सपा की सदस्यता ग्रहण कर योगी सरकार पर भड़के अखिलेश, सलाह वाले बयान राजभर ने किया पलटवार

अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी की सभी इकाइयों को भंग कर आज से शुरू किया सदस्यता अभियान, मुलायम के गुरु ने दिलाई अखिलेश को पार्टी की सदस्यता तो पत्रकार वार्ता कर यादव ने योगी सरकार के 100 दिन पुरे होने पर साधा निशाना, राजभर के बयानों पर किया पलटवार, कहा- महाराष्ट्र में तो कर लिया स्वीकार कि ED सरकार है, लेकिन मध्य प्रदेश में कैसे बनी सरकार?

0
'...पीछे से ऑपरेट हो रही है राजनीति'
'...पीछे से ऑपरेट हो रही है राजनीति'
Advertisement2

Politalks.News/UttarPradesh. उत्तरप्रदेश की योगी आदित्यनाथ की नई सरकार को 100 दिन पुरे हो चुके हैं. ऐसे में सीएम योगी एवं पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश का माहौल है. सोमवार को सरकार के 100 दिन के कामकाज का ब्यौरा देने के लिए सीएम योगी ने एक प्रेसवार्ता भी की लेकिन अब सरकार के दावों को लेकर विपक्ष मुखर हो गया है. वहीं उत्तरप्रदेश की दो सीटों पर हुए उपचुनाव में मिली हार के बाद सोमवार देर शाम सपा प्रमुख ने पार्टी की सभी इकाइयों को भंग कर दिया था. जिसके बाद आज सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने खुद पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर सदस्यता अभियान की शुरुआत की. इस दौरान अखिलेश यादव ने योगी सरकार के 100 दिन पुरे होने पर निशाना साधा और कहा कि, ‘सरकार की उपलब्धियों की पोल खुल गई है. जब उनके डिप्टी सीएम को पता चला कि बिना उनसे पूछे ही तबादला हो गया.’ वहीं राजभर के सलाह देने वाले सवाल पर अखिलेश ने कहा कि, ‘मुझे नहीं है किसी की सलाह की जरूरत. अब अखिलेश के इस बयान पर राजभर के बेटे की प्रतिक्रिया सामने आई है.

पार्टी की सभी इकाइयों को भंग करने के बाद उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने मंगलवार को लखनऊ स्थित अपने कार्यालय में पार्टी के सदस्य्ता अभियान की शुरुआत की. इस दौरान मुलायम सिंह यादव के गुरु उदय प्रताप सिंह ने अखिलेश को पार्टी की सदस्य्ता ग्रहण कराई. इस दौरान पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘समाजवादी पार्टी का आज से सदस्यता अभियान शुरू हुआ है, यह अभियान लगातार चलता रहेगा. लोकतंत्र बचाने के लिए समाजवादी पार्टी के लोग आगे आ रहे हैं जिसमें सहयोग करें, मदद करें और साथ जुड़ें. समाजवादी पार्टी के सभी लीडर, सभी पदाधिकारी जो पूर्व में थे वो गांव गांव और घर घर जाकर सदस्यता अभियान चलाएंगे. पार्टी की नीतियों, कार्यक्रमों और पार्टी की उपलब्धियों की जानकारी भी लोगों तक पहुंचाएंगे.’

यह भी पढ़े: चार बेल्ट अगर राहुल गांधी को पड़ जाते तो इटली तक के राज बाहर आ जाते- प्रज्ञा ठाकुर का जुबानी हमला

प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए अखिलेश ने कहा कि, ‘जिन जिन राज्यों में समाजवादी पार्टी की यूनिट है, तमिलनाडु, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, राजस्थान आदि वहां सदस्यता का अभियान चलेगा.’ इस दौरान अखिलेश यादव ने प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की नई सरकार के 100 दिन पुरे होने पर भी निशाना साधा. अखिलेश ने कहा कि, ‘सरकार की 100 दिन की उपलब्धि की पोल खुल गई है. डिप्टी सीएम लखनऊ छोड़कर गये और जब वापस लौटे तो पता चला कि उनके बिना पूछे ट्रांसफर हो गये. इससे पता चलता है कि सरकार को पीछे से कोई चला रहा है. सरकार में कुछ ऐसी ताकत हैं जो पीछे से काम कर रहीं हैं. सरकार को सिर्फ 100 दिन नहीं बल्कि पांच साल और 100 दिन की उपलब्धि बतानी चाहिए.’

प्रदेश में बढ़ती बेरोजगारी, पेपर लीक सहित अन्य मामलों को लेकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘पिछले पांच साल में जो धांधली, पेपर लीक आदि हुए हैं उनका श्रेय भी योगी सरकार को लेना चाहिए. यूपी दरोगा भर्ती में भी बड़े पैमाने पर धांधली हुई. स्क्रीन शेयर करके पेपर लीक हुआ और जो जेल में थे वो भी भर्ती हो गये. सरकार बताये कि नौकरी मिलेगी या पेपर लीक, धांधली में ही नौकरी चली जाएगी. प्रदेश की योगी सरकार अब भी जिन चीजों का उद्घाटन कर रही है, वह सपा कार्यकाल की हैं. लखनऊ में लू-लू मॉल का उद्घाटन होने वाला है वह भी समाजवादी पार्टी के कार्यकाल में पूरा हुआ है.’

यह भी पढ़े: KCR जाएंगे सचिवालय तो खो बैठेंगे मुख्यमंत्री की कुर्सी- तांत्रिक की सलाह का अमित शाह ने किया खुलासा

महाराष्ट्र में हुए सत्ता परिवर्तन का जिक्र करते हुए पत्रकार वार्ता के दौरान अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार का जिक्र करते हुए अखिलेश बोले कि, ‘कांग्रेस सत्ता में थी तो कांग्रेस भी विपक्ष के पीछे सीबीआई और ईडी लगाती थी. उसी रास्ते पर भारतीय जनता पार्टी भी चल रही. महाराष्ट्र में तो स्वीकार कर लिया कि ED सरकार है लेकिन मध्य प्रदेश में सरकार कैसे बनी? कहते हैं कि हम चुनाव हार गए क्या अधिकारियों ने चुनाव में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी नहीं की. ये सब जानते हैं कि उपचुनाव में क्या हुआ था. वोटरों का नाम काटा गया था. हमने इलेक्शन कमिशन से भी शिकायत की थी कि कैसे वोट नहीं डालने दिए गए, वोट काटे गए लेकिन हुआ कुछ नहीं.’

वहीं पत्रकार वार्ता के दौरान जब अखिलेश से पुछा गया कि आप उपचुनाव में प्रचार के लिए क्यों नहीं गए तो उन्होंने कहा कि, ‘मुझे चुनाव के दौरान भरोसा दिया गया था कि मुझे आने की जरुरत नहीं है. हमारी जीत होगी लेकिन बीजेपी की कारस्तानियां सबने देखि हैं.’ वहीं जब ओमप्रकाश राजभर की नाराजगी पर अखिलेश से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि, ‘आजकल राजनीति पीछे से ऑपरेट हो रही है, कई बार पीछे से ऑपरेट होने के चलते लोग इस तरह के बयान देते रहते हैं. ऐसे में किसी को भी हमें सलाह देने की जरूरत नहीं है.’ वहीं अखिलेश यादव के इस बयान के सामने आने के बाद ओमप्रकाश राजभर के बेटे की प्रतिक्रिया भी सामने आई है.

यह भी पढ़े: एक बार मेरे कान में बोल देते, मैं उद्धव से बात करके शिंदे को बनवा देता मुख्यमंत्री- अजीत पवार

सुभासपा अध्यक्ष ओपी राजभर के बेटे व SBSP के राष्ट्रीय प्रवक्ता अरुण राजभर ने अखिलेश पर पलटवार कर कहा कि, ‘अखिलेश यादव जी सच हमेशा कड़वा होता है, राजनीति पर्दे के पीछे कौन कर रहा? जब खुद अपने दल के कार्यकर्ताओं का सुझाव सलाह नहीं मानते आप तो हम जैसे छोटी पार्टी के सहयोगियों की बात क्या मानेग़े. राजनीति में परिणाम जिस प्रकार आ रहे है, भविष्य में सुधारा नहीं हुआ तो नुक़सान सबका है.’

Leave a Reply