पायलट युवाओं के चहेते तो अनुभवी हैं गहलोत, बीच का रास्ता निकलेगा, सचिन को इंसाफ मिलेगा- आ.प्रमोद

सचिन पायलट को कई बार मुख्यमंत्री बनने का आशीर्वाद दे चुके प्रियंका गांधी के करीबी माने जाए8वाले नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने एक बार फिर दिए परिवर्तन के बड़े संकेत, कहा- जो पौधा था, आज वृक्ष बन गया और जो वृक्ष था अब ढलने लगा है, मुझे लगता है कि सचिन पायलट को इंसाफ मिलेगा

0
'जो पौधा था वो अब वृक्ष है और जो वृक्ष था वो अब ढलने लगा है...'
'जो पौधा था वो अब वृक्ष है और जो वृक्ष था वो अब ढलने लगा है...'
Advertisement2

Politalks.News/Rajasthan/SachinPilot. राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस के चिंतन शिविर का आज दूसरा दिन है. पार्टी के सभी दिग्गज नेता संगठन और देश में पार्टी को कैसे मजबूत किया जाए इस पर चिंतन करने में जुटे हैं. सियासी गलियारों में चल रही चर्चाओं की मानें तो इस चिंतन शिविर के बाद कांग्रेस पार्टी में बड़ा बदलाव होना तय है और ऐसा ही एक बदलाव राजस्थान में भी देखने को मिलेगा. खुद कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी के वक्तवय से यह साफ होता है कि अब वो खुद भी चाहती हैं कांग्रेस में युवाओं को आगे लाया जाए. शायद इसीलिए सोनिया ने पार्टी दिग्गजों को ये संदेश दिया है कि अब पार्टी का कर्ज उतारने का समय आ गया है. इन सबके बीच कांग्रेस के दिग्गज नेता एवं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के करीबी नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने एक बार फिर राजस्थान की कांग्रेस सरकार में परिवर्तन के बढ़े संकेत दिए हैं. आचार्य ने कहा कि, ‘सचिन पायलट राजस्थान ही नहीं देश के युवाओं के चहेते हैं और अशोक गहलोत अनुभवी हैं ऐसे में कांग्रेस पार्टी को बीच का रास्ता निकालते हुए परिवर्तन करना ही होगा.’

कांग्रेस के नव संकल्प चिंतन शिविर के दूसरे दिन मीडिया समूह ETV भारत से बात करते हुए कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद ने कहा कि, ‘आज देश के हालात की अगर बात की जाए तो वे बेहद खराब हैं. कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी ने वरिष्ठ नेताओं से विचार-विमर्श कर यह फैसला लिया है कि अगर देश को बचाना है तो कांग्रेस को मजबूत करना होगा. कांग्रेस को सशक्त बनाना होगा और इसके लिए ही नव संकल्प शिविर में चिंतन मंथन चल रहा है. मुझे लगता है कि सोनिया गांधी का जो उद्बोधन है अगर उसे एक सूत्र में पिरोया जाए तो उसमें से चिंतन, मंथन और परिवर्तन निकलेगा और यही परिवर्तन संसार का नियम है.’

यह भी पढ़े: गहलोत को हर 15वें दिन जनता को बताना पड़ता है कि CM मैं ही रहूंगा- जाखड़ के निशाने पर पार्टी दिग्गज

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता आचार्य प्रमोद ने आगे कहा कि, ‘आज देश का युवा अपने भविष्य को लेकर बेहद चिंतित हैं. इसीलिए वह कांग्रेस की तरफ देख रहा है. कांग्रेस को युवाओं की बात तो करनी ही होगी. सचिन पायलट युवाओं के चहेते हैं और अशोक गहलोत अनुभवी हैं ऐसे में कांग्रेस पार्टी को बीच का रास्ता निकालते हुए कोई न कोई फैसला लेना होगा और मुझे लगता है कि फैसला होगा.’ आचार्य प्रमोद ने आगे कहा कि, ‘सोनिया गांधी का जो उद्बोधन है वह साफ है कि हमें पार्टी के लिए उसका कर्ज उतारना होगा, उसके लिए कुर्बानी देनी पड़ेगी और उसके लिए हम सब तैयार हैं. सोनिया गांधी और कांग्रेस नेतृत्व अपेक्षा करता है इस संकल्प को पार्टी सदस्यों को पूरा किया जाना चाहिए.’

ETV ने जब आचार्य प्रमोद कृष्णम सचिन पायलट को काफी लम्बे समय से कोई भी पद ना दिए जाने से जुड़ा सवाल पुछा तो उन्होंने कहा कि, ‘कभी-कभी राजनीति में ऐसा होता है कि कोई पद मिलना होता है लेकिन वह मिलता नहीं है. लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि कभी मिलेगा नहीं, क्योंकि भगवान के घर देर है, अंधेर नहीं. कांग्रेस प्रेसिडेंट ने चिंतन, मंथन और परिवर्तन की बात कही है और परिवर्तन तो संसार का नियम है.’ आचार्य प्रमोद ने आगे कहा कि, ‘जो पौधा था, आज वृक्ष बन गया और जो वृक्ष था अब ढलने लगा है, मुझे लगता है कि सचिन पायलट को इंसाफ मिलेगा.’ यह पहला मौका नहीं है जब आचार्य प्रमोद ने सचिन पायलट के मुख्यमंत्री बनने को लेकर बड़ा बयान दिया है.

यह भी पढ़े: केंद्र सरकार की आर्थक नीतियां नहीं है देश हित में, पॉलिसीज को है फाइन ट्यून करने की जरूरत- चिदंबरम

इससे पहले पिछले साल 24 जुलाई गुरु पूर्णिमा के अवसर पर आचार्य प्रमोद कृष्णम ने सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनने का आशीर्वाद दिया था. गुरु पूर्णिमा के मौके पर जब आचार्य प्रमोद अपने फेसबुक पेज से लाइव कर रहे थे तो एक दर्शक के कमेंट के जवाब में आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि, ‘चिंता मत करो सचिन पायलट जी मुख्यमंत्री बनेंगे और जरूर बनेंगे’. यहीं नहीं 11 फरवरी को जब सचिन पायलट ने बयाना में हुई किसान रैली के फोटो-वीडियो किए ट्वीट किये थे तब भी आचार्य प्रमोद ने उनके इस ट्वीट पर पर आशीर्वाद देते हुए लिखा था कि ‘मुख्यमंत्री भव:.’

Leave a Reply