शिक्षा संकुल से ही लीक हुआ था REET का पेपर- डॉ किरोड़ी मीणा के दावे पर अब लगाई SOG ने मुहर

मरुधरा की सियासत का गर्माना तय, SOG ने माना- 'शिक्षा संकुल से लीक हुआ था रीट का पेपर, रामकृपाल ने REET पेपर के बदले उदाराम को 1 करोड़ 22 लाख रुपये थे दिए', किरोड़ी लाल मीणा के पुराने दावे निकले सच, मीणा का बयान- मैं पहले से कहता आ रहा हूँ, पेपर लीक होने में बोर्ड अध्यक्ष जारोली का हाथ, REET पेपर लीक को लेकर किरोड़ी लगातार कर रहे हैं आंदोलन, कई बार दे चुके हैं धरना

0
डॉ किरोड़ी मीणा के दावे पर अब लगाई SOG ने मुहर
डॉ किरोड़ी मीणा के दावे पर अब लगाई SOG ने मुहर
Advertisement2

Politalks.News/Rajasthan.  रीट पेपर लीक (REET Exams 2021) मामले को लेकर आज SOG ने बड़े खुलासे किए हैं उसके बाद मरुधरा (Rajasthan) की सियासत में भूचाल आना तय है. SOG ने माना है कि, ‘शिक्षा संकुल, जयपुर में स्थित पेपर संग्रहण केन्द्र से परीक्षा से पहले 24 सितंबर को ही REET पेपर निकाल लिया गया था और इसे 1 करोड़ 22 लाख में बेचा गया था’. SOG ने पूरे मामले में पूरे गिरोह का पर्दाफाश कर दिया है. SOG के इस खुलासे के बाद राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ी लाल मीणा (Kirodi Lal Meena) ने कहा है कि, ‘मैं तो कब से कहता आ रहा हूं, अब तो एसओजी ने भी मान लिया की पेपर शिक्षा संकुल से लीक हुआ है इसमें माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष जारोली (DP JAROLI) का हाथ है’.

एसओजी ने भी माना पेपर हुआ है लीक- किरोड़ी लाल
राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ी लाल मीणा ने कहा है कि, ‘आज एसओजी ने माना है कि पेपर शिक्षा संकुल से लीक हुआ है. मैं इस बात को शुरू से ही कह रहा हूं कि पेपर आउट हुआ है और शिक्षा संकुल से ही हुआ है. जिसमें ज़िला कोऑर्डिनेटर प्रदीप पाराशर जो की सरकारी व्यक्ति नहीं है, माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अध्यक्ष जारौली का हाथ है. पाराशर ने ही एक ब्लैक लिस्टेड कॉलेज को रीट का सेंटर बनाया जिसके उस समय मालिक राम कृपाल ही थे जिसे की आज SOG ने पकड़ा है’.

यह भी पढ़ें- मास्टरमाइंड भजनलाल एक प्यादा, सरगना तो है जारौली, REET धांधली की हो CBI जांच- किरोड़ी मीणा

किरोड़ी कर चुके हैं मामले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग

राज्यसभा सांसद किरोड़ी मीणा ने कल ही गहलोत सरकार को तो आड़े हाथ लिया ही है, साथ ही आरोपी भजनलाल को प्यादा और माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डीपी जारौली को सरगना बताया था. किरोड़ी मीणा ने मामले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग करते हुए कहा था कि, ‘मैं शुरुआत से ही कह रहा हूं कि रीट पेपर लीक मामले का सच CBI जांच के बिना सामने नहीं आएगा. भजनलाल तो सिर्फ़ प्यादा है, सरगना तो स्वयं माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. डीपी जारोली हैं उनकी निगरानी में पेपर लीक हुआ, जिसके सबूत मैं पहले ही सार्वजनिक कर चुका हूं. डॉ. डीपी जारोली से कड़ी पूछताछ हो तो एक दिन में दूध का दूध और पानी का पानी हो जाए. लेकिन SOG ऐसा नहीं करेगी, क्योंकि बोर्ड अध्यक्ष को सत्ता का सरंक्षण मिला हुआ है. तभी तो वे सामने आए तथ्यों का जवाब देने की बजाय राजनैतिक बयानबाजी कर बचने की कोशिश करते हैं’

SOG ने माना शिक्षा संकुल से लीक हुआ था पेपर, दिए थे 1 करोड़ 22 लाख- SOG

REET Exam में पेपर आउट मामले में SOG ने बड़ा खुलासा किया है. एसओजी ने पेपर आउट करने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर दिया है. अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस, एटीएस एवं एसओजी अशोक राठौड़ ने बताया कि, ‘एसओजी द्वारा रीट परीक्षा पेपर आउट प्रकरण में मुख्य आरोपी भजनलाल को हाल ही में गिरफ्तार किया गया था. भजनलाल से पूछताछ करने पर सामने आया कि REET का पेपर भजनलाल विश्नोई को उदाराम विश्नोई द्वारा दिया गया था. उदाराम को रामकृपाल मीणा ने दिया था. रामकृपाल मीणा शिव शक्ति पब्लिक स्कूल, त्रिवेणी नगर, गोपालपुरा बाईपास में है. शिक्षा संकुल, जयपुर में स्थित पेपर संग्रहण केन्द्र से परीक्षा से पहले 24 सितंबर को ही पेपर निकालकर दिया गया था. रामकृपाल ने REET पेपर के बदले उदाराम को 1 करोड़ 22 लाख रुपये दिए थे’.

यह भी पढ़ें- आदिवासी बच्चियों को गुजरात में बेचने के विरोध में उदयपुर कलेक्ट्रेट में धरने पर बैठे डॉ किरोड़ी मीणा

आरोपियों से पूछताछ में जुटी है SOG

एसओजी द्वारा उदाराम व रामकृपाल मीणा से पूछताछ की जा रही है और प्रकरण से जुड़े गिरोह के अन्य अभियुक्तगणों व लाभार्थियों की जानकारी प्राप्त की जा रही है. प्रकरण में अब तक कुल 35 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जा चुका है. गिरफ्तार अभियुक्तों से पेपर लीक प्रकरण से जुड़े अन्य अभियुक्तों के बारे में गहन पूछताछ व अनुसंधान किया जा रहा है.

Leave a Reply