पूर्व प्रधानमंत्री के पोते सहित 15 के टिकट काट केजरीवाल ने 24 घण्टे पहले पार्टी में आए 8 नए चेहरों पर खेला दांव

सभी 8 नेताओं ने हाल में थामा आम आदमी पार्टी का हाथ, आधे से ज्यादा कांग्रेसी बागी, दलबदलूओं को टिकट देने पर कई विधायकों ने दिया पार्टी से इस्तीफा

0
दिल्ली विधानसभा चुनाव - अरविंद केजरीवाल
दिल्ली विधानसभा चुनाव - अरविंद केजरीवाल

पॉलिटॉक्स ब्यूरो. अगले माह फरवरी में होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी (आप) ने 70 उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है. संयोजक अरविंद केजरीवाल ने इनमें 46 मौजूदा विधायकों को टिकट मिला तो 15 के टिकट काट दिए गए. उनकी जगह 23 नए चेहरों को मौका दिया गया है. 9 खाली सीटों पर भी नए उम्मीदवारों की घोषणा की गई है. जिन लोगों के टिकट कटे, उनमें पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के पोते व उत्तर नगर विधायक आदर्श शास्त्री का नाम भी शामिल हैं. वहीं टिकट मिलने वाले उम्मीदवारों की इस सूची में कांग्रेस के वे 5 नेता भी शामिल हैं जिन्हें आप पार्टी का दामन थामे 24 घंटे भी नहीं बीते थे और उन्हें टिकट देकर पार्टी में शामिल होने का इनाम दिया गया. तीन अन्य नेताओं ने भी हाल में ही पार्टी ज्वॉइन की. बता दें, दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल नई दिल्ली तो डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया पपडग़ंज क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे.

बड़ी खबर: आम आदमी पार्टी ने जारी की उम्मीदवारों की सूची, 46 मौजूदा तो 9 नए उम्मीदवारों को मिला टिकट

हरिनगर वॉर्ड से कांग्रेस पार्टी की पूर्व पार्षद राजकुमारी ढिल्लो, पूर्व कांग्रेस नेता और समाजसेवी नवीन चौधरी (दीपू), पूर्व कांग्रेसी नेता शोएब इकबाल, कांग्रेस की ओर पालम सीट से चुनाव लड़ चुके विनय कुमार मिश्र, रोहिणी वॉर्ड से पार्षद जय भगवान उपकार, बदरपुर से दो बार विधायक रहे राम सिंह, प्रह्लाद सिंह सहानी, धनवती चंदेला के नाम इस लिस्ट में शामिल हैं.

दिल्ली की हरिनगर विधानसभा सीट से आम आदमी पार्टी ने राजकुमारी ढिल्लो को प्रत्याशी बनाया है. 2015 में यहां से आप के जगदीप सिंह विधायक बने. उन्होंने भाजपा के अवतार सिंह को करीब 26 हजार से ज्यादा मतों से हराया था.

नवीन चौधरी (दीपू) को आप पार्टी ने गांधी नगर से उम्मीदवार बनाया है. 2015 के विधानसभा चुनाव में आप के उम्मीदवार अनिल कुमार वाजपेयी यहां से 7 हजार से अधिक वोटों से से जीते थे. बीते साल आम चुनावों से पहले अनिल कुमार वाजपेयी ने आप का साथ छोड़ बीजेपी का दामन लिया.

आम आदमी पार्टी ने बवाना से जय भगवान उपकार को उम्मीद बनाया है. 2015 के चुनाव में यहां से आम आदमी पार्टी के वेद प्रकाश ने जीत हासिल की थी. ये विधानसभा सीट वेद प्रकाश के इस्तीफे के बाद रिक्त हो गई थी. 2017 में हुए उपचुनाव में आम आदमी पार्टी के राम चंदर ने बाजी मारी थी.

द्वारका विधानसभा सीट से आम आदमी पार्टी ने पूर्व सांसद महाबल मिश्र के बेटे विनय कुमार मिश्र को प्रत्याशी बनाया है. इस सीट पर 2015 में आम आदमी पार्टी के आदर्श शास्त्री ने विधायक की कुर्सी पर कब्जा जमाया था.

केजरीवाल पार्टी ने बदरपुर विधानसभा सीट से राम सिंह नेता जी को टिकट दिया है. पिछले चुनाव में यहां से आप पार्टी के नारायण दत्त शर्मा ने बाजी मारी थी. वैसे इस सीट से राम सिंह दो बार विधायक रह चुके हैं. राम सिंह को टिकट मिलने के बाद मौजूदा विधायक नारायण दत्त शर्मा ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया.

इनके अलावा पूर्व कांग्रेसी नेता शोएब इकबाल को मटिया महल से टिकट मिला है. वे इसी सीट से पांच बार विधायक रह चुके हैं. यहां से फिलहाल असीम अहमद खान विधायक हैं. इकबाल हफ्तेभर पहले पार्टी में शामिल हुए हैं. साथ ही प्रह्लाद सिंह सहानी को चांदनी चौक और धनवती चंदेला को राजोरी गार्डन से आम आदमी पार्टी ने उम्मीदवार बनाया है.

बता दें, दिल्ली में 70 विधानसभा सीटों पर मतदान होना है. दिल्ली विधानसभा चुनाव में आप पार्टी, भाजपा और कांग्रेस में त्रिकोणीय मुकाबला होने के आसार हैं. हालांकि मुख्य मुकाबला बीजेपी और आप पार्टी में है. नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख 21 जनवरी है वहीं 24 तक नाम वापिस लिए जा सकते हैं. 8 फरवरी को वोट डाले जाएंगे और 11 फरवरी को नतीजे घोषित होंगे.

Leave a Reply