Politalks News
Advertisement2

जैसे-जैसे उम्मीदवारों का एलान होता जा रहा है वैसे-वैसे देश लोकसभा चुनाव के खुमार में डूबता जा रहा है. एक ओर बड़े नेता धुंआधार सभाएं कर रहे हैं तो दूसरी ओर कार्यकर्ता मतदाताओं को अपनी पार्टी के पक्ष में करने के लिए जमकर मेहनत कर रहे हैं. वहीं, सोशल मीडिया पर राजनीतिक दलों के प्रशंसकों की सक्रियता बढ़ गई है. ये साइबर लड़ाके तरह-तरह से दावे कर रहे हैं, जिनमें से कई तेजी से वायरल हो रहे हैं.

सोशल मीडिया पर इन दिनों जयपुर शहर से कांग्रेस की उम्मीदवार ज्योति खंडेलवाल से जुड़ा एक फोटो वायरल हो रहा है. इसमें दावा किया जा रहा है कि ज्योति कांग्रेस का टिकट मिलने के बाद मंदिर जाने की बजाय दरगाह गईं. फेसबुक पर विकास जायसवाल  नाम के एक यूजर ने लिखा है, ‘ज्योति खंडेलवाल को जयपुर लोकसभा का टिकट मिलते ही दरगाह में हाज़री लगाई. देख लो क्या होने वाला है जयपुर में. सोच समझ कर वोट दें. नमो इज बेक.’

फेसबुक पर ही देवेंद्र शर्मा ने लिखा है, ‘ज्योति खंडेलवाल को जयपुर से टिकट मिलते ही सब से पहले दरगाह पर ढोक लगाई सोचिए विचार करिए जयपुर में क्या होने वाला है.’ और कई फेसबुक यूजर्स ने भी इस फोटो पर इसी तरह की पोस्ट लिखी हैं. ट्विटर और दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर भी इस दावे के साथ यह फोटो वायरल हो रही है.

‘पॉलिटॉक्स’ ने जब इस फोटो की पड़ताल की तो चौंकाने वाली सच्चाई सामने आई. वायरल फोटो ज्योति खंडेलवाल की है, लेकिन उन्हें लोकसभा का टिकट मिलने के बाद की नहीं, बल्कि पिछले साल दिसंबर में हुए विधानसभा चुनाव से पहले की है. ज्योति उस समय किशनपोल विधानसभा से कांग्रेस का टिकट मांग रही थीं. पार्टी के बड़े नेताओं के सामने दावेदारी पेश करने के अलावा वे कई धार्मिक स्थलों पर  भी गई थीं. वायरल फोटो उसी दौरान की है.

‘पॉलिटॉक्स’ की पड़ताल में सामने आया कि वायरल फोटो पिछले साल 5 अक्टूबर की है. इस दिन ज्योति खंडेलवाल जयपुर के चार दरवाजा स्थित हजरत सैयद मीर मौलाना जियाउद्दीन की दरगाह पर चादर चढ़ाने गई थीं. इस दौरान कांग्रेस के कई स्थानीय कार्यकर्ता उनके साथ थे. ज्योति खंडेलवाल ने दरगाह में जियारत की और चादर चढ़ाई. प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सादिक चौहान ने इससे जुड़ी फोटो 8 अक्टूबर को साझा की थीं. इनमें वो फोटो भी शामिल है जो फिलहाल सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

यानी ज्योति खंडेलवाल जो फोटो सोशल मीडिया पर इस दावे के साथ वायरल हो रहा है कि वे लोकसभा का टिकट मिलने के बाद शुक्रिया अदा करने मंदिर जाने की बजाय दरगाह गईं, झूठा साबित हुआ. हकीकत में जिस दिन ज्योति की उम्मीदवारी का एलान हुआ उस दिन वे अपने पति शरद खंडेलवाल के साथ दिल्ली में थीं. वे सुबह तीन बजे जयपुर पहुंचीं और सबसे पहले खोले के हनुमान मंदिर गईं. इसके बाद उन्होंने गोविन्ददेव जी मंदिर और गढ़ गणेश मंदिर में पूजा अर्चना की.

Politalks News

Leave a Reply