12 लाख के इनामी रियाज नाइकू समेत 6 आतंकियों को ढेर कर सेना ने लिया शहादत का बदला

रविवार को जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में मुठभेड़ के दौरान कार्रवाई में मारे गए एक कर्नल और एक मेजर सहित पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हुए थे, 2012 में आतंकी बना रियाज नाइकू कई आतंकी हमलों शामिल था, एक अन्य एनकाउंटर में 2 और आतंकी हुए ढ़ेर

0
Riyaz Naiko रियाज नाइकू
Riyaz Naiko रियाज नाइकू

पॉलिटॉक्स न्यूज़/जम्मू-कश्मीर. सुरक्षा बलों ने पिछले तीन दिनों में आतंकी मुठभेड़ में शहीद होने वाले कर्नल व मेजर सहित विभिन्न सुरभाबलों के 8 जवानों की शहादत का बदला ले लिया है. जम्मू-कश्मीर के अवंतीपोरा के बेगपोरा में मंगलवार से जारी एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन के कमांडर रियाज़ नायकू समेत 6 आतंकियों को ढेर कर दिया. पिछले काफी लंबे वक्त से सुरक्षाबलों को इस आतंकी की तलाश थी, कई बार उसे घेरा भी गया लेकिन इस बार वह बच नहीं पाया. 32 साल का आतंकी रियाज़ दक्षिण कश्मीर के अवंतीपोरा के पंजगाम के नाइकू गांव का रहने वाला था और इस आतंकी पर 12 लाख का ईनाम था. 2012 में आतंकी बना रियाज नाइकू कई आतंकी हमलों में शामिल रहा है.

बता दें, पिछले महीने में कश्मीर घाटी में सेना के अधिकारियों सहित देश के कम से कम 22 सुरक्षा बलों के सदस्य मारे गए हैं. रविवार को जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में मुठभेड़ के दौरान कार्रवाई में मारे गए एक कर्नल और एक मेजर सहित पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हुए थे. सोमवार को उसी इलाके में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की टीम पर हमला हुआ था जिसके कारण तीन कर्मियों की मौत हो गई थी.

बताया जाता है कि नाइकू पहले लश्कर-ए-तैयबा में शामिल हुआ था, बाद में हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया. नाइकू 2017 में कश्मीर में हिज्बुल का चीफ बना था. आतंकी बुरहान वानी के बाद आतंक का सबसे बड़ा चेहरा था. जम्मू-कश्मीर पुलिस के आईजी विजय कुमार ने नाइकू के मारे जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि मंगलवार को सुरक्षाबलों को इनपुट मिला था कि रियाज़ नाइकू बेगपोरा आ रहा है, जो उसका ही गांव था. यहां वो अपने परिवार से मिलने आ रहा था और गांव में ही अपने अड्डे में छिपा हुआ था. रियाज़ नाइकू अपनी मां की तबीयत का हाल जानने आया था.

जैसे ही इस बात का इनपुट मिला तो सुरक्षाबलों ने गांव को पूरी तरह से घेर लिया गया. जिस घर में रियाज नाइकू छिपा हुआ था, वहां पर दो-तीन अन्य आतंकी भी छिपे हुए थे. जिन्हें अब सुरक्षाबलों ने ढेर कर दिया. सुरक्षाबलों ने बुधवार को एक घर को ही उड़ा दिया, जिसमें रियाज़ नाइकू छुपा हुआ था. बाद में इस बात की पुष्टि हो गई कि मरने वाला रियाज नाइकू ही था.

आईजी विजय कुमार ने बताया कि कल सुबह से इसके खिलाफ सर्च चल रहा था, जो कि अब इसे मार दिया गया है. इसके साथ जितने अन्य आतंकी थे, उन सभी को मार गिराया गया है. विजय कुमार ने आगे बताया कि रियाज नायकू कई तरह के हमलों में शामिल था, वो यहां लोगों को आतंकी संगठन में शामिल होने के लिए उकसाता था. अब अगर रियाज नायकू मारा गया है तो घाटी में आतंकी संगठन में भर्ती होने में कमी आएगी. वहीं विजय कुमार ने यह भी बताया कि सुरक्षा के हिसाब से अभी जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट को बंद किया गया है और वॉयस कॉलिंग को भी बंद कर दिया गया है, ताकि किसी तरह की अफवाह ना फैल पाए. इस ऑपरेशन को जम्मू-कश्मीर पुलिस और भारतीय सेना के सुरक्षाबलों के द्वारा एक साथ चलाया गया.

यह भी पढ़ें: भारत की पाक को चेतावनी- कश्मीर के साथ गिलगित-बाल्टिस्तान भी फौरन खाली करे पाकिस्तान

वहीं जिले के पंपोर इलाके के शरशाली गांव में एक अलग एनकाउंटर में सुरक्षा बलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया है. सूत्रों के अनुसार, बेगपोरा एनकाउंटर सुबह करीब 9 बजे शुरू हुआ और इसके बाद कश्‍मीर घाटी के सभी 10 जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवा को सस्‍पेंड कर दिया गया. पुलिस ने सुबह 9.07 बजे ट्वीट करके इस ऑपरेशन और शीर्ष कमांडर के घेरे जाने के बारे में जानकारी दी थी. इसके कुछ मिनट पहले पुलिस ने ट्वीट किया था “एक खास इनपुट पर कल रात बेगपोरा, अवंतीपोरा पर पुलिस ने ऑपरेशन छेड़ा है. यह ऑपरेशन अभी जारी है.

Leave a Reply