प्लाज्मा थैरेपी से इलाज करने वाला चौथा राज्य बना राजस्थान, 50% मरीज हुए कोरोना पॉजिटिव से नेगेटिव

प्रदेश में बुधवार को 159 नए केस आए सामने वहीं 4 की हुई मौत, चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने कहा कोरोना के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों को बनाएं आदत, प्रदेश में अब प्रतिदिन हो रही हैं 10500 से ज्यादा कोरोना की जांचें

0
Coronavirus 3
Coronavirus 3

पॉलिटॉक्स न्यूज़/राजस्थान. प्रदेश में पैर पसारता कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. प्रदेश में अब तक कोरोना से अछूते रहे जालौर जिले में भी कोरोना का संक्रमण फैल गया है. प्रदेश में अब कोरोना संक्रमित जिलों की संख्या 30 हो गई है. बुधवार को प्रदेश में 159 ओर नए केस सामने आए वहीं 4 ओर कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो गई. इसके साथ ही प्रदेश में 214 मरीज कोरोना पॉजिटिव से नेगेटिव हुए तो वहीं 155 मरीजों को डिस्चार्ज भी किया गया. प्रदेश के मौजूदा हालातों को लेकर चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि कोरोना से लड़ाई लंबी हो सकती है. ऐसे में आमजन को इस दौरान बरती जाने वाली सावधानियों को ही आदत में शुमार करना होगा. इसके साथ ही मंत्री शर्मा ने प्रदेशवासियों से लाॅकडाउन-3 में मिली रियायतों में लापरवाही ना बरतने का भी आव्हान किया.

चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि यह कहना मुश्किल है कि कोरोना कब खत्म होगा लेकिन यह जरूर है कि यदि आमजन इस दौरान सरकार द्वारा दी जा रही गाइडलाइन का अनुसरण करे मास्क लगाए, बार-बार हाथ धोते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करेें, कम से कम आवागमन करे तो कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है. मंत्री शर्मा ने आगे कहा कि ज्यादा दिनों तक लाॅकडाउन बढ़ना अर्थव्यवस्था की सेहत के लिए ठीक नहीं है. ऐसे में हर व्यक्ति को सहयोग करना होगा. इस बीमारी में बचाव ही एकमात्र उपचार है.

लगभग 50 फीसदी मरीज हुए पाॅजीटिव से नेगेटिव

मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि चिकित्सा विभाग और प्रदेश भर के लिए यह राहत की खबर है कि प्रदेश में लगभग 50 फीसदी लोग पाॅजीटिव से नेगेटिव चिन्हित किए गए हैं. बुधवार देर रात तक प्रदेश में 3317 कोरोना पाॅजीटिव की संख्या थी, इनमें से 1739 लोग पाॅजीटिव से नेगेटिव हो गए हैं और 1275 लोगों को तो अस्पतालों से भी डिस्चार्ज कर दिया गया है. मंत्री शर्मा ने आगे कहा कि यह चिकित्सकों की मेहनत और सरकार की बेहतरीन चिकित्सा व्यवस्था के चलते ही संभव हो पाया है.

राजस्थान बना प्लाज्मा थैरेपी करने वाला चौथा राज्य

जयपुर का सवाई मानसिंह अस्पताल प्रदेश का पहला ऐसा अस्पताल बन गया है, जहां दो लोगों के ट्रायल बेस पर प्लाज्मा थैरेपी से सफल इलाज किया गया है. केरल, मध्यप्रदेश और दिल्ली के बाद राजस्थान ऐसा चौथा राज्य देश में बन गया है, जो प्लाज्मा थैरेपी के जरिए कोरोना का इलाज कर पाने में समक्ष है. मंत्री शर्मा ने बताया कि प्लाज्मा थैरेपी के जरिए उन्हीं मरीजों को इलाज किया जा सकता है, जो गंभीर रूप से संक्रमित हो, वेंटिलेटर पर हो या किडनी, हार्ट, डायबिटीज जैसी अन्य क्राॅनिकल बीमारियों से ग्रसित हों.

प्रतिदिन हो रही हैं 10500 से ज्यादा कोरोना की जांचें

प्रदेश में गहलोत सरकार शुरूआत से ही कोरोना के प्रति बेहद संवेदनशील है. राज्य सरकार की ओर से टेस्ट की संख्या में बढोतरी के लगातार प्रयास किए जा रहे है. प्रदेश में अब कोरोना के प्रतिदिन 10 हजार 500 टेस्ट किए जा रहे हैं. मंत्री शर्मा ने बताया कि प्रदेश में अब तक 1 लाख 40 हजार से ज्यादा सैंपल लिए जा चुके हैं. जितनी ज्यादा जांचें होंगी, कोरोना की असलियत का उतना ही जल्दी पता चलेगा और उतना ही जल्दी उनके उपचार, आइसोलशन, आईसीयू, क्वारेंटाइन करने जैसे फैसले तुरंत ले सकेंगे और संक्रमण के खतरे को कम कर सकेंगे.

बता दें, प्रदेश के 30 जिलों में अब कोरोना का संक्रमण फैल चुका है. प्रदेश में बुधवार को देर रात तक जयपुर में 1090, जोधपुर-812, कोटा-221, अजमेर-182, टोंक-136, नागौर-119, भरतपुर-116, चित्तौढगढ-100, बांसवाडा-66, झालावाड-45, झुंझुनू-42, पाली-40, भीलवाडा-39, बीकानेर-38, जैसलमेर-35, दौसा-21, धौलपुर-17, अलवर-16, उदयपुर-15, चुरू-14, हनुमानगढ-11, सवाई माधोपुर और डूंगरपुर में 9-9, सीकर-8, राजसमंद-6, प्रतापगढ और करौली में 4-4, बाडमेर और जालौर में 3-3, बांरा-1 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आ चुका है.

यह भी पढ़ें: जोधपुर में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को लेकर गजेंद्र सिंह ने सीएम गहलोत के खिलाफ चलाया ट्वीटर अभियान

बुधवार को कोरोना संक्रमण के चलते राजधानी जयपुर, जोधपुर, सवाई माधोपुर और करौली में 1-1 कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो गई. जयपुर के 45 वर्षीय चांदपोल निवासी व्यक्ति की एसएमएस अस्पताल में, 50 वर्षीय पीलूखेडा डैम सवाई माधोपुर निवासी व्यक्ति की जयपुर के महात्मा गांधी अस्पताल, 82 वर्षीय मानसागर महामंदिर निवासी व्यक्ति की जोधपुर के एमजीएच अस्पताल में और एक करौली निवासी मरीज की मौत हो गई. इस तरह प्रदेश में अब कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 93 पहुंच गया है.

इसके साथ ही जोधपुर में बुधवार को बीएसएफ के 30 जवानों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इससे पहले जोधपुर और जैसलमेर में ईरान से रेस्क्यू कर लाये गये भारतीयों में से 61 पॉजिटिव केस सामने आये थे इन सभी की रिपोर्ट अब पॉजिटिव से नेगेटिव हो चुकी है ओर इन सभी को डिस्चार्ज किया जा चुका है. इसके अलावा जयपुर में इटली के 2 मरीजों को भी डिस्चार्ज किया जा चुका है. इन सभी को मिलाकर अब तक प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 3317 वहीं प्रदेश में 4 ओर संक्रमित मरीजों की मौत हो जाने से अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या बढकर 93 हो चुकी है. प्रदेश में अब तक सामने आए 3317 कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से 1739 मरीज पॉजिटिव से नेगेटिव हो चुके है जिनमें से 1275 को डिस्चार्ज किया जा चुका है.

Leave a Reply