पूनियां हत्याकांड के विरोध में निकाली गई विधायक की शव यात्रा में पहुंचे बेनीवाल, फिर की CBI जांच की मांग

महेंद्र चौधरी के इशारे पूरे प्लान के साथ इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया है जिसमें विधायक के भाई सहित एक दर्जन लोग शामिल, राज्य सरकार संवेदनहीन हो गई क्योंकि घटना के 48 घंटे बाद भी कोई प्रभावी कानूनी कार्यवाही नहीं हुई, विधायक के इशारे पर जयपाल पुनिया पर झूठे मुकदमे दर्ज करवाकर खोली गई झूठी हिस्ट्रीशीट- हनुमान बेनीवाल

0
पूनियां हत्याकांड के विरोध में RLP ने खोला मोर्चा
पूनियां हत्याकांड के विरोध में RLP ने खोला मोर्चा
Advertisement2

Politalks.News/Navan/HanumanBeniwal. बीते शनिवार नागौर जिले की नावां नावां सिटी में नमक कारोबारी जयपाल पूनिया की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या मामले में गरमाई सियासत अब तेज हो गई है. पूनियां हत्याकांड के विरोध में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी पूरी तरह खुलकर गहलोत सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. RLP मुखिया और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने इस जघन्य हत्याकांड की जांच CBI से करवाने की अपनी मांग को दोहराते हुए आज नावां में हत्याकांड के विरोध में निकाली गई नावां विधायक के पुतले की शव यात्रा में भाग लिया. आपको बता दें जयपाल पूनियां हत्याकांड के बाद शनिवार आधी रात को मृतक की पत्नी सरिता पूनिया ने राजस्थान विधानसभा में उप मुख्य सचेतक एवं नावां के विधायक महेंद्र चौधरी सहित आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है.

नमक कारोबारी जयपाल पूनिया की दिनदहाड़े गोली मारकर की गई हत्या मामले में उपजा गतिरोध और तेज हो गया है. अब इस मामले को लेकर प्रदेश की सियासत और भी ज्यादा गरमा गई है. इसी बीच शुरू से इस लड़ाई में मृतक के परिवार के साथ खड़े RLP संयोजक एवं नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने सोमवार को नावां पहुंचकर मृतक पूनियां के चित्र के समक्ष पुष्पांजलि अर्पित की. इस दौरान नावां शहर में में सर्व समाज के लोगो द्वारा स्थानीय नावां विधायक के पुतले की निकाली गई शव यात्रा में भी सांसद हनुमान बेनीवाल शामिल हुए. सांसद बेनीवाल ने कहा कि, ‘सरकार आम जन के रोष को गंभीरता से लेकर तत्काल जयपाल पुनिया हत्याकांड की जांच सीबीआई को दे.’

यह भी पढ़े: ‘ठाकरे तुम्हारी ‘सत्ता की बाबरी’ के ढांचे को गिराए बिना न तो शांत बैठेगा और न ही रुकेगा ये फडणवीस’

नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने नावां विधायक व सरकारी उप मुख्य सचेतक पर आरोप लगाते हुए कहा कि, ‘महेंद्र चौधरी के इशारे पूरे प्लान के साथ इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया है जिसमें विधायक के भाई सहित एक दर्जन लोग शामिल है.’ प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए सांसद बेनीवाल ने कहा कि, ‘राज्य सरकार संवेदनहीन हो गई क्योंकि घटना के 48 घंटे बाद भी कोई प्रभावी कानूनी कार्यवाही नहीं हुई. क्योंकि महेंद्र चौधरी से बातचीत के बाद हत्यारो ने इस घटना को अंजाम दिया क्योंकि महेंद्र चौधरी सीएम के नजदीक है, इसलिए सरकार को मामले में जल्द से जल्द जांच सीबीआई को देनी चाहिए. नावां विधायक के इशारे पर जयपाल पुनिया पर झूठे मुकदमे दर्ज करवाकर झूठी हिस्ट्रीशीट खोली गई.

वहीं सांसद बेनीवाल ने राजस्थान के एक विधायक के पुत्र द्वारा बलात्कार कर देने के मामले में सरकार के एक मंत्री का नाम लिए बिना कहा उसके पास एक लड़की काम से गई तो उसका रेप मंत्री ने कर दिया और आहत होकर उस लड़की ने आत्महत्या करने का प्रयास किया और मामले को दबा दिया गया. सांसद ने कहा कि, ‘सीबीआई जांच से ही असलियत सामने आ गई. सांसद बेनीवाल ने मीडिया के समक्ष नावां विधायक से अपील की और कहा कि, ‘स्वयं महेंद्र चौधरी को सीबीआई जांच की मांग करनी चाहिए.’

यह भी पढ़े: संघ प्रचारक है इस देश का प्रधानमंत्री, RSS और BJP का क्यों नहीं हो जाता विलय?- CM गहलोत

सांसद बेनीवाल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, ‘जयपाल पुनिया की हत्या सरकारी उपमुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी के इशारे पर हुई है. महेंद्र चौधरी मुख्यमंत्री के करीबी हैं और यहां अपनी समानांतर सरकार चलते हैं. बेनीवाल ने आरोप लगाते हुए कहा कि महेंद्र चौधरी के भाई और जयपाल पुनिया के बीच पिछले ढाई साल से झगड़ा चल रहा था. जिसे लेकर जयपाल मेरे पास भी कई बार फरियाद लेकर आया था. जयपाल पर फ्रेश केस दर्ज कराकर रंजिशन उसकी हिस्ट्रीशीट खोली गई. जिस तरह महेश जोशी का मामला हुआ उसमें भी कांग्रेस भाजपा का मिलाजुली का खेल चल रहा है.’ वहीं विधायक के पुतले की शव यात्रा नावा विधायक महेंद्र चौधरी के पुतले की सांकेतिक शव यात्रा निकालकर पुतला जलाया गया जिसमें नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल व खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल भी मौजूद रहे.

Leave a Reply