‘तो फिर क्या हमने सरकार भाटा भुजने के लिए चुना है?’

सोशल मीडिया पर हलचल

0
politalks news

हाल में भारत ने क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी (RCEP) का हिस्सा बनने से इनकार कर दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने 16 देशों के संगठन वाले RCEP समझौते पर इसलिए हस्ताक्षर करने से मना कर दिया क्योंकि चीन इस ग्रुप का हिस्सा है. लेकिन इस फैसले से पहले कांग्रेस के वायनाड सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का एक ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें उन्होंने मेक इन इंडिया को मेक फ्रॉम चाइना बताते हुए पोस्ट किया.

यह भी पढ़ें: KBC में राहुल गांधी पर नहीं जताया भरोसा, कंगाल हुए नरेंद्र

ट्वीट में राहुल गांधी ने लिखा, ‘मेक इन इंडिया’ मेक फ्रॉम चाइना बन गया है. हर साल चीन से हर भारतीय के लिए छह हजार रुपये का माल आता है जिसमें 2014 के बाद 100 फीसदी की वृद्धि हुई है. RCEP के जरिए सस्ते सामानों के साथ भारत में बाढ़ आएगी, जिसके चलते न केवल करोड़ों का नुकसान तो हुआ ही, भारतीय अर्थव्यवस्था भी चरमरा गई’.

राहुल गांधी के इस ट्वीट के बाद रिट्वीट और कमेंट की बाढ़ सी हो गयी है. खबर लिखे जाने तक उनके इस ट्वीट पर 7.4 हजार रिट्वीट और 29.6 हजार लाइक हो चुके हैं.

इस ट्वीट पर कमेंट करते हुए एक यूजर ने लिखा, ‘Ola-Ubber की वजह से ऑटो सेक्टर मे मंदी है:-निर्मला जी

-फिल्में 200 करोड़ कमा रही है, देश मे कोई मंदी नहीं है:-रवि शंकर

-गाजर खाओ प्रदूषण कम होगा:- हर्ष वर्धन

तो फिर क्या हमने सरकार भाटा भुजने के लिए चुना है?’

वहीं भाजपा भी इस दौड़ में पीछे नहीं है. भाजपा के अधिकारिक ट्वीट पर पोस्ट डाला गया, ‘लगता है कि ध्यान यात्रा ने आपको आरसीईपी तक जगा दिया है. तथ्य जो आपके चयनात्मक भूलने में मदद करेंगे:
1. यूपीए ने 2012 में आरसीईपी वार्ता में प्रवेश किया
2. चीन के साथ व्यापार घाटा 2005 में $ 1.9Bn से 23 गुना बढ़कर 2014 में $ 44.8Bn हो गया
3. अब पीएम मोदी आपकी गंदगी साफ कर रहे हैं.’

वहीं एक यूजर ने कहा कि मेक इन इंडिया भारतीय जनता का एक जुमला है.

Leave a Reply