विदेश में पढ़ रहे राजस्थानी विद्यार्थियों को जल्द स्वदेश लाने का आश्वासन दिया पूनियां और मुरलीधरन ने

विदेश में रह रहे छात्रों और उनके परिजनों ने रखी अपनी समस्याएं, प्रवासी छात्रों को संबंधित देशों के दूतावास से संपर्क करने की सलाह, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के किए कार्यों की हो रही प्रशंसा

0
Satish Poonia
Satish Poonia

पॉलिटॉक्स न्यूज/राजस्थान. राजस्थानी मूल के हजारों छात्र विदेशों में अध्ययनरत है. वैश्विक महामारी कोरोना के कहर के चलते ये छात्र विदेशों में फंस गए है और अपने घर वापस आना चाहते है. विदेशों में फंसे इन राजस्थानी छात्रों की मदद के लिए प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष सतीश पूनियां, राष्ट्रीय सह-संगठन महामंत्री वी सतीश ने केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन के साथ विदेशों में पढ़ रहे राजस्थानी छात्रों और उनके अभिभावकों से वीडियो कांफ़्रेसिंग के माध्यम से संवाद किया. साथ ही सभी प्रवासी छात्रों को विशेष व्यवस्था कर सुरक्षित भारत वापस लाने का आश्वासन दिया भी दिया. साथ ही उन्हें संबंधित देशों के दूतावास से संपर्क करने की सलाह दी गई है.

01
01

सतीश पूनियां ने संवाद के दौरान छात्रों और उनके परिजनों को बताया कि पूनियां ने कहा कि विदेशों में पढ़ रहे छात्र छात्राओं को परेशान होने की आवश्यकता नहीं है. मोदी सरकार उनकी हर संभव सहयोग करेगी. खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विदेशी राष्ट्राध्यक्षों से छात्रों की भारत वापसी को लेकर बात कर रहे है. भारत सरकार ने केंद्रीय स्तर के अधिकारी को इसके समन्वय के लिए लगाया है. इन छात्रों को सहूलियत से लाने के बाद राज्य सरकार के सुपुर्द किया जाएगा, जो इनका मेडिकल चेकअप कराएगी और उसके बाद उन्हें क्वारंटाइन करेगी. इन छात्रों से कहा गया है कि वे संबंधित देशों के दूतावास से सम्पर्क में रहे. केंद्र सरकार कर्मिक रूप से उनको लाने की व्यवस्था कर रही है.

यह भी पढ़ें: दर्दनाक और शर्मनाक खबर: कोरोना मरीजों के वार्ड में रखे हैं शव भी, आखिर मरीज जाए कहां?

संवाद के दौरान केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन के सामने छात्रों और प्रदेश के अलग-अलग ज़िलों में रह रहे परिजनों ने अपनी बात और समस्यायें रखी. इस दौरान वी. मुरलीधरन ने छात्रों और उनके परिजनों से कहा कि भारत सरकार इस संकट के समय में पूरी तरह से उनके साथ है और उन्हें किसी तरह की कोई परेशानी नहीं आने दी जाएगी. विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने उन्हें विशेष व्यवस्था कर सुरक्षित भारत वापस लाने का आश्वासन दिया है.

02
02

यह भी पढ़ें: आरोग्य सेतु एप पर उठ रहे सवालों पर मोदी सरकार ने दिया जवाब, एप को बताया सुरक्षित

सतीश पूनियां ने छात्रों से हुए संवाद को लेकर बताया कि प्रदेश से हज़ारों छात्र दुनिया के अनेक देशों में पढ़ रहे है. कोरोना महामारी से उपजे हालातों के बाद वे वहां लॉक़डाउन में फंस गए है. इन छात्रों के परिजन उनको लेकर चिंतित है. यूएस, यूके, कजाकिस्तान, फ़िलिपींस, सिंगापुर, किर्गिस्तान के शहरों में बड़ी संख्या में राजस्थानी छात्र रह रहे है.

03
03

संवाद के दौरान ओवरसीज़ फ़्रेंड्स आफ बीजेपी यूके के अध्यक्ष कुलदीप शेखावत, द राजस्थान एसोसिएशन यूके के हरेंद्र सिंह जोधा ने लंदन में भारतीयों के लिए किए जा रहे राहत कार्यों की जानकारी दी. इस दौरान उन्होंने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कामों की दुनिया भर में प्रशंसा हो रही है.

Leave a Reply