हरभजन को छोड़ सब चलेंगे दिल्ली के रिमोट कंट्रोल से- सिद्धू ने राज्यसभा प्रत्याशियों को लेकर कसा तंज

पंजाब में नई नई सरकार आई निशाने पर, राज्यसभा में भेजे जा रहे प्रत्याशियों को लेकर सियासी चर्चा, हरभजन को छोड़ अन्य नामों को लेकर पंजाब के लोगों में रोष! पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सिद्धू ने इसे पंजाब के साथ बताया धोखा, सिद्धू ने इशारों में केजरीवाल पर कसा जोरदार तंज

0
सिद्धू ने राज्यसभा प्रत्याशियों को लेकर कसा तंज
सिद्धू ने राज्यसभा प्रत्याशियों को लेकर कसा तंज
Advertisement2

Politalks.News/Punjab.  पंजाब (Punjab) में आप की सरकार ने कमान संभाल ली है. नई मान सरकार बनते ही पहला ही चुनाव सिर पर आ गया. आप ने राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha elections) के लिए 5 प्रत्याशियों को मैदान में उतार दिया है. अब इन नामों को लेकर आम आदमी पार्टी निशाने पर आ गई है. कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Congress leader Navjot Singh Sidhu) ने पंजाब से राज्यसभा के पांच उम्मीदवारों के चयन को लेकर आम आदमी पार्टी (AAP) पर निशाना साधा है. सिद्धू ने मंगलवार को ट्वीट करके क्रिकेटर हरभजन सिंह (Cricketer Harbhajan Singh) को छोड़कर आप के सेलेक्शन पर सवाल उठाया. सिद्धू ने आप के फैसले को पंजाब के साथ विश्वास घात बताया है. दरअसल पंजाब के सियासी गलियारों में आप के कैंडिडेट सलेक्शन को लेकर चर्चाओं का दौर जारी है. विशेषकर अशोक मित्तल और संजीव अरोड़ा को प्रत्याशी बनाए जाने के बाद पार्टी के अंदर भी मतभेद है.

‘हरभजन को छोड़ सब दिल्ली के रिमोट से होंगे कंट्रोल’
पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने क्रिकेटर हरभजन सिंह को राज्यसभा के लिए बेहतर च्वाइस बताया है. सिद्धू ने ट्वीट कर कहा कि, ‘दिल्ली के रिमोट कंट्रोल के लिए नई बैटरी मिल गई है. अब ये टिमटिमा रही हैं. हरभजन सिंह अपवाद हैं. बाकी सब दिल्ली के रिमोट कंट्रोल के लिए बैटरी हैं. यह पंजाब के साथ धोखा है.’ नवजोत सिंह सिद्धू ने आरोप लगाया है कि राज्यसभा उम्मीदवारों के जरिए दिल्ली में बैठे लोग पंजाब सरकार को कंट्रोल करना चाहते हैं.

यह भी पढ़ें- चुनावी धांधली की बहस से बचने के लिए लाए कश्मीर फाइल्स- अखिलेश बोले नहीं जाऊंगा शपथ ग्रहण समारोह में

अशोक मित्तल और संजीव अरोड़ा चौंकाने वाले नाम!
आम आदमी पार्टी ने ने जिन 5 नामों का ऐलान किया है, उनमें दिल्ली आईआईटी के प्रोफेसर संदीप पाठक, क्रिकेटर हरभजन सिंह शामिल हैं. इसके अलावा पंजाब ईकाई के सह-प्रभारी राघव चड्ढा को भी राज्यसभा भेजा जा रहा है. इस सूची में चौथा और पांचवा नाम अहम हैं क्योंकि इनका आम आदमी पार्टी से कोई राजनीतिक नाता नहीं रहा है. ये नाम हैं, अशोक मित्तल और संजीव अरोड़ा. अशोक मित्तल लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी के फाउंडर हैं. इसके अलावा संजीव अरोड़ा बड़े उद्योगपति हैं. डॉ. संदीप पाठक लंबे समय से आम आदमी पार्टी से जुड़े हैं और अरविंद केजरीवाल के बैकरूम को संभालते रहे हैं.

जालंधर के रहने वाले हैं हरभजन सिंह
हरभजन सिंह भारतीय क्रिकेट टीम में स्पिनर रह चुके हैं. जालंधर के रहने वाले हरभजन सिंह आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) में मुंबई इंडियंस और किंग्स इलेवेन पंजाब के कप्तान भी रह चुके हैं. नामांकन दाखिल करने के बाद हरभजन सिंह ने कहा कि वह खेलों और खेल से जुड़ी बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने के लिए काम करेंगे. सूत्रों का कहना है कि जालंधर में बनने वाली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी भी भज्जी के देखरेख में बन सकती है.

यह भी पढ़े: जिसने नहीं दिया वोट, वो ना आए मदद मांगने, 2024 में मोदी सरकार बनवाओ फिर आना- BJP विधायक के बिगड़े बोल

इन पांच सांसदों का कार्यकाल समाप्त हो रहा
आपको बता दें कि 9 अप्रैल को समाप्त होने वाले राज्यसभा सांसदों के कार्यकाल के कारण पंजाब में पांच सीटें खाली हो रही हैं. ये सांसद प्रताप सिंह बाजवा और एसएस डुलो (दोनों कांग्रेस से), श्वेत मलिक (भाजपा), नरेश गुजराल (शिअद) और एसएस ढींडसा हैं (शिअद-संयुक्त). पंजाब में राज्यसभा की सात सीटें हैं. बलविंदर सिंह भुंदर (शिअद), अंबिका सोनी (कांग्रेस) का कार्यकाल 4 जुलाई को समाप्त होगा. इन दोनों सीटों पर इस साल के अंत में मतदान होगा.

Leave a Reply