस मुद्दे पर चुप्पी तोड़ते हुए डॉ.सिंह ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने वीर सावरकर के लिए पोस्टल स्टाम्प (डाक टिकट) जारी किया था. उन्होंने ये भी कहा कि हम हिंदुत्व की उस विचारधारा का समर्थन नहीं करते हैं जिसके पक्षधर वीर सावरकर थे.

पूर्व प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) पर भी अपनी राय रखते हुए कहा कि मैं एनआरसी के खिलाफ नहीं हूं लेकिन एनआरसी पर हमारा कानून मुस्लिमों के साथ भेदभाव करता है. एनआरसी के संदर्भ में मानवता का पक्ष नहीं भूलना चाहिए. वहीं उन्होंने वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के बैंकिंग सिस्टम को लेकर लगाए गए आरोप पर कहा कि कांग्रेस के राज में जो हुआ वो हुआ. कुछ कमजोरियां थी लेकिन मोदी सरकार को हमारी कमजोरियों से सीखकर अर्थव्यवस्था की समस्याओं से निपटना चाहिए.

बड़ी खबर: मुख्यमंत्री गहलोत ने मुम्बई में साधा RSS और मोदी सरकार पर जमकर निशाना

वहीं डॉ.मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) ने RSS को निशाने पर लेते हुए कहा कि देश की आजादी के लिए जो संघर्ष हुआ, उसमें आरएसएस शामिल नहीं था, ऐसे में उन्हें देशभक्ति का प्रमाण पत्र नहीं देना चाहिए. मनमोहन सिंह ने अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर देश की मोदी और राज्य की फडणवीस सरकार को फेल करार दिया.

इसी बयानबाजी के बीच शिवसेना की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने एक ट्वीट किया है. इस ट्वीट में प्रियंका ने एक लेटर पोस्ट किया जो प्रधानमंत्री कार्यालय का है. इस पत्र पर 20 मई, 1980 की तारीख है और बतौर प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के हस्ताक्षर हैं. लेटर में वीर सावरकर की जमकर तारीफ की गई है.

Leave a Reply