राहुल गांधी की अभिजीत बनर्जी से चर्चा पर बोले गहलोत- ‘आर्थिक चुनौतियों पर चर्चा करना सार्थक तरीका’

राहुल गांधी ने कोरोना संकट और इससे निपटने के लिए विशेषज्ञों से संवाद की एक श्रृंखला में नोबेल विजेता अर्थशास्त्री से की चर्चा, इससे पहले की थी RBI के पूर्व गर्वनर रघुराम राजन देश के हालातों पर बातचीत

0
Pjimage (1)
Pjimage (1)

पॉलिटॉक्स न्यूज़/दिल्ली-राजस्थान. कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने पिछले गुरूवार से कोरोना संकट और इस संकट में नई दृष्टि से निपटने के लिए विशेषज्ञों से संवाद की एक श्रंखला शुरू की. इस श्रंखला के तहत राहुल गांधी ने आज नोबेल विजेता अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी के साथ देश में कोविड 19 से उपजी आर्थिक समस्या, सुझाव और समाधान विडियों कांफ्रेंस के जरिए चर्चा की. इससे पहले गुरूवार को राहुल गांधी ने आरबीआई के पूर्व गर्वनर रघुराम राजन से देश के हालातों पर बातचीत की थी.

आज हुई बनर्जी से बातचीत को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, ‘राहुल जी की बातचीत नोबेल पुरस्कार विजेता डॉ अभिजीत बनर्जी के साथ कोविड 19 और इसका आर्थिक समाधान खोजने के लिए चुनौतियों पर चर्चा करना एक सार्थक तरीका है. देश के विशेषज्ञों से बातचीत करना मौजूदा संकट से बाहर निकालने के लिए उपाय करना है.’

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी द्वारा विशेषज्ञों के साथ शुरू की गई संवाद की श्रृंखला एक अद्भुत पहल है– सीएम गहलोत

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राहुल गांधी और अभिजीत बनर्जी के साथ बातचीत पर कई ट्वीट किए. इस दौरान सीएम गहलोत ने कहा कि अभिजीत बनर्जी का मौजूदा स्थिती पर विश्लेषण भारत में जमीनी हकीकत के करीब है. लोगों को नकदी देने के लिए हमें वास्तव में कुछ मशीनरी की जरूरत है. प्रवासियों की उस तक पहुंच नहीं हो सकती है. इसके बजाय राज्य सरकारों को धन उपलब्ध कराया जाना चाहिए ताकि वे नई रणनीतियों को आजमा सकें.

सीएम गहलोत ने आगे कहा कि समय की जरूरत एक प्रोत्साहन पैकेज है. डॉ अभिजीत बनर्जी के अनुसार यह वही तरीका है जो अमेरिका, जापान, यूरोप कर रहे हैं. लेकिन हमने अभी तक एक बड़े पैकेज पर निर्णय नहीं लिया है. यूएसए की जीडीपी के 10 प्रतिशत पहुंच गयी है. हम अभी भी जीडीपी के 1 प्रतिशत के बारे में बात कर रहे हैं.

अपने अगले ट्वीट में मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि मांग को पुनर्जीवित करने के लिए लोगों के हाथ में पैसा देने के लिए अभी ध्यान केंद्रित करना चाहिए, यह डॉ अभिजीत बनर्जी का एक बहुमूल्य सुझाव है. हमें भारत के समग्र आर्थिक पुनरुत्थान के लिए आशावादी होना चाहिए.

सीएम गहलोत ने बताया कि डॉ अभिजीत बनर्जी ने हमें वर्तमान संकट से निपटने के लिए कुछ उपयोगी जानकारी दी. अस्थायी राशन कार्ड का सुझाव, लॉकडाउन तय करने के लिए एक विकेंद्रीकृत प्रणाली, आर्थिक गतिविधि शुरू करना, गरीबों को पैसे हस्तांतरित करने के लिए कार्यक्रम और एक बड़े पैकेज की आवश्यकता है.

वहीं अपने आखिरी ट्वीट में मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि एक जिम्मेदार विपक्षी नेता के रूप में राहुल गांधी जी के प्रयास रचनात्मक सलाह, नई अंतर्दृष्टि और सुझाव देने का एक तरीका है जो लोगों के लिए अच्छा हैं. ये संवाद हमारे लोकतंत्र को समृद्ध करते हैं और इसे और अधिक इंटरैक्टिव और खुला बनाते हैं.

Leave a Reply