स्पेशल ट्रेनों से कर रहे हैं यात्रा, तो पहले जान लीजिए यात्रा करने के सारे नियम और कायदे

स्पेशल ट्रेनों से यात्रा करने वालों के लिए गृह मंत्रालय ने जारी की गाइडलाइन, रेल मंत्रालय के द्वारा भी जारी होगी एडवाइज़री, रेलवे कर्मचारियों को करना होगा इसका पालन, चिदंबरम ने किया सरकार के फैसले का स्वागत

0
New Delhi Railway Station
New Delhi Railway Station

पॉलिटॉक्स न्यूज. कोरोना संकट और पिछले 51 दिनों से चल रहे लॉकडाउन के बाद 12 मई से एक बार फिर स्पेशल पैसेन्जर ट्रेन चलाई जा रही है. बुकिंग आज से शुरु हो गई है. इसके लिए गृह मंत्रालय के तरफ से ट्रेन यात्रा के लिए गाइड लाइन (SOP) जारी कर दी है जिसकी पालना सभी यात्रियों के लिए अनिवार्य होगी. सोशल डिस्टेन्सिंग पर खास तौर पर ध्यान दिया जाएगा. साथ ही रेलवे स्टेशन पहुंचते ही सेनिटाइजर और थर्मल स्क्रीनिंग के साथ मास्क को भी अनिवार्य कर दिया गया है. जल्दी ही रेल मंत्रालय की ओर से भी एडवाइजरी जारी की जाएगी जिसकी पालना रेलवे कर्मचारियों को करनी होगी. पूर्व वित्तमंत्री पी.चिदंबरम ने केंद्र सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है.

आइए जानते हैं गृह मंत्रालय की गाइडलाइन और उसमें दिए गए नियमों के बारे में

  • जिसके पास कन्फर्म ई-टिकट होगा, उसी को प्लेटफॉर्म पर जाने की इजाजत होगी.
  • जिसके पास कन्फर्म ई-टिकट होगा, उसी की कार स्टेशन प्रेमिसेस मैं एंटर करेगी.
  • स्टेशन एंटर करने से पहले सेनिटाइजर लगाना और थर्मल स्क्रीनिंग जरूरी है.
  • कैंसलेशन पर 50 प्रतिशत पैसे ही रिफंड होंगे.
  • ट्रेन के बोगी में एंटर करने से पहले मास्क लगाना जरूरी होगा.
  • ट्रेन के डिब्बे के अंदर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा.
  • रेल मंत्रालय के द्वारा एक एडवाइज़री जारी की जाएगी, जिसका पालन रेलवे कर्मचारियों को करना है.
  • ट्रेन जब अपने आखिरी स्टेशन पर पहुंचेगी, तो सभी यात्रियों को उस राज्य के नियमों का पालन करना होगा और अधिकारियों की सहायता करनी होगी.

यह भी पढ़ें: कल से फिर पटरी पर दौड़ेंगी रेलगाड़ी, जानिए किस शहर के लिए कहां से मिलेगी ट्रेन और कैसी होगी सुविधाएं

बता दें कि जिन शहरों के लिए ये सेवा शुरू हो रही हैं उनमें दिल्ली, डिब्रूगढ़, अगरतला, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, तिरुअनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू तवी शामिल हैं. भारतीय रेलवे ने कहा कि नई दिल्ली से कई शहरों में 12 मई से 15 जोड़ी वातानुकूलित ट्रेन चलाई जाएंगी. श्रमिक स्पेशल ट्रेन यात्रियों को अधिक सुविधा प्रदान करने के लिए ट्रेन श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के टर्मिनेटिंग स्टेशन के अलावा अपने रूट पर तीन ठहराव पर रुकेंगी और पूरी क्षमता के साथ चलेंगी. इससे पहले इन ट्रेनों का अपने रूट पर एक भी स्टॉप नहीं था और अंतिम गंतव्य स्टेशनों पर ही इन्हें रुकना था. इसके अलावा, श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में यात्रियों की संख्या 1200 से बढ़ाकर 1700 यात्री कर दिया गया है.

कांग्रेस के सीनियर नेता पी.चिदंबरम ने ट्वीट कर सरकार के फैसले का स्वागत किया है. चिदंबरम ने कहा कि हम एक राज्य से दूसरे राज्य में यात्री ट्रेनों के संचालन को एहतियात के साथ शुरू करने के सरकार के फैसले का स्वागत करते हैं. सड़क परिवहन और हवाई सेवाओं को भी शुरू किया जाना चाहिए.

पूर्व वित्त मंत्री ने एक दूसरे ट्वीट में कहा कि आर्थिक और वाणिज्यिक गतिविधि प्रभावी ढंग से शुरू करने का एकमात्र तरीका यात्रियों और माल के लिए सड़क, रेल और हवाई सेवाएं खोलना है.

Leave a Reply