कूचबिहार की हिंसा पर ममता ने मांगा अमित शाह का इस्तीफा तो PM मोदी ने दीदी को ही ठहराया जिम्मेदार

ममता बनर्जी ने बंगाल में कूचबिहार के सितलकुची में गोलीबारी में मारे गए चार लोगों को लेकर अमित शाह का इस्तीफा मांगा, तो वहीं पीएम मोदी ने हिंसा के लिए ममता की भड़काऊ बयानबाजी को ठहराया जिम्मेदार, निर्वाचन आयोग को भी बनर्जी ने लिया आड़े हाथ

0
कूचबिहार की हिंसा पर ममता ने मांगा अमित शाह का इस्तीफा
कूचबिहार की हिंसा पर ममता ने मांगा अमित शाह का इस्तीफा
Advertisement2

Politalks.News/WestBengalElection. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में शनिवार को पांच ज़िलों की 44 सीटों पर हुआ चौथे चरण का मतदान खत्म हो गया है. मिली जानकारी के अनुसार शाम 5 बजे तक पश्चिम बंगाल में 76.16 फीसदी वोटिंग हुई है. वहीं आज हुए मतदान के दौरान कूचबिहार में हिंसा भी भड़क गई, जिसके बाद केंद्रीय सुरक्षाबलों की फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई. वहीं इस मामले में पहले से गरमाई हुई पश्चिम बंगाल की सियासत और ज्यादा तप गई. एक और जहां तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने बंगाल में कूचबिहार के सितलकुची में गोलीबारी को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री का इस्तीफा मांगा है, तो वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कूचबिहार में हुई हिंसा के लिए ममता बनर्जी और उनकी भड़काऊ बयानबाजी को जिम्मेदार ठहराया है.

आपको बता दें, पश्चिम बंगाल में चौथे चरण के लिए मतदान शुरू होने के घंटेभर बाद ही वहां हिंसा की घटनाएं सामने आने लगीं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शनिवार को पश्चिम बंगाल के कूचबिहार जिले में स्थानीय लोगों के हमले के बाद CISF के जवानों ने गोलीबारी की, जिसमें 4 लोगों की मौत हो गई. स्थानीय लोगों ने सुरक्षा बलों की बंदूकें छीनने की भी कोशिश की. इसके बाद टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने लोगों से शांत रहने की अपील की और सीआरपीएफ पर सीतलकूची में मतदाताओं पर गोलियां चलाने का आरोप लगाया. हालांकि सीआरपीएफ ने साफ कर दिया है कि कूचबिहार के सीतलकुची में बूथ संख्या-126 के बाहर ना तो CRPF की तैनाती थी और ना ही वो इस घटना में किसी तरह से शामिल है.

ये भी पढ़ें-BJP और RSS की थी अंग्रेजों से मिलीभगत, आजादी के आंदोलन में नहीं कटवाई अंगुली भी- CM गहलोत

वहीं ममता बनर्जी ने एक जनसभा में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस बात का जवाब देने को कहा कि राज्य विधानसभा के चौथे चरण के मतदान के दौरान कूचबिहार जिले के सीतलकूची में केंद्रीय बलों की गोलीबारी में लोगों की जानें क्यों गईं. उन्होंने दावा किया कि केंद्रीय बलों के ‘अत्याचार’ को देखकर उन्हें काफी समय से ऐसा कुछ होने की आशंका थी.

Patanjali ads

निर्वाचन आयोग को आनी चाहिए शर्म
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, “इतने लोगों को मारने के बाद वे (निर्वाचन आयोग) कह रहे हैं कि आत्मरक्षा में गोलीबारी की गई, उन्हें शर्म आनी चाहिए, यह एक झूठ है. सीआरपीएफ ने मतदान के लिए पंक्ति में खड़े लोगों पर गोलीबारी की और सीतलकूची में चार लोगों को मार दिया. मुझे इस बात की लंबे समय से आशंका थी कि केंद्रीय सुरक्षा बल इस प्रकार की कार्रवाई करेंगे. बीजेपी जानती है कि उसने लोगों का जनाधार खो दिया है, इसलिए वह लोगों को मारने का षड्यंत्र रच रही है.’’

यही नहीं ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि यह अमित शाह की रची हुई साजिश का हिस्सा था. बनर्जी ने कहा, “बहरहाल, मैं सभी से शांत रहने और शांतिपूर्ण रूप से मतदान करने की अपील करूंगी. उन्हें हराकर मौत का बदला लें. इस चुनाव में मारे गए लोगों की संख्या तीन साल पहले हुए पंचायत चुनाव से कहीं अधिक है.” ममता ने आगे कहा, “यदि आप चुनाव की शुरूआत होने से ले कर अब तक मारे गए लोगों की कुल संख्या की गिनती करें, तो करीब 17-18 लोग मारे जा चुके हैं. कम से कम 12 लोग केवल हमारी पार्टी के थे. निर्वाचन आयोग को आज हुई घटना को लेकर लोगों को स्पष्टीकरण देना चाहिए. हम प्रशासन के प्रभारी नहीं हैं, आयोग प्रशासन का प्रभारी है.”

ये भी पढ़ें-ममता के रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने बीजेपी द्वारा वायरल की गई चैट में मानी हार, पीके ने किया पलटवार

वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल के कृष्णानगर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कूचबिहार में हुई हिंसा को लेकर राज्य की मुख्यमंत्री और टीएमसी की मुखिया ममता बनर्जी पर जमकर हमला बोला. पीएम मोदी ने विधानसभा चुनाव को लेकर कहा कि समस्या केंद्रीय बल नहीं हैं, आपकी (ममता बनर्जी) भड़काउ बयानबाजी है. पीएम मोदी ने कहा कि ‘आज दीदी, केंद्रीय वाहिनी को गाली दे रही हैं, आज दीदी, EVM को गाली दे रही हैं, हालत तो ये है कि दीदी आज अपनी पार्टी के ही पोलिंग एजेंट्स को गाली देने लगी हैं.’

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला जारी रखते हुए पीएम मोदी ने कहा कि लोकतंत्र के उत्सव में भी दीदी आप माताओं-बहनों के आंसू गिरने की वजह बन रही हैं. आपकी दुर्नीति ने बंगाल का ये हाल कर दिया है. केंद्रीय वाहिनी पूरे देश में चुनाव करवाती है और निष्पक्ष चुनाव करवाती है. याद रखिए, ये 2021 का बंगाल है. अब आपको लोकतंत्र से खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा. आप बंगाल के लोगों को डराने की, उनमें भय फैलाने की जितनी कोशिश कर रही हैं, उतने ही ज्यादा लोग आपको हराने के लिए एकजुट हो रहे हैं.

Leave a Reply