अखिलेश का BJP पर प्रहार- यूपी में जंगलराज सो रही है सरकार, दोषियों को समन के बजाय दे रहे गुलदस्ता

12 अक्टूबर से अखिलेश निकालेंगे 'सपा विजय यात्रा', सपा कार्यालय पर हुई प्रेसवार्ता में बीजेपी को लिया आड़े हाथ- 'प्रदेश में योगी सरकार कर रही है संविधान को कुचलने की कोशिश, दोषियों को समन नहीं गुलदस्ता दे रही है सरकार', कांग्रेस से किसी तरह का कॉम्पिटिशन नहीं होने की कही बात

0
अखिलेश का BJP पर प्रहार
अखिलेश का BJP पर प्रहार
Advertisement2

Politalks.News/UttarPradesh. लखीमपुर खीरी हिंसा ने उत्तरप्रदेश की राजनीति को एक अलग ही मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया है. जहां इस पूरे मामले ने विपक्ष को केंद्र और योगी सरकार को चारों तरफ से घेरने का मौका दे दिया है. तो वहीं विपक्षी दल इस मौके पर अपनी सियासी रोटियां सेकने से बाज नहीं आ रहे. हालांकि हिंसा के सातवें दिन मुख्य आरोपी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र का बेटा आशीष आज क्राइम ब्रांच के सामने पेश हो गया. पुलिस द्वारा दिए गए टाइम से दो घंटे पहले ही आशीष मिश्र क्राइम ब्रांच के सामने पेश हो गया. वहीं इस पूरे मामले में पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘सरकार दोषियों को समन नहीं बल्कि गुलदस्ता दे रही है. कोर्ट ने कई बार कहा कि यूपी में जंगलराज है और कानून व्यवस्था चौपट हो गई है और ये सब प्रदेश की जनता देख रही है इसीलिए आने वाले समय में बीजेपी का यहां से सफाया होगा’.

आशीष मिश्र से पूछताछ जारी, तय समय से पहले पहुंचे क्राइम ब्रांच
लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पुलिस ने शुक्रवार को मंत्री के घर पर दोबारा नोटिस चिपकाकर कर आशीष को शनिवार 11 बजे पूछताछ के लिए क्राइम बुलाया था. इससे पहले भी पुलिस ने केंद्रीय मंत्री के घर के बाहर नोटिस चस्पा किया था. जिसके बाद लखीमपुर हिंसा में मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा टेनी ने एक चिट्‌ठी लिखकर पुलिस को बताया था कि वह बीमार है इसलिए 9 अक्टूबर को पुलिस के सामने पेश होगा. वहीं आज सुबह तय समय से 24 मिनट पहले ही आशीष क्राइम ब्रांच पहुंच गए. हालांकि उन्होंने पीछे के दरवाजे से एंट्री ली. फिलहाल आशीष से पूछताछ जारी है. तो वहीं एक बार फिर अखिलेश यादव ने प्रदेश की कानून व्यवस्ता पर सवाल उठाये हैं.

यह भी पढ़े: कांशीराम की पुण्यतिथि पर मायावती ने भरी हुंकार- ‘सरकार बनी तो नहीं होगा बदले की भावना से काम’

12 अक्टूबर को अखिलेश निकालेंगे विजय रथ, कांग्रेस से नहीं कोई कॉम्पिटिशन
आपको बता दें कि यूपी में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव अपनी पार्टी की तैयारी को हर स्तर पर परख रहे हैं. अखिलेश यादव 12 अक्टूबर से समाजवादी पार्टी की विजय रथ यात्रा निकालेंगे जिसके लिए अखिलेश यादव ने शनिवार को पार्टी कार्यालय में जाकर विजय रथ का निरीक्षण भी किया. इस दौरान अखिलेश यादव ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि, ‘भाजपा की यह रणनीति है कि वह विधानसभा चुनाव 2022 में कांग्रेस को लड़ाई में दिखाएं. लेकिन हमारा किसी से कोई कॉम्पिटिशन नहीं है, प्रदेश में होने वाली हर घटनाओं में समाजवादी लोग मदद कर रहे हैं’. आपको बता दें कि लखीमपुर खीरी हिंसा एवं हाथरस मामले में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी पूरी तरह सक्रिय नजर आ रही है.

किसानों के बाद अब संविधान को कुचलने की बीजेपी कर रही है कोशिश- अखिलेश
लखीमपुर खीरी हिंसा मामले का जिक्र करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘आज देश का कानून जीप के टायरों के नीचे कुचला जा रहा है और बीजेपी सरकार कानून को रौंदना चाहती है’. अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘लोकतंत्र में भरोसा करने वालों और जिसने भी उस घटना का वीडियो देखा, हर किसी ने इस घटना की निंदा की है. पहले किसानों को कुचला गया और फिर कानून को कुचला गया और अब ये सरकार संविधान को भी कुचलने की कोशिश कर रही है’.

यह भी पढ़े: रघु शर्मा की गहलोत मंत्रिमंडल से छुट्टी तय, गुजरात जैसे बड़े राज्य की जिम्मेदारी मिलने पर खुद ही दिए संकेत

पीड़ितों को न्याय-दोषियों को मिले सजा- अखिलेश
अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘जो किसान अपने हक के लिए लड़ रहे थे उन्हें गाड़ी से कुचल दिया गया और ये सभी अधिकारियों की जानकारी में था कि किसानों का आंदोलन चल रहा है. लेकिन इसके बावजूद किसानों की हत्या हुई लेकिन दोषी अभी तक नहीं पकड़े गए’. अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘मैं अब तक जिन भी परिवारों से मिला हूं उन सभी परिवार के सदस्य ने ये ही कहा कि दोषियों को सजा मिले और सख्त से सख्त कार्रवाई कि जाए’. अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि, ‘सरकार अभी भी सो रही है, क्योंकि सरकार खुद दोषियों को बचा रही है. सरकार की जिम्मेदारी है कि पीड़ित परिवार को न्याय मिले और दोषियों को सजा’.

आने वाले समय में होगा बीजेपी का सफाया- अखिलेश
अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘अजय मिश्रा के मंत्री पद पर रहते हुए पीड़ित परिवारों को इंसाफ नहीं मिलेगा, इसलिए सबसे पहले गृह राज्यमंत्री अपना इस्तीफा दें’. अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘मौजूदा सरकार पीड़ित परिवारों के साथ लगातार भेदभाव कर रही है. आगामी विधानसभा चुनाव का जिक्र करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार दोषियों को समन नहीं बल्कि गुलदस्ता दे रही है. कोर्ट ने कई बार कहा कि यूपी में जंगलराज है और कानून व्यवस्था भी पूरी तरह चौपट हो गई है. जनता देख रही है इसीलिए देख लेना आने वाले समय में बीजेपी का सफाया होगा’.

Leave a Reply