कोरोना के कारण मेरी याददाश्त चली गई- जैन के जवाब पर यूजर्स ने लिए खूब मजे, बग्गा-विश्वास ने घेरा

मनी लांड्रिंग मामले में केजरीवाल सरकार में कैबिनेट मंत्री सत्येंद्र जैन हैं न्यायिक हिरासत में, बोले कोविड के कारण चली गई मेरी याददाश्त, चिंता ना करो जैन साहब ED ऐसी डॉक्टर है कि सारी याददाश्त एक झटके में याद दिला देगी- तजिंदर पाल सिंह बग्गा, कवि कुमार विश्वास ने भी कसा तंज, इसके बाद सोशल मीडिया पर आई कमैंट्स की बाढ़

0
कोरोना के कारण मेरी याददाश्त चली गई- जैन
कोरोना के कारण मेरी याददाश्त चली गई- जैन
Advertisement2

Politalks.News/Delhi/StyendraJain. मनी लांड्रिंग से जुड़े एक मामले में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन पर ईडी का शिंकजा कसता जा रहा है. मनी लांड्रिंग मामले में कैबिनेट मंत्री सत्येंद्र जैन न्यायिक हिरासत में हैं. वहीं अब कोर्ट ने जमानत याचिका पर अपना फैसला भी सुरक्षित रख लिया है. मतलब अब सत्येन्द्र जैन को 18 जून तक जेल में रहना पड़ेगा. वहीं अब राउस एवेन्यू कोर्ट में सुनवाई के दौरान सत्येंद्र जैन को लेकर ईडी ने हैरान कर देने वाली जानकारी दी है. अदालत में सुनवाई के दौरान ईडी ने बताया कि सवाल पूछे जाने के दौरान सत्येन्द्र जैन ने कहा कि उन्हें कोरोना हुआ था और इसके कारण उनकी याददाश्त चली गई. आपको बता दें, हवाला से जुड़े कुछ कागजातों के सम्बन्ध में सत्येन्द्र जैन से ईडी सवाल कर रही थी. सत्येन्द्र जैन के इस जवाब पर जहां भाजपा नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने सॉलिड तंज कसा तो वहीं कवि कुमार विश्वास ने भी ट्वीट कर जैन पर निशाना साधा. जिसके बाद से सोशल मीडिया यूजर्स भी तरह-तरह के कमेंट्स कर रहे हैं.

दरअसल, ईडी ने कोर्ट को बताया कि ‘जब भी जैन से सवाल पूछे जाते हैं तो वो कहते हैं कि उनको कोविड हुआ था, जिसकी वजह से अब उनकी याददाश्त चली गई है.’ ईडी ने बताया कि कुछ सवालों के जवाब में उन्होंने याददाश्त चले जाने की बात कही है. अब इसी बात पर भाजपा नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने सत्येंद्र जैन पर जबरदस्त तंज कसते हुए ट्वीटर पर लिखा कि, ‘कोरोना से मेरी याददाश्त चली गई- ED से बोले सत्येंद्र जैन, चिंता ना करो जैन साहब ED ऐसी डॉक्टर है कि सारी याददाश्त एक झटके में याद दिला देगी.’ सोशल मीडिया पर लोग बग्गा के इस कमेंट पर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं.

यह भी पढ़े: मेरी और हुड्डा की लड़ाई में पिस गए माकन- कुलदीप बिश्नोई ने राहुल गांधी पर भी बोला जोरदार हमला

वहीं सत्येन्द्र जैन के याददाश्त वाले जवाब पर आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और मशहूर कवि कुमार विश्वास ने भारत रत्न कहकर जैन पर तंज कसा है. कुमार विश्वास ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘भारत-रत्न! हवाला के पेपर देख बोले मंत्री जी- कोरोना से मेरी याददाश्त चली गई.’ कुमार विश्वास के ट्वीट के बाद सोशल मीडिया यूजर्स भी तरह-तरह के कमेंट्स कर रहे हैं.

सत्येंद्र जैन पर भाजपा नेता बग्गा और कवि कुमार विश्वास के ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर कमैंट्स की बाढ़ सी आ गई. हुकुम चंद नाम की यूजर ने लिखा कि, ‘फिर युगपुरुष ने इन्हें मंत्री और हिमाचल का प्रभारी किस विशेषता के लिए नियुक्त किया हुआ है.’ वहीं एक अन्य यूजर प्रताप सिंह मेहता ने लिखा कि ‘बिना याददाश्त वाला व्यक्ति दिल्ली सरकार में कैसे बना बैठा है?’ वहीं शिवेश श्रीवास्तव ने लिखा कि ‘ऐसा इंसान जिसकी याददाश्त ही चली जा रही है, वो किसी भी मंत्री पद पर कैसे रह सकता है. ऐसे बीमार व्यक्ति से सारी सरकारी सुविधाएं ले लेनी चाहिए.’

इसके साथ ही ट्विटर पर जया दीक्षित नाम की सोशल मीडिया यूजर ने लिखा कि, ‘याददाश्त चली गई, ये ठीक है. सारी मिठाई और मलाई डकारते वक्त याददाश्त बहुत अच्छी थी और जब हिसाब देने का समय आया तो दिमाग की बत्ती गुल. ईमानदारी का ढ़ोल पीटने वाले इनके आका को कोई बता दो कि झूठ ही ऐसे रंग बदलता है. वैसे इनकी इस नौटंकी के लिये कौन सा अवार्ड होना चाहिए?’ विजय स्वामी नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा कि, ‘जो बीमार हैं, जिसकी यादस्त चली गई तो मंत्री पद पर अभी तक क्यों हैं? आत्ममुग्ध बौने इनको हटा क्यों नही रहें हैं?’

यह भी पढ़े: वो अग्निवीर कौन होगा, RSS का या BJP का कार्यकर्ता?- केंद्र की अग्निपथ योजना पर कांग्रेस ने उठाए सवाल

वहीं एक सोशल मीडिया यूजर दिलीप सिंह भाटी ने लिखा कि, ‘सत्येंद्र जैन खुद की याददाश्त यानी स्वास्थ्य ठीक नहीं है और वह पूरी दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री बनकर बैठे हैं, क्या कहा जाए ऐसी सरकार को.’ विजय मिश्रा ने लिखा कि याददाश्त चली गई तो ED के पास नार्को टेस्ट का विकल्प है.’ एक यूजर ने लिखा कि ‘जब याददाश्त चली गई तो फिर मंत्री पद पर कैसे बना बैठा है?’ प्रेम चौधरी ने लिखा कि ‘ED के अधिकारियों को झूठ पकड़ने वाली मशीन लगाकर पूछना चाहिए. जिस व्यक्ति का दिमाग काम करना बंद हो गया है, याददाश्त चली गई, ऐसे व्यक्ति को केजरीवाल ने मंत्री बना रखा हुआ है.’

आपको बता दें कि ईडी की तरफ से दावा किया गया है कि प्रवर्तन निदेशालय ने सत्येन्द्र के दिल्ली-गुरुग्राम के करीब 7 ठिकानों पर छापा मारा गया था, जिसमें करीब 2.82 करोड़ नगद और 1.80 किलोग्राम सोने के सिक्के बरामद हुए थे. ये छापेमारी तब हुई थी जब सत्येन्द्र जैन ईडी की हिरासत में थे. ईडी की हिरासत में रहने के दौरान सत्येन्द्र जैन की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, जिसके बाद आप नेताओं और समर्थकों ने ईडी हिरासत में सत्येंद्र जैन को यातना देने का आरोप लगाया और उत्पीड़न के लिए बीजेपी की केंद्र सरकार पर तीखा हमला बोला.

Leave a Reply