‘टैंट वाले ने भी मना कर दिया कि पहले बताओ किराया कौन देगा’

गहलोत सरकार के विधायकों की बीजेपी नेताओं ने ली चुटकी, राजेंद्र राठौड़ और गजेंद्र सिंह ने शायराना अंदाज में गहलोत सरकार पर साधा निशाना, पूरे घटनाक्रम पर कांग्रेस सरकार पर कसा करारा तंज

0
सरकार के विधायकों की बीजेपी नेताओं ने ली चुटकी
सरकार के विधायकों की बीजेपी नेताओं ने ली चुटकी
Advertisement2

PoliTalks.news/Rajasthan. पिछले करीब दो सप्ताह से चल रहा राजस्थान का सियासी घमासान बदस्तूर जारी है. एक तरफ कांग्रेस अपनी ही अंदरुनी लड़ाई लड़ रही है तो दूसरी तरफ बीजेपी सरकार को घेरने का कोई मौका नहीं गवां रही है. कथित तौर पर सम्मान और प्रतिष्ठा से शुरु हुई ये लड़ाई पहले विधानसभा, उसके बाद हाईकोर्ट और अब सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गई है. सत्ताधारी सरकार के मुखिया अशोक गहलोत ने पिछले 14 दिनों से अपने विधायकों को होटल की बाड़ेबंदी में रखा हुआ है और कल एकाएक सभी को लेकर राजभवन पहुंच गए और सभी धरने पर बैठ गए. यहां जमकर नारेबाजी हुई और तो और यहीं बोरिया-बिस्तर लगाने की तैयारी होने लगी. एकबारगी तो टैंट के खूंटे गाड़ने की तैयारी भी शुरु हो गई थी लेकिन देर रात सभी वहां से बाहर आ गए. अब कांग्रेस की ओर से देशव्यापी प्रदर्शन करने की तैयारी होने लगी है जो 27 जुलाई से देशभर में किया जाने वाला है.

इसी बीच आज बीजेपी के नेता भी राजभवन जाकर महामहीम कलराज मिश्र से मिल आए हैं. वहीं राजभवन से बाहर आकर बीजेपी नेताओं कल के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेसी विधायकों के कृत्य पर जमकर निशाना साधा. इससे पहले बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने शुक्रवार को हुए पूरे घटनाक्रम पर कांग्रेस सरकार पर करारा तंज कसा. उन्होंने एक ट्वीट कर लिखा, ‘फेयरमोंट में थ्री लेयर सुरक्षा और बाड़ेबंदी से एमएलए भागने का भय और अब पता चला कि राजभवन के धरने से भी भागने के खतरे के इनपुट के चलते जल्दी उठा दिया. अब तो टैंट वाले ने भी मना कर दिया कि पहले बताओ किराया कौन देगा.’

यह भी पढ़ें: जंग और मोहब्बत में सबकुछ जायज है, प्यार की जंग के लिए भी बागी हुए थे पायलट, अब बारी राजनीति की…

वहीं, विधानसभा में उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने शायराना अंदाज में लिखा, ‘तुम्हारे पांव के नीचे कोई ज़मीन नहीं, कमाल है कि फिर भी तुम्हें यक़ीन नहीं.’ आगे राठौड़ ने कहा कि वाह सरकार वाह..राजस्थान में कोरोना का आंकड़ा 34 हजार पार कर गया है.

इधर, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने राजभवन को घेरने का बयान देने और महामहीन के समक्ष नारेबाजी पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि जहां राज्यपाल को स्वयं मुख्यमंत्री धमका कर असुरक्षित महसूस करवाए, वहां चोरी, डकैती, बलात्कार, हत्या और हिंसक झड़पों से त्रस्त राजस्थान वासियों को मुख्यमंत्री के आगे अपनी सुरक्षा के लिए गुहार लगाना बेकार है.

अपने अगले ट्वीट में बीजेपी नेता और जोधपुर सांसद गजेंद्र सिंह ने अपने ट्वीटर हैंडल पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए शायराना अंदाज में लिखा, कोर्ट में इनका था बयान, सत्य नहीं है राजा राम, लोभ ने याद दिलाया राम, इनको सन्मति दे भगवान, रघुपति राघव राजा राम.” दरअसल इस वीडियो में सभी कांग्रेसी विधायक ‘रघुपति राघव राजा राम..’ वाला भजन गुनगुना रहे थे.

यह भी पढ़ें: राजभवन के घेराव वाले बयान पर गरमाई सियासत, बीजेपी नेताओं के निशाने पर आए सीएम गहलोत

बीते दिन भी गजेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर ट्वीट के जरिए करारा हमला किया था. उन्होंने लिखा कि गहलोत जी, सत्ता लोभ में छल, कपट और धमकियों की आपकी राजनीति राजस्थान देख भी रहा है और समझ भी रहा है!!

Leave a Reply