चन्नी ने ‘आप’ तो सिद्धू ने घेरा अपनी ही सरकार को- STF की रिपोर्ट नहीं खुली तो बैठूंगा भूख हड़ताल पर

पंजाब कांग्रेस में फिर 'पंगा', सिद्धू ने चन्नी सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, ड्रग्स मामले की STF की रिपोर्ट खोलने की मांग पूरी नहीं करने पर भूख हड़ताल पर बैठने की दी चेतावनी, सिद्धू के मूव से सभी चकित, अपनी सरकार को घेरने के लिए केजरीवाल भी कर चुके हैं सिद्धू की तारीफ

0
सिद्धू का अपनी ही सरकार पर निशाना
सिद्धू का अपनी ही सरकार पर निशाना
Advertisement2

Politalks.News/Punjab. 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Election) में अब कुछ ही समय शेष बचा है. पंजाब (Punjab) की सत्ता पर फिर से अपना परचम लहराने के लिए कांग्रेस (Congress) पुरजोर कोशिश कर रही है. काफी दिनों से पंजाब कांग्रेस में जारी सियासी खींचतान अब ख़त्म होती नजर आ रही है. आगामी चुनाव में कांग्रेस का परचम लहराने के लिए सभी नेता अब एक साथ एक जाजम पर नजर आ रहे हैं. लेकिन अब भी कुछ तो पेंच जरूर फंसा हुआ है. पंजाब के मोगा (Moga) से कांग्रेस ने अपने चुनावी अभियान की शुरुआत कर दी है. गुरुवार को सूबे के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjeet Singh Channi)और कांग्रेस प्रदेश प्रधान नवजोत सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने आप को तगड़ा झटका दिया. मोगा में आयोजित चुनावी रैली में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के वर्तमान विधायक जगतार जग्गा (jagtar Jagga) ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया. इस दौरान एक बार सिद्धू ने अपनी ही आवाज बुलंद की और चन्नी सरकार पर निशाना साधा. आ

पंजाब में रहेगा पंजाबियों का राज- चन्नी
गुरूवार को मोगा में पंजाब कांग्रेस एक मंच पर दिखी. मोगा में आयोजित कार्यक्रम में सीएम चन्नी, नवजोत सिंह सिद्धू एक साथ नजर आये. इस दौरान सभा को संबोधित करते हुए सीएम चन्नी ने अकाली दल और आम आदमी पार्टी पर जमकर निशाना साधा. सीएम चन्नी ने कहा कि, ‘अरविन्द केजरीवाल को पंजाब के बारे में कुछ भी नहीं पता है. एक बाहर का आदमी पंजाब में राज नहीं करेगा. पंजाब में हर हाल में पंजाबियों का ही राज रहेगा.’ सीएम चन्नी ने आगे कहा कि, ‘दिल्ली के सीएम केजरीवाल ड्रामेबाज हैं और उन्हें इसके अलावा कुछ नहीं आता. केजरीवाल यहां आकर एक हजार रूपये महिलाओं को देने की बात करते हैं तो फिर केजरीवाल दिल्ली में एक हजार रुपए महिलाओं को क्यों नहीं देता.’

यह भी पढ़े: जेवर एयरपोर्ट की सौगात दे मोदी बोले- पहले की सरकारों ने दिखाए सपने तो अखिलेश बोले- बेचना है तो…

चन्नी अकाली दल पर निशाना
मोगा पहुंचे मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का विरोध भी हुआ. मोगा में सभा को संबोधित करते हुए सीएम चन्नी ने अकाली दल पर भी जमकर निशाना साधा. सीएम चन्नी ने कहा ‘आज देखो हमारी सरकार ने अकाली नेता बिक्रम मजीठिया को कोर्ट जाने के लिए मजबूर कर दिया है. और अब तो सुखबीर बादल भी हम पर हमारी सरकार पर झूठे आरोप लगा रहे हैं, लेकिन चुनाव में जनता इसका जवाब जरूर देगी.’ वहीं सभा को संबोधित करते हुए पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू ने अपनी ही चन्नी सरकार पर फिर से सवाल उठाये.

STF की रिपोर्ट नहीं खुली तो बैठूंगा मरणव्रत पर- सिद्धू
नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि, ‘सीएम चरणजीत चन्नी ने कहते हैं कि वह पार्टी की हिदायत पर चलते हैंऔर मैं कह रहा हूं कि अगर ड्रग्स की स्पेशल टास्क फोर्स (STF) की रिपोर्ट न खुली तो फिर मैं मरणव्रत (भूख हड़ताल) पर बैठ जाऊंगा.’ सिद्धू ने आगे कहा कि, ‘कोर्ट की हिदायत है कि यह रिपोर्ट खोलो और जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई करो.’ इस दौरान सिद्धू ने कहा कि, ‘पिंड विच आज भी रेत 20 रुपए फुट मिल रहा है. जबकि सरकार ने इसका रेट 5.50 रुपए तय किया है.’

यह भी पढ़े: उपचुनाव की हार और बढ़ती दरार पर चिंतित आलाकमान, 5 दिसंबर को अमित शाह लेंगे सबकी क्लास

केबल टीवी का बिल 100 रूपये करना नहीं है अभी संभव- सिद्धू
वहीं, सीएम चन्नी द्वारा केबल टीवी बिल 100 रूपये करने की बात का भी सिद्धू ने जिक्र किया. सिद्धू ने चन्नी के बयान का बचाव करते हुए कहा कि, ‘यह अभी संभव नहीं क्योंकि TRAI का मिनिमम रेट ही 130 है लेकिन जब प्रदेश दोबारा उनकी सरकार बनेगी तो हम इसे भी संभव कर दिखाएंगे.’ तो केबल से जुड़े मुद्दे पर सिद्धू ने पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह पर भी निशाना साधा. सिद्धू ने कहा कि ‘सुखबीर के करीबी जुझार ने सारे केबल ऑपरेटरों को गुलाम बना दिया. खुद ने करोड़ों कमा लिए लेकिन सरकार के खजाने में कुछ नहीं आएगा.’ सिद्धू ने कहा, ‘मैंने कानून बनाकर कैप्टन अमरिंदर सिंह की टेबल पर रखा. उन्हें कहा कि जुझार को 4 साल की कैद कराऊंगा. कैप्टन ने मुझे मना कर दिया. कहा कि इसे आगे भेज देंगे.’

चौधरी की मेहनत लाई रंग
बीते दिनों पंजाब में जारी सियासी घमासान के बाद आज एक सुखद तस्वीर देखने को मिली है. हाल ही में नियुक्त किये पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश चौधरी ने संगठन और सरकार में तनाव को देखते हुए सामंजस्य बैठाने का काम किया है, और उन्हें इसमें सफलता भी मिली है. प्रभारी हरीश चौधरी के लिए आगामी चुनाव बहुत ही महत्वपूर्ण है. फिलहाल उनकी कोशिश से सिद्धू और सीएम चन्नी एक मंच पर इकट्‌ठा नजर आ रहे हैं. हालांकि यह कब तक रहेगा, यह सिद्धू के रुख पर निर्भर करेगा.

Leave a Reply