उद्धव की पीएम मोदी से मुलाकात के बाद अब संजय राउत के बयान से गरमाई सियासत, कुछ तो गड़बड़ है!

मेरा मानना है कि नरेंद्र मोदी देश और भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेता हैं- संजय राउत, ऐसा संशय पैदा किया जा रहा है कि राज्य सरकार कितने समय तक चल पाएगी, लेकिन शिवसेना ऐसा दल है जिस पर भरोसा किया जा सकता है, बालासाहब ठाकरे ने इंदिरा गांधी के प्रति अपने वचन का सम्मान किया था- शरद पवार

0
844211 sanjay raut and pm modi
844211 sanjay raut and pm modi
Advertisement2

Politalks.News/Maharashtra. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की पीएम मोदी से मुलाक़ात के बाद सियासी गलियारों में ये चर्चा होने लगी कि शिवसेना और बीजेपी एक बार फिर एक साथ आने वाली है, और हो भी क्यों ना सूबे के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद बयान ही कुछ ऐसा दिया कि राजनीतिक गलियारे खुद ब खुद बोल उठे कि ‘कुछ तो गड़बड़ है‘. हालांकि उद्धव के इस बयान के बाद रांकपा प्रमुख एवं दिग्गज नेता शरद पंवार ने एंट्री लेते हुए फ़िल्मी स्टाइल में शिवसेना को वो कसम याद दिलाई जिसमें बालासाहब ठाकरे ने इंदिरा गांधी के प्रति अपने वचन का सम्मान किया था. शरद पंवार ने सियासी सुगबुगाहट पर विराम लगाते हुए कहा कि महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी सरकार पुरे 5 साल चलेगी, तो वहीं शिवसेना नेता संजय राउत ने नरेंद्र मोदी को देश का सबसे बड़ा नेता बताते हुए सूबे की राजनीति को एक बार फिर गरमा दिया.

शरद पवार का ये बयान उस बात पर आया जब मंगलवार को सूबे के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी से मुलाकात के बाद पत्रकार वार्ता में कहा था कि ‘मैं कोई नवाज शरीफ से मिलने नहीं गया था. अगर मैं उनसे व्‍यक्तिगत तौर पर मिला तो इसमें गलत क्‍या है? पत्रकार वार्ता के दौरान ठाकरे ने ये भी कहा था कि राजनीतिक तौर पर तो शिवसेना बीजेपी के साथ नहीं है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है क‍ि हमारा संबंध टूट गया है. उद्धव ठाकरे के इस बयान के बाद देश की राजनीति में सुगुबुगाहट तेज हो गई.

यह भी पढ़ें: मोदी-योगी के बीच तनातनी की वजह बने एके शर्मा को लेकर हुआ राजीनामा! बड़ी जिम्मेदारी मिलना तय

उद्धव ठाकरे के इस बयान के डैमेज कंट्रोलर के रूप शरद पवार सामने आये और अपने ही अंदाज में शिवसेना और बीजेपी एक बार फिर साथ आने की अटकलों पर विराम लगा दिया. शरद पंवार ने कहा कि इस मुलाक़ात को बेवजह राजनीतिक विश्लेषक तवज्जों दे रहें हैं. प्रदेश में महाविकास अघाड़ी पुरे 5 साल का कार्यकाल पूरा करेगी.

शरद पवार ने प्रदेश में चल रही राजनीतिक सरगर्मियों पर विराम लगाते हुए कहा कि ऐसा संशय पैदा किया जा रहा है कि राज्य सरकार कितने समय तक चल पाएगी. लेकिन शिवसेना ऐसा दल है जिस पर भरोसा किया जा सकता है. बालासाहब ठाकरे ने इंदिरा गांधी के प्रति अपने वचन का सम्मान किया था. सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी और अगले लोकसभा तथा विधानसभा चुनावों में भी अच्छा प्रदर्शन करेगी. पवार ने आगे कहा कि हमने अलग-अलग विचारधाराओं वाले दलों की सरकार बनाई. हमने कभी नहीं सोचा था कि एक दिन शिवसेना के साथ सरकार बनाएंगे क्योंकि हमने कभी मिलकर काम नहीं किया था. लेकिन अनुभव अच्छा है और तीनों दल कोविड-19 महामारी के दौरान मिलकर बेहतर काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें: मेरे मरने के बाद ही होगा ऐसा संभव- जितिन प्रसाद की तरह कांग्रेस छोड़ने के सवाल पर बोले कपिल सिब्बल

अब इस देश की राजनीति सब कुछ सही सही हो जाए ऐसा तो बिलकुल नहीं हो सकता. उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी से अच्छे संबंध होने की बात कही तो शरद पवार ने शिवसेना से अच्छे संबंध होने की बात कही, और अब शिवसेना के दिग्गज नेता एवं राज्यसभा सांसद संजय राउत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश और भारतीय जनता पार्टी का शीर्ष नेता बताया. संजय राउत के इस बयान ने शरद पवार के डैमेज कण्ट्रोल बयान में छोटा ही सही लेकिन सुराख़ तो कर ही दिया है.

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि मेरा मानना है कि नरेंद्र मोदी देश और भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेता हैं. इस बात से कोई इनकार नहीं कर सकता कि पिछले 7 सालों में भारतीय जनता पार्टी को जो कामयाबी मिली है, वह सिर्फ नरेंद्र मोदी की वजह से है. संजय राउत के इस बयान के बाद सूबे की राजनीति क्या नया मोड़ लेगी ये तो पता नहीं हां लेकिन कांग्रेस ने इस पुरे ही मामले में चुप्पी साध रखी, क्योंकि कांग्रेस भी यही सोच रही होगी की हमसे हमारा फैलाया हुआ ही नहीं सिमट रहा दूसरों के बीच में क्यों आएं.

Leave a Reply