चुनावी धांधली की बहस से बचने के लिए लाए कश्मीर फाइल्स- अखिलेश बोले नहीं जाऊंगा शपथ ग्रहण समारोह में

आजमगढ़ पहुंचे अखिलेश यादव ने फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' को मोहरा बना बीजेपी को लिया आड़े हाथ, कहा- 'द कश्मीर फाइल्स' से होने वाली कमाई से हो विस्थापितों के लिए काम, नहीं जाऊंगा योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में, भाजपा जातिवाद को लेकर करे राजनीती तो सोशल इंजीनियरिंग और हम करें तो जातिवादी'

अखिलेश के निशाने पर बीजेपी
अखिलेश के निशाने पर बीजेपी

Politalks.News/UttarPradesh. उत्तरप्रदेश सहित 4 राज्यों में मिली प्रचंड जीत ने भाजपा को मजबूती दी है. 4 राज्यों में पूर्व बहुमत की सरकार बनाने के बाद भाजपा जहां आगामी राज्यों में होने वाले चुनाव की तैयारी में जुट गई है तो वहीं विपक्षी दल अब भी हार का कारण ढूंढ रहे हैं. वहीं कुछ विपक्षी दलों ने बीजेपी की जीत को बड़ी धांधली तक करार दे दिया है. उत्तरप्रदेश में प्रमुख विपक्षी पार्टी समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बीजेपी की जीत को धोखे की जीत बताते हुए कहा कि, ‘बीजेपी चुनाव में हुई धांधली पर बहस नहीं करना चाहती है इसलिए ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म को रिलीज़ किया गया है.’ सोमवार को मीडिया से बात करते हुए अखिलेश यादव ने कई सीटों का ब्यौरा देते हुए बड़े पैमाने पर धांधली का आरोप भी लगाया.

‘द कश्मीर फाइल्स’ से होने वाली कमाई से हो विस्थापितों के लिए काम- अखिलेश
कश्मीरी पंडितों के पलायन को लेकर हाल ही में रिलीज़ हुई फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ ने पुरे देश में वाहवाही बटोरी है. तो वहीं पंडितों के पलायन को लेकर बीजेपी के कई दिग्गज नेताओं ने कांग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है तो वहीं कांग्रेस इस सब के लिए तत्कालीन समय की बीजेपी नीत गठबंधन सरकार को दोषी बता रही है. इसी क्रम में हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिली प्रचंड जीत के बाद विपक्ष बीजेपी और केंद्र सरकार पर धांधली के आरोप लगा रहा है तो वहीं चुनाव में हुई धांधली से बचने के लिए फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ को ढाल बना बहस से बचने का आरोप लगा रहे हैं. सोमवार को अचानक अपने संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ पहुंचे समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, ‘द कश्मीर फाइल्स’ से होने वाली कमाई से कश्मीरी विस्थापितों के लिए काम होना चाहिए.’

यह भी पढ़े: जिसने नहीं दिया वोट, वो ना आए मदद मांगने, 2024 में मोदी सरकार बनवाओ फिर आना- BJP विधायक के बिगड़े बोल

चुनाव में धांधली पर बहस से बचने के लिए लाई गई है ये फिल्म- अखिलेश
अखिलेश यादव ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि, ‘विधानसभा चुनाव में हुई धांधली पर किसी भी तरफ की कोई बहस न हो इसलिए ये फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ लाई गई है.’ अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘प्रदेश में बहुत सारी जगह मतगणना रोक दी गई. वाराणसी दक्षिणी में सपा प्रत्याशी 20 राउंड तक आगे चल रहे थे. कुछ देर के लिए काउंटिंग रोक दी गई. इसके बाद 22वें राउंड में वोट कम होने लगा. 25वें राउंड में पता चला कि वह चुनाव हार गए.’ ‘द कश्मीर फाइल्स’ का जिक्र करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘कश्मीर फाइल्स फिल्म के टैक्स से जो पैसा इकट्ठा हो रहा है, उसके मुनाफे से कश्मीरी पंडितों के विस्थापन पर खर्च होना चाहिए. इसके लिए कमेटी का गठन होना चाहिए जिसमें राजनीतिक नेता न हों. कमेटी में केवल कश्मीरी पंडित ही शामिल हों.’

Patanjali ads

नहीं जाऊंगा योगी के शपथ ग्रहण समारोह में- अखिलेश
बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी का जिक्र करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘देश और प्रदेश में महंगाई और बेरोजगारी बढ़ती जा रही है. युवा नौकरी न मिलने से निराश हो गए हैं. पिछले पांच साल में एक भी भर्ती नहीं हुई. भाजपा ने पहले भी झूठ बोला और अब भी झूठ बोलने का कार्य कर रही है. उम्मीद है कि सरकार पिछले घोषणा पत्र व नए घोषणा पत्र पर काम करे. ताकि युवाओं को रोजगार मिल सके.’ वहीं योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘पहले तो हमें बुलाएंगे नहीं और बुलाएंगे तब भी मैं नहीं जाऊंगा.’

यह भी पढ़े: गहलोत की कर्मचारियों को फिर बड़ी सौगात तो BJP पर कसा तंज- कोई एक नेता होता तो पटा लेता, लेकिन..

भाजपा जातिवाद को लेकर करे राजनीती तो सोशल इंजीनियरिंग और हम करें तो जातिवादी- यादव
वहीं आगामी दिनों में होने वाले विधानपरिषद के चुनावों का जिक्र करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘एमएलसी चुनाव हमारे लिए बड़ी चुनौती है. इसमें हमें सरकार के साथ साथ प्रशासन से भी लड़ना है.’ वहीं एमएलसी चुनाव में प्रत्याशियों के नाम पर यादव न लिखे जाने के सवाल पर कहा कि, ‘भाजपा यदि जातिवादी राजनीति करे तो वह सोशल इंजीनियरिंग है. लेकिन जब समाजवादी पार्टी करती है तो वह जातिवादी. जहां पर माफियाओं को एमएलसी चुनाव जिताना है वहां पर भाजपा प्रत्याशी नहीं लड़ा रही है.

Leave a Reply