नाथी का बाड़ा के बाद महिलाओं के लिए विवादित बयान देकर सुर्खियों में आए शिक्षा के मंत्री डोटासरा

महिलाओं के झगड़े के कारण पुरुषों और प्रधानाचार्यों को सिरदर्द की गोली तक खानी पड़ती है, महिलाएं स्कूलों में झगड़ा करती हैं, जिन स्कूलों में महिला स्टॉफ है वहां पर झगड़े अधिक देखने को मिलते हैं- गोविंद सिंह डोटासरा

0
विवादित बयान देकर सुर्खियों में आए शिक्षा के मंत्री डोटासरा
विवादित बयान देकर सुर्खियों में आए शिक्षा के मंत्री डोटासरा
Advertisement2

Politalks.News/Rajasthan. गहलोत मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की कमान क्या मिली, तब से मंत्री जी अपनी जुबान पर काबू ही नहीं कर पा रहे हैं. कभी मंत्री जी उनसे मुलाकात करने आये शिक्षकों से दुर्व्यवहार करते हैं तो कभी मीडिया से दुर्व्यवहार करते हुए नजर आते हैं. जी हां हम बात कर रहे हैं शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा की. हाल ही में अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शिक्षा के मंत्रीजी ने कहा कि महिलाएं झगड़ालू होती हैं और इसी कारण वे पुरुषों से आगे नहीं निकल पाती हैं. हालांकि मंत्री डोटासरा का यह बयान सोमवार का है लेकिन सोशल मीडिया सहित नेशनल मीडिया में इस बयान के सुर्ख़ियों में आने के बाद अब बीजेपी शिक्षा मंत्री पर निशाना साध रही है. मोदी सरकार में मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि शिक्षा मंत्री होकर महिलाओं के ऊपर ऐसा तंज कसना शर्मनाक है.

आपको बता दें, बीते सोमवार को अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर एक कार्यक्रम में शामिल हुए पीसीसी चीफ के साथ शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि जब से मैं शिक्षा मंत्री बना हूँ तब से मेरे पास ऐसी बहुत रिपोर्ट आती हैं जिसमें कहा जता है कि महिलाएं स्कूलों में झगड़ा करती हैं. डोटासरा ने कहा कि अगर इन छोटी-छोटी बातों में महिलाएं सुधार कर लें तो पुरुषों से आगे निकल जाएंगी. डोटासरा ने आगे कहा कि जिन स्कूलों में महिला स्टॉफ है वहां पर झगड़े अधिक देखने को मिलते हैं.

यह भी पढ़े: एक दिन बीजेपी नेता सावरकर को दे देंगे राष्ट्रपिता का दर्जा- राजनाथ के बयान पर ओवैसी का पलटवार

शिक्षा के मंत्री डोटासरा यहीं नहीं रुके, कार्यक्रम में अपने संबोधन के दौरान आगे चुटकी लेते हुए कहा कि महिलाओं के झगड़े के कारण स्कूलों का पुरुष स्टॉफ बहुत मुश्किल में रहता है. महिलाओं के झगड़े के कारण पुरुषों और प्रधानाचार्यों को सिरदर्द की गोली तक खानी पड़ती है. इस दौरान डोटासरा ने अपनी सरकार द्वारा चलाई जा रही नीतियों का जिक्र करते हुए कहा कि गहलोत सरकार महिलाओं के उत्थान के लिए लिए कई योजनाएं लाई है. राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की लिस्ट में महिलाओं की प्राथमिकता दी गई है ताकि वे इन सब से ऊपर उठकर पुरुषों से आगे निकलें.

शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के इस विवादित बयान के सोशल मीडिया और नेशनल मीडिया में आने के बाद अब बीजेपी ने निशाना साधा है. केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि राजस्थान के शिक्षा मंत्री बेतुका बयान दे रहे हैं. वे ऐसे बयान देकर महिलाओं की क्षमता पर सवालिया निशान लगा रहे हैं. शिक्षा मंत्री होकर महिलाओं के ऊपर ऐसा तंज कसना यह शर्मनाक है.

यह भी पढ़े: ज्ञानवान मुख्यमंत्री के होते प्रदेश की स्थिति बदतर क्यों? बेवकूफ वाले बयान पर CM गहलोत पर भड़के राठौड़

आपको याद दिला दें, यह पहला मौका नहीं है जब शिक्षा कर मंत्री डोटासरा ने विवादित बोल बोले हों, इससे पहले गोविंद सिंह डोटासरा ने उनके आवास पर मुलाकात के लिए आये कुछ शिक्षकों को जमकर फटकार लगाई थी. यहां तक कि डोटासरा ने ये भी कहा था कि क्या मेरे घर को नाथी का बाड़ा समझ रखा है क्या, जो मुँह उठाया और चले आये. जिसके चलते नाथी का बाड़ा भय दिनों तक सोशल मीडिया की सुर्खियों में बना रहा था. अब गोविंद सिंह डोटासरा द्वारा महिलाओं को लेकर दिए गए इस बयान को लेकर बीजेपी का क्या रूख होगा यह देखना होगा. क्योंकि प्रदेश में होने वाले उपचुनाव में बीजेपी इस मुद्दे को जोर शोर से उठाएगी.

Leave a Reply