जनता से जुड़ने के लिए हमें कोई शॉर्टकट नहीं बल्कि बहाना होगा पसीना- राहुल का कांग्रेसियों को मंत्र

हम फिर जनता के बीच जाएंगे, अक्टूबर में पूरी कांग्रेस पार्टी जनता के बीच जाएगी, यात्रा करेगी, जो जनता के साथ रिश्ता है, वह फिर से मजबूत करेंगे, यही एक रास्ता है और कोई शॉर्टकट से यह नहीं होगा, हम सड़क पर उतरेंगे और बीजेपी, आरएसएस की विचारधारा से पूरा दम लगाकर लड़ेंगे- राहुल गांधी

0
राहुल का कांग्रेसियों को मंत्र
राहुल का कांग्रेसियों को मंत्र
Advertisement2

Politalks.News/CongressNavSankalpShivir. राजस्थान के उदयपुर में पिछले तीन दिन से जारी कांग्रेस के नव संकल्प शिविर का अंतिम चरण आज जारी है. संकल्प के बनाई गई 6 कमेटियों के सुझावों पर कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी की अध्यक्षता में आज हुई CWC की बैठक में लिए गए फैसलों के बाद तयशुदा कार्यक्रम के तहत दिन में तीन बजे राहुल गांधी ने शिविर में भी आए सभी कांग्रेसियों को सम्बोधित किया. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी में दलित समाज का अपमान होता है. राहुल ने कहा कि कांग्रेस के नव संकल्प शिविर में सभी नेताओं को अपनी बात रखने का मौका मिला, हमारी पार्टी में सभी की बात सुनी जाती है, जबकि बीजेपी में किसी की बात नहीं सुनी जाती. इस दौरान राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला और कहा किआज संस्थाओ को बर्बाद किया जा रहा है, न्यायपालिका पर दबाव बनाया जाता है और यहां तक कि चुनाव आयोग में भी दखल की कोशिश होती है. इसके साथ ही राहुल गांधी ने कांग्रेसियों को एकजुट होकर सड़कों पर उतरकर बीजेपी और RSS की विचारधारा से लड़ने का आव्हान किया.

राहुल गांधी ने कहा कि, ‘जिस तरह का डिस्कशन हमने तीन दिन किया वैसा किसी पार्टी में नहीं होता, मैं सभी कमरों में गया और सभी डिस्कशन में शामिल हुआ, पिछले तीन दिन में गंभीर मुद्दों पर हम सभी ने चर्चा की, शिविर के दौरान कांग्रेस के सभी नेताओं ने अपनी बात रखी, कांग्रेस पार्टी में सभी का सम्मान है चाहे वो किसी भी जाति या धर्म का हो. आज देश के युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है, आज से ज्यादा बेरोजगारी कभी नहीं रही है, नोटबन्दी, जीएसटी लागू करके बीजेपी ने देश के युवाओं का भविष्य नष्ट कर दिया है, एक तरफ देश मे बोरोजगारी है तो दूसरी तरफ महंगाई है, इसके लिए बीजेपी जिम्मेदार है, इस समय हमारी जिम्मेदारी जनता के साथ खड़े होने की है.’

यह भी पढ़ें: पायलट युवाओं के चहेते तो अनुभवी हैं गहलोत, बीच का रास्ता निकलेगा, सचिन को इंसाफ मिलेगा- आ.प्रमोद

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आगे कहा कि भाजपा से हमारी पार्टी में आए कई नेताओं ने मुझे बताया कि भाजपा में दलित के तौर पर उनकी कोई जगह नहीं थी. वहां यह बताया जाता है कि क्या बोलना है और क्या नहीं? भाजपा में दलित समाज का अपमान होता है. हम कांग्रेस में बातचीत का मौका देते हैं. हम हर दिन यह काम करते हैं. इसके पीछे एक कारण है. कांग्रेस के डीएनए में इस देश के लोगों से बातचीत करना है. भले ही वो किसी भी जाति, धर्म और जगह के हों. हम सड़क पर उतरेंगे, BJP-RSS की विचारधारा से पूरा दम लगाकर लड़ेंगे. राहुल गांधी ने कहा, ‘हमारा फोकस अभी केवल किसे पद मिलेगा, इस तरह के आंतरिक मामलों पर होता है. हमें बाहरी मुद्दों पर जाना होगा. देश के लोगों के बीच जाना होगा. हमें बिना सोचे जनता के बीच जाकर बैठ जाना चाहिए. जो हमारा जनता के साथ पहले होता था, हमारा जनता से कनेक्शन टूटा है, वह हमें वापस बनाना पडे़गा.’

राहुल गांधी ने आगे कहा कि हम शॉर्टकट से नहीं बल्कि हमें पसीना बहाना होगा, तभी वापस जनता से जुड़ेंगे. हम पैदा ही जनता से हुए हैं, यह हमारा डीएनए है, यह संगठन जनता से बना है. हम फिर जनता के बीच जाएंगे. अक्टूबर में पूरी कांग्रेस पार्टी जनता के बीच जाएगी, यात्रा करेगी. जो जनता के साथ रिश्ता है, वह फिर से मजबूत करेंगे. यही एक रास्ता है, और कोई शॉर्टकट से यह नहीं होगा. राहुल गांधी कहा कि हम सड़क पर उतरेंगे और बीजेपी, आरएसएस की विचारधारा से पूरा दम लगाकर लड़ेंगे.

यह भी पढ़े: गहलोत को हर 15वें दिन जनता को बताना पड़ता है कि CM मैं ही रहूंगा- जाखड़ के निशाने पर पार्टी दिग्गज

मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए राहुल गांधी ने आगे कहा कि, ‘देश में आग लगने वाली है, मैंने आपको कोविड से पहले चेताया था, अब फिर कह रहा हूं. ये देश के इंस्टीट्शन काे तोड़ रहे हैं, ये जितना संस्थानों को खत्म करेंगे उतनी ही आग लगेगी. यह हमारी जिम्मेदारी है कि देश में यह आग नहीं लगे. यह हमारे नेता- कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी है. यह काम केवल कांग्रेस कर सकती है. इस देश मेें ऐसा कोई धर्म, जाति, व्यक्ति नहीं है जो यह कह दे कि उसने कांग्रेस के लिए दरवाजे बंद कर दिए हो. कांग्रेस सबकी पार्टी है. राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार में युवाओं को रोजगार नहीं मिलेगा क्यों कि रोजगार पैदा करने वाली रीढ़ की हड्डी को मोदी और बीजपी ने तोड़ दिया है. नोटबंदी और जीएसटी लागू करके इसका फायदा दो तीन उद्योगपतियों को देकर सरकार ने युवाओं के भविष्य को खत्म कर दिया. आने वाले समय में देश का युवा रोजगार नहीं पा सकेगा, महंगाई की वजह से रोजगार नहीं मिलेगा. राहुल ने कहा कि यूक्रेन वॉर के परिणाम से बेरोजगारी बढे़गी.

अपने सम्बोधन में राहुल गांधी ने आगे कहा कि मुझे कोई डर नहीं है. मैंने जिंदगी में एक रुपए किसी ने नहीं लिया, कोई भ्रष्टाचार नहीं किया. मैंने भारत माता से एक पैसा नहीं लिया है. मैं सच्चाई बोलने से नहीं डरता हूं. यह लड़ाई हम सबकी लड़ाई है. हम सब एक साथ मिलकर BJP और RSS के संगठन व उनकी विचारधारा को हराकर दिखाएंगे. इस दौरान राहुल गांधी ने यह भी कहा कि कई बार हमारे सीनियर नेता और कार्यकर्ता डिप्रेशन मेंं चले जाते हैं.

यह भी पढ़े: केंद्र सरकार की आर्थक नीतियां नहीं है देश हित में, पॉलिसीज को है फाइन ट्यून करने की जरूरत- चिदंबरम

रीजनल पार्टियां नहीं हरा सकती बीजेपी को
वहीं देश की रीजनल पार्टियों को लेकर बड़ा बयान देते हुए राहुल गांधी ने कहा कि यह लड़ाई रीजनल पार्टियां नहीं लड़ सकती. यह लड़ाई केवल कांग्रेस ही लड़ सकती है. रीजनल पार्टियां BJP को नहीं हरा सकती, क्योंकि उनके पास विचारधारा नहीं है, वे अलग-अलग है. जबकि कांग्रेस के पास एक विचारधारा है, क्योंकि यह लड़ाई राजनीतिक नहीं है ये विचारधारा की लड़ाई है.

आपको बता दें, कांग्रेस के इस नव संकल्प शिविर में आज हुई कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में कांग्रेस के बदलावों पर मुहर लग चुकी है. कांग्रेस की संगठन और राजनीति से जुड़ी कमेटी की सिफारिशों के आधार पर अब एक परिवार से एक ही टिकट के फाॅर्मूले को मंजूरी दी गई है. परिवार के दूसरे नेता को तभी टिकट मिलेगा जब वह पांच साल से संगठन में सक्रिय हो. बिना संगठन में काम किए दूसरे सदस्य को टिकट नहीं मिलेगा. पांच साल पदों पर रहने के बाद तीन साल का कूलिंग पीरियड में रहना होगा. तीन साल बाहर रहने के बाद ही पद मिलेगा. इस सिफारिश को सीडब्ल्यूसी में मंजूर कर लिया है.

Leave a Reply