पुष्कर पहुंचे डॉ किरोड़ी ने गहलोत सरकार और चिंतन शिविर पर साधा निशाना, ‘बाबोसा’ को दी श्रद्धांजलि

चिंता तो करनी चाहिए क्योंकि कांग्रेस इस वक्त वेंटिलेटर पर पड़ी है, लेकिन यदि चिंतन करना ही है तो आदिवासियों की बदहाली, भ्रष्टाचार, परिवारवाद से मुक्ति जैसे मुद्दों पर चिंतन किया जाना चाहिए था- सांसद मीणा, भारी पुलिस जाब्ते को लेकर बोले डॉ किरोड़ी मीणा ने कहा- मुझे सुरक्षा की आवश्यकता नहीं. मुझे किसी से डर नहीं है. मैंने सरकार की पोल खोल का जो आंदोलन चल रहा है, सरकार उससे डरी हुई

0
img 20220515 wa0292
img 20220515 wa0292
Advertisement2

Politalks.News/Rajasthan/Kirodi. हाल ही में उदयपुर पहुंचे बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद किरोडी लाल मीणा को गहलोत पुलिस द्वारा जबरन जिले से बाहर लेकर जाने के दौरान सांसद मीणा ने पुष्कर जाने का कार्यक्रम बताया था, लेकिन प्रशासन ने डॉ मीणा को अजमेर में ही घुसने नहीं दिया था. ऐसे में पिछले तीन दिनों से पुष्कर जाने के प्रयास में जुटे सांसद किरोड़ी लाल मीणा आखिरकार आज रविवार को पुष्कर पहुंचे. हालांकि पिछले दिन भारी पुलिस जाप्ते के साथ धरियावद आदिवासी सम्मेलन में भाग लेकर लौटे सांसद मीणा के साथ आज पुष्कर दौरे के दौरान भी पुलिस जाब्ता तैनात रहा. वहीं पुष्कर में एक बार फिर डॉ किरोड़ी मीणा ने जमकर गहलोत सरकार और कांग्रेस के चिंतन शिविर पर निशाना साधा.

हाल ही मैं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा डॉ किरोड़ी लाल मीणा के जन आंदोलनों को धमालपट्टी का नाम देने पर एक बार फिर मीडिया से बातचीत में सांसद मीणा ने पलटवार करते हुए कहा कि सरकार की जन विरोधी नीतियों के विरुद्ध हम सड़क पर उतरते हैं, जिसे गहलोत सरकार धमाल कहती है, फिर चाहे शम्भू पुजारी की हत्या, आमागढ़, रीट, युवतियों के साथ बलात्कार के मामले हों, इन मामलों को लेकर शांतिपूर्वक विरोध-प्रदर्शनों को गहलोत सरकार धमालपट्टी कहती है, तो यह धमाल जारी रहेगा. हाल ही प्रदेश के पांच जिलों में हुई हिंसा के लिए प्रदेश की गहलोत सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए सांसद किरोड़ी मीणा ने कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत इन हिंसाओं का आरोप आरएसएस और बीजेपी पर लगाते हैं. यदि इन प्रकरणों की जांच सीबीआई को सौंप दी जाए, तो सारा सच सामने आ जाएगा.

यह भी पढ़ें: गहलोत के करीबी महेन्द्र चौधरी के इशारे पर हुई पूनियां की हत्या, CBI जांच से होगा पर्दाफाश- बेनीवाल

वहीं उदयपुर में तीन दिन चले कांग्रेस के नव संकल्प शिविर पर कटाक्ष करते हुए सांसद किरोड़ी मीणा ने कहा कि चिंता तो करनी चाहिए क्योंकि कांग्रेस इस वक्त वेंटिलेटर पर पड़ी है. आगे डॉ मीणा ने निशाना साधते हुए कहा कि यदि चिंतन करना ही है तो आदिवासियों की बदहाली, भ्रष्टाचार, परिवारवाद से मुक्ति जैसे मुद्दों पर चिंतन किया जाना चाहिए था. भले ही सोनिया गांधी का बयान 1 परिवार से 1 टिकट पर आ गया हो, पर खुद सोनिया गांधी के परिवार में तीन लोग खड़े हैं. ऐसे में कांग्रेस सुचिता, नैतिकता, सिंद्धान्तों की राजनीति जो सरदार वल्लभभाई पटेल, लाल बहादुर शास्त्री, गुलजारी लाल नंदा ने की थी, वो अब इनके बस की बात नहीं है. इसीलिए कांग्रेस सत्ता में आने के बारे में दूर-दूर तक नहीं सोच सकती. जब सांसद मीणा से उनके साथ लगाए गए भारी पुलिस जाब्ते के संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मुझे सुरक्षा की आवश्यकता नहीं. मुझे किसी से डर नहीं है. मैंने सरकार की पोल खोल का जो आंदोलन चल रहा है, सरकार उससे डरी हुई है.

आपको बता दें कि भारी पुलिस जाब्ते के बीच पुष्कर पहुंच दिग्गज बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा ने कपालेश्वर महादेव मंदिर और ब्रह्मा मंदिर में पूजा-अर्चना की. उसके बाद सांसद मीणा ने गोवर्धन मठ पूरी पीठाधीश्वर शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती के सानिध्य में चल रहे राष्ट्र रक्षा एवं साधना शिविर में भाग लिया. पुष्कर से जयपुर पहुंचे सांसद किरोड़ी मीणा ने शाम को पूर्व उपराष्ट्रपति भैरों सिंह शेखावत की पुण्यतिथि पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में भाग लिया.

यह भी पढ़ें: पायलट युवाओं के चहेते तो अनुभवी हैं गहलोत, बीच का रास्ता निकलेगा, सचिन को इंसाफ मिलेगा- आ.प्रमोद

इस दौरान सांसद किरोड़ी लाल मीणा ने बाबोसा को याद करते हुए अपने सोशल मीडिया पेज पर लिखा कि अपने सियासी दौर में बाबोसा के नाम से विख्यात रहे पूर्व मुख्यमंत्री श्रधेय भैरोंसिंह शेखावत जी की पुण्यतिथि पर विद्याधर नगर स्थित उनके समाधि स्थल पर आयोजित प्रार्थना सभा में शामिल होकर श्रधेय शेखावत जी को श्रद्धासुमन अर्पित किये और बाबोसा के प्रदेश के प्रति समर्पण का मनन कर उनके साथ बिताए अनमोल क्षणों का स्मरण किया. मुझे स्मरण हैं मेरी सियासी यात्रा की शुरुआत में शेखावत जी किस प्रकार मेरा मार्गदर्शन करते थे और मुझसे विशेष स्नेह रखते थे. प्रदेश में आपने भाजपा संगठन के लिए नींव के पत्थर की भूमिका निभाई और संगठन को मजबूती प्रदान की. आपके मुख्यमंत्री रहते हुए प्रदेश चहुमुखी विकास के पथ पर अग्रसर रहा.

Leave a Reply