कमलनाथ पर शिवराज का पलटवार, सिंधिया को बताया असली हीरो, कहा- बीजेपी में आकर हो गए साफ

ज्योतिरादित्य सिंधिया पहले कांग्रेस में थे इसलिए आलोचना करते थे, मैं उन सभी साथियों का सम्मान करता हूँ, जिन्होंने कमलनाथ जी की स्वकेंद्रित बँटाधार सरकार को गिराने के लिए और प्रदेश की उन्नति के लिए अपनी-अपनी राजनीतिक कारकिर्दगी को दाँव पे लगा दिया- शिवराज सिंह

0
ज्योतिरादित्य सिंधिया शिवराज सिंह कमलनाथ
ज्योतिरादित्य सिंधिया शिवराज सिंह कमलनाथ

पॉलिटॉक्स न्यूज़/मध्यप्रदेश. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ पर निशाना साधते हुए पलटवार किया है कि उनकी सरकार को भ्रष्टाचार में लिप्‍त बताते हुए उसे उखाड़ फेंकने में मदद करने वाले सभी सदस्य ही असली लीडर और हीरो हैं. कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थामने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया को उन्होंने हीरो बताते हुए कहा कि वे ऐसे नेता हैं जिन्होंने प्रदेश का हित सर्वोपरि रखा और भ्रष्ट सरकार से अपने साथियों के साथ किनारा कर लिया.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने सोशल मीडिया पर अपनी बात लिखते हुए ट्वीट किया कि, ‘पिछली कांग्रेस सरकार ने प्रदेश में त्राही-त्राही मचा दी थी. भ्रष्टाचार में लिप्त सरकार को उखाड़ फेंकने में मदद करने वाले ही असली लीडर, असली हीरो होते हैं. ‪ज्योतिरादित्य सिंधिया जी ऐसे नेता है, जिन्होंने प्रदेश का हित सर्वोपरि रखा और भ्रष्ट सरकार से अपने साथियों समेत किनारा किया.’

एक अन्य ट्वीट में शिवराज सिंह ने कहा, ‘‪मैं मेरे उन सभी साथियों का भी सम्मान करता हूँ, जिन्होंने कमलनाथ जी की स्वकेंद्रित बँटाधार सरकार को गिराने के लिए और प्रदेश की उन्नति के लिए अपनी-अपनी राजनीतिक कारकिर्दगी को दाँव पे लगा दिया! सारे पदों को त्याग दिया! अति कठोर निर्णय लिए और उस पर अडिग रहे. सरकार बनाने और चलाने के लिए प्रजा हित को सर्वोपरि रखना पड़ता है.‬

सीएम शिवराज सिंह ने आगे कहा, ‘‪जो प्रदेश के मुखिया प्रजा को छोड़ एक परिवार की पूजा में लिप्त रहते हैं, वो कभी जनता की सरकार बना नहीं सकते और अगर गलती से कभी बना भी लें तो ज़्यादा दिन चला नहीं सकते, ‪ये जो पब्लिक है वो सब जानती है…🙏.’

गौरतलब है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया जब कांग्रेस में थे, तो बीजेपी उनके ऊपर आक्रमक रहती थी. सीएम शिवराज सिंह चौहान भी सिंधिया के खिलाफ खूब हमला करते थे. सिंधिया बीजेपी में शामिल होने के बाद जब भोपाल लौटे तो शिवराज ने उनका स्वागत किया. साथ ही कहा कि शिवराज और महाराज अब एक साथ काम करेंगे.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा ज्योतिरादित्य सिंधिया पहले कांग्रेस में थे इसलिए आलोचना करते थे, उनकी नीतियों और कामों की आलोचना हम करते थे. लेकिन अब उन्होंने कांग्रेस को छोड़ बीजेपी को स्वीकार किया है और बीजेपी ने उनका स्वागत किया है. हम उनकी शख्सियत का लाभ भी उठाएंगे, वह अच्छे राजनेता हैं. सीएम शिवराज ने कहा कि राजमाता सिंधिया जी भारतीय जनसंघ को पुष्पित और पल्लवित करने वाली नेता थी. ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस में थे, इसलिए हम विरोध करते थे.

यह भी पढ़ें: कोरोना मरीजों की संख्या को लेकर कमलनाथ का बड़ा आरोप, श्रमिकों से किराया वसूली को बताया शर्मनाक

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आगे कहा कि पार्टी और विचारधारा का अंतर हमारे बीच में था, वो मतभेद थे. लेकिन भारतीय जनता पार्टी में वो आए हैं और हमारी पार्टी की विचारधारा को स्वीकार किया है. हम सभी लोग साथ मिलकर काम कर रहे हैं. हम लोग काम के मामले में एक अलग इतिहास बनाएंगे. विधायकों ने भी कांग्रेस से इस्तीफा देकर बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की है.

Leave a Reply