‘ठाकरे तुम्हारी ‘सत्ता की बाबरी’ के ढांचे को गिराए बिना न तो शांत बैठेगा और न ही रुकेगा ये फडणवीस’

उद्धव ठाकरे, बालासाहेब ठाकरे मैदे की बोरी कह कर बुलाते थे शरद पवार को और तुम उसी मैदे की बोरी के समक्ष नाक रगड़ कर बने हो मुख्यमंत्री, सिर्फ बाघ की फोटोग्राफी करने से कोई बाघ नहीं बन जाता, बाघ बनने के लिए सीना आगे कर चुनौतियों का करना पड़ता है सामना, अब तो हनुमान चालीसा की शुरुआत हो गई है और अब लंका का दहन होगा, मेरे साथ खड़ी है ये सारी वानर सेना, उद्धव की सभा मास्टर सभा नहीं लाफ्टर सभा थी- देवेंद्र फडणवीस

0
देवेंद्र फडणवीस ने साधा उद्धव ठाकरे पर निशाना
देवेंद्र फडणवीस ने साधा उद्धव ठाकरे पर निशाना
Advertisement2

Politalks.News/DevendraFadnavis/Maharashtra. सिर्फ बाघ की फोटोग्राफी करने से कोई बाघ नहीं बन जाता. बाघ बनने के लिए सीना आगे कर चुनौतियों का सामना करना पड़ता है, लेकिन मैं ये साफ़ कह दूं मेरी पीठ में खंजर घोंपकर मेरे राजनीतिक वजन को कम कर सकते हैं, मगर धयान रहे यही देवेंद्र फडणवीस तुम्हारी ‘सत्ता की बाबरी’ के ढांचे को गिराए बिना न तो शांत बैठेगा और न ही रुकेगा… एक दिन पहले उद्धव ठाकरे द्वारा बीजेपी पर किए गए जुबानी हमलों का देवेंद्र फडणवीस ने इन शब्दों के साथ तीखा पलटवार किया है. महाराष्‍ट्र के पूर्व मुख्‍यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने बीते रोज भाजपा की महासंकल्प बैठक की. बैठक के दौरान देवेंद्र फडणवीस ने जहां ठाकरे सरकार को आड़े हाथ लिया तो वहीं AIMIM नेता द्वारा ओरंगजेब की कब्र पर चादर चढ़ाने के मामले में निशाना साधते हुए कहा कि, ‘औरंगजेब की पहचान पर कुत्ता भी पेशाब नहीं करेगा.’

‘सत्ता की बाबरी’ के ढांचे को गिराए बिना फडणवीस नहीं बैठेगा शांत और ना ही रुकेगा
महाराष्‍ट्र के पूर्व मुख्‍यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने रव‍िवार को भाजपा महासंकल्प बैठक की. बैठक में बीजेपी नेताओं संग हनुमान चालीसा पाठ के बाद देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्‍ट्र के मुख्यमंत्री और श‍िवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) पर जोरदार हमला बोला. देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि, ‘मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लगता है कि मेरी पीठ में खंजर घोंपकर वे मेरे राजनीतिक वजन को कम कर सकते हैं. मगर वे यह बात ध्यान में रखें कि यही देवेंद्र फडणवीस तुम्हारी ‘सत्ता की बाबरी’ के ढांचे को गिराए बिना न तो शांत बैठेगा और न हीं रुकेगा. उद्धव ठाकरे यह भी ध्यान रखो कि बालासाहेब ठाकरे मैदे की बोरी कह कर शरद पवार को बुलाते थे और तुम उसी मैदे की बोरी के समक्ष नाक रगड़ कर मुख्यमंत्री बने हो.’

यह भी पढ़े: भगवा टोपी पहनने वाले अगर प्रखर हिंदुत्ववादी तो फिर RSS की टोपी काली कैसे? संघ दे जवाब- सामना

बाल ठाकरे बाघ थे परंतु अब देश में सिर्फ एक शेर है नरेंद्र मोदी- फडणवीस
देवेंद्र फडणवीस ने आगे कहा कि, ‘सिर्फ बाघ की फोटोग्राफी करने से कोई बाघ नहीं बन जाता. बाघ बनने के लिए सीना आगे कर चुनौतियों का सामना करना पड़ता है. हां, यह सच है कि बाल ठाकरे बाघ थे परंतु अब इस देश में सिर्फ एक ही शेर है और उसका नाम नरेंद्र मोदी है.’ वहीं बीजेपी की महासंकल्प बैठक से पहले देवेंद्र फडणवीस ने बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ हनुमान चालीसा का पाठ भी किया. हनुमान चालीसा का जिक्र करते हुए देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि, ‘अब तो हनुमान चालीसा की शुरुआत हो गई है और अब लंका का दहन होगा. मेरे साथ ये सारी वानर सेना खड़ी है. ये सब मिलकर लंका का दहन करेंगे. ये जो हालात है, ये सब तो सुधर जाएंगे लेकिन जाते-जाते कई लोग निगाहों से उतर जाएंगे.’ देवेंद्र फडणवीस यहीं नहीं रुके उन्होंने उद्धव ठाकरे की सभा की तुलना कौरवों की सभा से की तो वहीं बीजेपी की सभा को पांडवों की सभा बताया.

ठाकरे की सभा थी कौरवों की सभा और यह पांडवों की सभा है- फडणवीस
सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि, ‘उद्धव की सभा को मास्टर सभा कहा जा रहा था, लेकिन उनका भाषण सुनने के बाद समझ में आया कि यह लॉफ्टर सभा थी. कल हमको लगा कि कुछ तेजस्वी सुनने को मिलेगा, कुछ अलग सुनने मिलेगा, लेकिन लाफ्टर सभा थी. कल की सभा कौरव की सभा थी, आज की यह सभा पांडवों की सभा है. उद्धव देश के पहले मुख्यमंत्री होंगे, जिन्होंने 2 सालों में एक भी सभा राज्य के विकास के लिए नहीं की. बाला साहेब ने भी नहीं सोचा होगा क‍ि उनके पुत्र के कार्यकाल में हनुमान चालीसा पढ़ना गुनाह होगा और औरंगजेब के कब्र पर शीश झुकाने वाला गौरव की बात होगी.’

यह भी पढ़े: संघ प्रचारक है इस देश का प्रधानमंत्री, RSS और BJP का क्यों नहीं हो जाता विलय?- CM गहलोत

औरंगजेब की पहचान पर कुत्ता भी पेशाब नहीं करेगा- फडणवीस
इस दौरान देवेंद्र फडणवीस ने AIMIM नेता द्वारा ओरंगजेब की कब्र पर चद्दर चढाने और फूले चढाने का जिक्र करते हुए देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि, ‘अकबरुद्दीन ओवैसी औरंगजेब को उनकी कब्र पर श्रद्धांजलि देते हैं, इस बात से शर्म आनी चाहिए. औरंगजेब की पहचान पर कुत्ता भी पेशाब नहीं करेगा.’ फडणवीस ने कहा क‍ि, ‘संभाजी राजे की हत्या करने वाला औरंगजेब की कब्र पर ओवैसी शीश झुकाता है. उद्धव ठाकरे को शर्म आनी चाहिए, चुल्‍लू भर पानी में डूब मरना चाहिए. जो शिवाजी का नाम लेते थे उन्होंने अपनी तलवार म्‍यान में रख दी लेकिन हम अपनी तलवारों से हिंदुत्व की लड़ाई लड़ेंगे.’

लात गधा मारता है, असली हिन्दू ठोकर मारता है- फडणवीस
शनिवार को हुई मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के भाषण पर कटाक्ष करते हुए देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि, ‘मुंबई को हमें अलग करना है, लेकिन महाराष्ट्र से नहीं, तुम्हारे करप्शन और गुनाह से. कल का उद्धव ठाकरे का भाषण सोनिया गांधी को समर्पित था.’ देवेंद्र फडणवीस ने आगे कहा कि, ‘मैं सोने का चम्‍मच लेकर पैदा नहीं हुआ हूं. कार सेवक का मज़ाक उड़ाने वालों को कहना चाहता हूं जब भी ज़रूरत होगी तो दोबारा कार सेवक बनेंगे. उद्धव ठाकरे तुम्हारा हिंदुत्‍व गधा धारी है, तुमने कहा कि हमें लात मारी, लात गधा मारता है, असली हिन्दू ठोकर मारता है. जब मैंने कहा कि राम आंदोलन में तुम्हारा एक भी नेता नहीं था तो इन्हें कितनी मिर्ची लगी. उद्धव जी मैं जुलाई में नगरसेवक बना. अगस्त में एडवोकेट बना और यही देवेंद्र फडणवीस राम आंदोलन में गया था. देवेंद्र फडणवीस सिर्फ आंदोलन में नहीं गया था बल्कि बदायूं की जेल में भी था. उसी बदायूं जेल में हम इंतजार करते थे क‍ि कोई शिवसैनिक आएगा लेकिन कोई शिवसैनिक नहीं आया.

Leave a Reply