कोरोना संक्रमितों की रिकवरी में राजस्थान देश में अव्वल, 110 केस आए सामने तो 248 को किया डिस्चार्ज

मंत्री रघु शर्मा ने कहा बेहतर चिकित्सकीय प्रबंधन से हुआ संभव, प्लाज्मा थैरेपी से कम होगी प्रदेश में कोरोना की मृत्युदर, जयपुरिया अस्पताल में नहीं होगा कोरोना संक्रमितों का इलाज

0
Pic(41)
Pic(41)

पॉलिटॉक्स न्यूज़/राजस्थान. बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच प्रदेश के लिए अच्छी खबर यह है कि कोरोना से रिकवरी यानी कोरोना संक्रमितों के पॉजिटिव से नेगिटिव होने के मामले में राजस्थान देश में अव्वल नम्बर पर आ गया है. गुरुवार को भी प्रदेश में जहां 110 नए कोरोना संक्रमित मरीज सामने आए तो 150 मरीज कोरोना पॉजिटिव से नेगेटिव भी हुए. यही नहीं प्रदेशभर में 248 मरीजों को डिस्चार्ज भी किया गया. प्रदेश में तेजी से हो रही कोरोना संक्रमितों की रिकवरी को लेकर चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने कहा है कि प्रदेश में बेहतरीन चिकित्सकीय प्रबंधन, सुविधाओं और चिकित्सकों की मेहनत से राजस्थान कोरोना संक्रमण से रिकवरी के मामले में देश भर में पहले पायदान पर जगह बना पाया है.

चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि प्रदेश में व्यापक स्तर पर हुई एक्टिव और पैसिव सर्विलांस, संक्रमितों को बेहतरीन क्वारेंटाइन और आइसोलेशन सुविधाएं उपलब्ध कराने, ज्यादा सैंपलिंग व टेस्टिंग करवाने और चिकित्सकों द्वारा बेहतर देखभाल के चलते करीब 52 फीसदी मरीज पाॅजीटिव से नेगेटिव हो चुके हैं. सरकार की सतर्कता के साथ स्वयं मरीजों ने भी सकारात्मक रूख रखते हुए इलाज करवाया और चिकित्सकों का भरपूर सहयोग किया.

मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि गुरुवार देर रात तक राज्य में कुल 3427 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. इनमें से 1889 कोरोना संक्रमित मरीज उपचार दिए जाने के बाद पूरी तरह ठीक हो चुके हैं और इन रिकवर हुए लोगों में से 1523 को डिस्चार्ज करने के बाद उनके घर भी भेजा जा चुका है.

प्लाज्मा थैरेपी से कम होगी प्रदेश में कोरोना की मृत्युदर

मंत्री शर्मा ने आगे बताया कि प्लाज्मा थैरेपी से दो गंभीर बीमारियों से ग्रसित कोरोना पाॅजीटिव मरीजों का इलाज सवाई मानसिंह अस्पताल में ट्रायल बेस पर किया जा चुका है. आईसीएमआर ने प्रदेश के 20 मरीजों के इलाज की अनुमति दी है. प्लाज्मा थैरेपी आने के बाद हम कोरोना से होेने वाली मृत्युदर को और भी कम कर सकेंगे. मंत्री शर्मा ने आगे कहा कि प्रदेश में देश के मुकाबले मृत्युदर महज 2.79 फीसदी ही है. इस थैरेपी के आने के बाद कोरोना के गंभीर मरीजों का इलाज आसानी से किया जा सकेगा.

जयपुरिया अस्पताल में नहीं होगा कोरोना संक्रमितों का इलाज

चिकित्सा मंत्री ने बताया कि जयपुर स्थित जयपुरिया अस्पताल में अब तक जिन कोरोना संक्रमितों का इलाज किया जा रहा था, उन्हें आरयूएसएच अस्पताल में शिफ्ट किया जा रहा है. यहां अब कोरोना संक्रमितों का इलाज नहीं होगा. सोमवार तक अस्पताल को डिस्इंफेक्टेड करवाकर इसे सामान्य बीमारियों के लिए खोला जा सकेगा, ताकि अन्य बीमारियों से ग्रसित लोगों को कोई परेशानी ना हो.

राज्य की सीमाओं को सील करना बेहतर निर्णय

अनाधिकृत लोगों के प्रदेश में प्रवेश को रोकने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा राज्य की सीमाओं को सील करने के फैसले को मंत्री रघु शर्मा ने बेहतरीन निर्णय बताते हुए कहा कि प्रदेश में संक्रमितों की रिकवरी रेट बढ़ रही है. प्रदेश के कई जिले संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं. ऐसे में बाहर से बिना अनुमति के आने वाले लोग प्रदेशवासियों की अब तक की मेहनत पर पानी फेर सकते हैं. मंत्री शर्मा ने आगे कहा कि जो भी श्रमिक या अप्रवासी राज्य में आ रहे हैं उनकी स्क्रीनिंग की जा रही है और आने वाले लोगों को 14 दिनों के होम या सरकारी क्वारेंटाइन में रखा जा रहा है. ऐसे में बिना जांच के व्यक्ति प्रदेश के लिए संकट की वजह बन सकते हैं.

बता दें, प्रदेश के 31 जिलों में अब कोरोना का संक्रमण फैल चुका है. प्रदेश में गुरूवार देर रात तक जयपुर में 1111, जोधपुर-842, कोटा-223, अजमेर-187, टोंक-136, नागौर-119, भरतपुर और चित्तौढगढ में 116-116, बांसवाडा-66, पाली-50, झालावाड-45, झुंझुनू-42, भीलवाडा-39, बीकानेर-38, जैसलमेर-35, दौसा और धौलपुर में 21-21, अलवर-18, उदयपुर-20, चुरू-14, हनुमानगढ-11, सवाई माधोपुर और डूंगरपुर में 9-9, सीकर-8, राजसमंद-7, प्रतापगढ, जालोर और करौली में 4-4, बाडमेर और बांरा में 3-3, सिरोही में 1 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आ चुका है.

यह भी पढ़ें: सीएम गहलोत ने अनाधिकृत लोगों की आवाजाही रोकने के लिए राज्य की सीमाएं सील करने के दिए निर्देश

जगुरूवार देर रात तक कोरोना संक्रमण के चलते राजधानी जयपुर में 2, जोधपुर, अजमेर, चित्तौडगढ और कोटा में 1-1 कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो गई. जयपुर के कल्याण जी का रास्ता निवासी 50 वर्षीय व्यक्ति, जालुपुरा निवासी 60 वर्षीय व्यक्ति की एसएमएस अस्पताल में, 23 वर्षीय युवक की जोधपुर के एमजीएच अस्पताल में, अजमेर के हालीदरा नया बाजार के 65 वर्षीय युवक की अजमेर के जेएलएन अस्पताल में, मकबरा कोटा निवासी 76 वर्षीय व्यक्ति की कोटा के एनएमसीएच अस्पताल में मौत हो गई. इसके साथ ही नया बाजार निंबाहेडा के 63 वर्षीय व्यक्ति की उदयपुर के एमबीडीएच अस्पताल में मौत हो गर्ह. इस तरह प्रदेश में अब कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 99 पहुंच गया है.

इसके साथ ही जोधपुर में दिल्ली से लौटे बीएसएफ के 42 जवानों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इससे पहले जोधपुर और जैसलमेर में ईरान से रेस्क्यू कर लाये गये भारतीयों में से 61 पॉजिटिव केस सामने आये थे, जयपुर में कोरोना के शुरूआती दौर में पॉजिटिव आए इटली के 2 मरीज, इन सभी की रिपोर्ट अब पॉजिटिव से नेगेटिव हो चुकी है ओर इन सभी को डिस्चार्ज किया जा चुका है. इन सभी को मिलाकर अब तक प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 3427 वहीं प्रदेश में 6 ओर संक्रमित मरीजों की मौत हो जाने से अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या बढकर 99 हो चुकी है. प्रदेश में अब तक सामने आए 3427 कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से 1889 मरीज पॉजिटिव से नेगेटिव हो चुके है जिनमें से 1523 को डिस्चार्ज किया जा चुका है.

Leave a Reply