महिलाओं को लेकर दिए बयान पर मचा बवाल, सुमन शर्मा ने डोटासरा को बताया मूर्ख, इस्तीफे की मांग की

एक मूर्ख मंत्री ने इस तरह का बयान दिया है, शर्म आनी चाहिए उनको, वे शिक्षा मंत्री हैं और महिलाओं के लिए ऐसे बयान देते हैं, मुझे लगता है कांग्रेस का कल्चर ही करप्ट होता जा रहा है- सुमन शर्मा

0
महिलाओं को लेकर दिए बयान पर मचा बवाल
महिलाओं को लेकर दिए बयान पर मचा बवाल
Advertisement2

Politalks.News/Rajasthan. अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर एक कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा द्वारा महिला शिक्षकों को लेकर दिए बयान के तीन दिन बाद जागी बीजेपी ने अब डोटासरा के इस बयान पर बवाल मचा दिया है. पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार में महिला आयोग की अध्यक्ष रहीं सुमन शर्मा ने गोविंद सिंह डोटासरा को मूर्ख बताते हुए इस्तीफा की मांग की है. सुमन शर्मा ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का यह बयान पार्टी की मानसिकता दर्शाता है. डोटासरा को माफी मांगते हुए शिक्षामंत्री के पद से इस्तीफा दे देना चाहिए. शर्मा ने आगे कहा कि एक मूर्ख मंत्री ने इस प्रकार का बयान दिया है, जिसकी हम सब निंदा करते हैं.

दरअसल, बीते सोमवार को अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर एक कार्यक्रम में शामिल हुए पीसीसी चीफ के साथ शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि जब से मैं शिक्षा मंत्री बना हूँ तब से मेरे पास ऐसी बहुत रिपोर्ट आती हैं जिसमें कहा जता है कि महिलाएं स्कूलों में झगड़ा करती हैं. डोटासरा ने कहा कि अगर इन छोटी-छोटी बातों में महिलाएं सुधार कर लें तो पुरुषों से आगे निकल जाएंगी. डोटासरा ने आगे कहा कि जिन स्कूलों में महिला स्टॉफ है वहां पर झगड़े अधिक देखने को मिलते हैं. शिक्षा के मंत्री डोटासरा यहीं नहीं रुके, कार्यक्रम में आगे चुटकी लेते हुए डोटासरा ने कहा कि महिलाओं के झगड़े के कारण स्कूलों का पुरुष स्टॉफ बहुत मुश्किल में रहता है. महिलाओं के झगड़े के कारण पुरुषों और प्रधानाचार्यों को सिरदर्द की गोली तक खानी पड़ती है.

यह भी पढ़े: नाथी का बाड़ा के बाद महिलाओं के लिए विवादित बयान देकर सुर्खियों में आए शिक्षा के मंत्री डोटासरा

गोविंद सिंह डोटासरा के इस बयान के मीडिया में सुर्खियों में आने के बाद जागी बीजेपी के नेताओं ने शिक्षामंत्री के इस बयान को शर्मनाक बताया है. महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सुमन शर्मा ने मंत्री डोटासरा पर निशाना साधते हुए कहा कि एक मूर्ख मंत्री ने इस प्रकार का बयान दिया है, जिसकी हम सब निंदा करते हैं. मुझे राजस्थान सरकार के मंत्रियों पर बहुत ही शर्म आती है. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और शिक्षामंत्री डोटासरा कहते हैं कि जहां महिलाएं एकत्रित होती हैं, वहां लड़ाई-झगड़े होते हैं, शर्म आनी चाहिए उनको, वे शिक्षा मंत्री हैं और महिलाओं के लिए ऐसे बयान देते हैं. मुझे लगता है कांग्रेस का कल्चर ही करप्ट होता जा रहा है. महिलाओं को अपमानित करना और उनके लिए अनर्गल बयानबाजी करना ही कांग्रेस का उद्देश्य रह गया है.

सुमन शर्मा ने आगे कहा कि गोविंद सिंह डोटासरा को सार्वजनिक मंच से महिलाओं से माफी मांगनी चाहिए. साथ ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए ताकि भविष्य में कोई भी राजनेता महिलाओं के खिलाफ टिप्पणी करने से पहले हजार बार सोचे.

यह भी पढ़े: एक दिन बीजेपी नेता सावरकर को दे देंगे राष्ट्रपिता का दर्जा- राजनाथ के बयान पर ओवैसी का पलटवार

इसके साथ सुमन शर्मा ने प्रदेश सरकार पर सवाल उठाते हुए यह भी कहा कि राजस्थान में इनकी संवेदनहीनता का उदाहरण है कि महिला आयोग के अध्यक्ष जैसे पद को इन्होंने खाली रखा है. इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि राजस्थान की बहन-बेटियां रोती रहें और तड़पती रहें, लेकिन इनके चेहरे पर शिकन तक नहीं आने वाली. सुमन शर्मा ने एक बार फिर कहा कि मूर्ख मंत्री का ये बयान पूरी महिला जाति का अपमान है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे. इसका खामियाजा अब प्रदेश की महिलाओं को उठाना पड़ रहा है.

Leave a Reply