‘प्रताप जी को पार्टी ने मंत्री तो बना दिया लेकिन इनका मन संगठन में काम करने का है’- पायलट ने ली चुटकी

मैंने प्रताप जी से कहा पसीना बहुत आ गया आपको, तो प्रताप जी ने कहा अध्यक्ष जी ऐसा नहीं है, मैं आया साइकिल पर हूं वापस भी अपने घर तक साइकिल पर ही जाऊंगा- सचिन पायलट

0
Img 20200629 Wa0139
Img 20200629 Wa0139

पॉलिटॉक्स न्यूज़/राजस्थान. प्रदेश में सत्ता और संगठन में बदलाव की सुगबुगाहट इन दिनों चरम पर है. इसी बीच पीसीसी चीफ व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट द्वारा सोमवार को पेट्रोल-डीजल के दामों में बढोतरी को लेकर कांग्रेस द्वारा दिए गए धरने में परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास को लेकर दिया गया बयान राजनीतिक गलियारों में चर्चा का विषय बना हुआ है. पायलट ने कांग्रेस के धरने के दौरान अपने संबोधन में कहा कि पार्टी ने खाचरियावास को मंत्री बनाया लेकिन इनका असली मन संगठन में काम करने का है और संगठन ही हमारी असली ताकत है.

सचिन पायलट ने धरने में परिवहन मंत्री और जयपुर जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रतापसिंह खाचरियावास के द्वारा दिए जोशीले भाषण पर टिप्पणी करते हुए कहा कि मैं प्रताप सिंह जी का भाषण सुन रहा था. मुझे लगता है कि हमें हर 6-8 हफ्ते में कोई ना कोई कार्यक्रम करना चाहिए क्योंकि इससे गला साफ हो जाता है. मंत्रालय में बैठे-बैठे बहुत धीरे-धीरे बोलना पड़ता है, बहुत जी-जी करना पड़ता है. यहां पूरे फॉर्म में आकर प्रताप जी ने भाषण दिया.

यह भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ाना समझ से परे, इसमें मोदी सरकार की हो सकती है बड़ी साजिश- सचिन पायलट

पायलट ने आगे कहा कि प्रताप जी ने लगातार 4-5 साल भाषण दिया. मुझे लगता है कि प्रताप जी को पार्टी ने मंत्री बना जिम्मेदारी दी है, लेकिन इनका असली मन संगठन में काम करने का है. संगठन ही हमारी असली ताकत है. हम सब लोग जो यहां मंत्री बने बैठे हैं, विधायक बने बैठे हैं, यह सब कार्यकर्ताओं की मेहनत से है. आप सब लोगों ने मुद्दों को लेकर हमेशा हमारा साथ दिया, आज भी वह मुद्दे हमसे दूर नहीं हैं.

इससे पहले कांग्रेस के बनीपार्क स्थित कार्यालय में आयोजित उक्त धरने में परिवहन मंत्री प्रताप सिंह पेट्रोल डीजल की कीमत के विरोध को दर्शाते हुए साईकिल से पहुंचे थे. इस पर सचिन पायलट ने अपने संबोधन की शुरुआत में खाचरियावास पर चुटकी लेते हुए कहा कि, “मुझे आज खुशी है कि हमारे शहर जिला अध्यक्ष प्रताप सिंह खाचरियावास साइकिल पर चलकर यहां धरने तक आए हैं. मैंने प्रताप जी से कहा पसीना बहुत आ गया आपको, तो प्रताप जी ने कहा अध्यक्ष जी ऐसा नहीं है, मैं आया साइकिल पर हूं वापस भी अपने घर तक साइकिल पर ही जाऊंगा.” पायलट ने आगे कहा, “असली धरना प्रदर्शन तो यही है, अच्छी बात है, आज आप घोषित कर दो नो व्हीकल डे, वह भी इन्होंने किया है.” सचिन पायलट के इस वक्तव्य से धरने में मौजूद सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने जमकर ठहाके लगाए.

Leave a Reply