‘सेंचुरी मारने के बाद आखिरकार पी.चिदंबरम को जमानत मिल ही गई’

सोशल मीडिया पर आज की हलचल

0

पॉलिटॉक्स ब्यूरो. देश के पूर्व गृहमंत्री पी.चिदंबरम (P Chidambaram) को आखिरकार सुप्रीम कोर्ट से राहत मिल ही गई और वे 106 दिन बार जेल से बाहर आ गए. उन्हें ईडी की हिरासत में सशर्त दो लाख रुपये के मुचलके पर जमानत मिली. आईएनएक्स मीडिया केस में वे पहले सीबीआई और उसके बाद ईडी की हिरासत में थे. जब से चिदंबरम जेल से बाहर निकले हैं, आते ही सोशल मीडिया पर छा गए. आज पूरे दिनभर वे टॉप ट्रेंडिंग बने रहे. चिदंबरम के जेल से बाहर आते ही एक ओर जहां कांग्रेस नेताओं ने सोशल मीडिया पर उन्हें कहा ‘वेलकम’ वहीं नितिन गड़करी ने पूर्व वित्तमंत्री पर निशाना साध दिया.

नितिन गड़करी ने पूर्व मंत्री चिदंबरम (P Chidambaram) के जेल से बाहर आने पर तंस कसते हुए कहा कि जमानत मिलने के मतलब निर्दोष होना नहीं है. अगली सुनवाई में कोर्ट में दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा. उन्होंने ये भी साफ किया कि हमारी तरफ से ये बदले की राजनीति बिलकुल भी नहीं है.

यह भी पढ़ें: पी.चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से मिली राहत, अब जाकर मिली जमानत

वहीं कांग्रेस के वायनाड सांसद राहुल गांधी ने अपने ​ट्वीटर हैंडल पर पोस्ट करते ​हुए लिखा कि चिदंबरम 106 दिन बाद बाहर आ गए. मुझे खुशी है कि SC ने उन्हें जमानत दे दी. मुझे विश्वास है कि वह निष्पक्ष सुनवाई में अपनी बेगुनाही साबित कर सकेंगे.

उधर, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी सोशल मीडिया पर उनके बाहर आने पर खुशी जाहिर करते हुए लिखा, मैं पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता चिदंबरम को 100 दिन से अधिक जेल में रहने के बाद जमानत देने के माननीय एससी के फैसले का स्वागत करता हूं. सत्य अंत में प्रबल होता है.

एक यूजर ने पी.चिदंबरम को ‘शतकवीर’ बताते हुए कहा, ‘सेंचुरी मारने के बाद पी.चिदंबरम को जमानत मिल गई. आशा है कांग्रेस के लोग तिहाड़ तेल में स्थिरता बनाए रखते हैं. कांग्रेस नेता शिवकुमार अर्दशतक और चिदंबरम शतक. अब अगला कौन?’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक प्रशंसक ग्रुप ने ट्वीटर कर लिखा, ‘तो आखिरकार चिदंबरम भी कांग्रेस के प्रतिष्ठित क्लब ‘ओबीसी’ में शामिल हो गए. ओबीसी का मतलब है आउट ऑन बेल क्लब’.

एक सोशल मीडिया यूजर ने ट्वीटर पर लिखा, ‘बीजेपी का दावा है कि पार्टी प्रतिशोध की राजनीति नहीं करती है लेकिन सभी जानते हैं कि चिदंबरम को बदले की भावना से जेल भेजा गया था. पूर्व गृहमंत्री चिदंबरम (P Chidambaram) के कार्यालय के दौरान अमित शाह को 3 महीने की जेल हुई थी. वर्तमान में अमित शाह गृहमंत्री हैं और पी.चिदंबरम को 3 महीने के लिए कैद किया गया’.

एक अन्य यूजर ने पूर्व मंत्री के बाहर आने पर चुटकी लेते हुए कहा, ‘चिडू को आउट होकर बाहर आते ​देख दुख हुआ. हम चाहते हैं कि वह 200 रन बनाकर वापिस आते’.

Leave a Reply