कश्मीर से कन्याकुमारी तक ‘भारत जोड़ो यात्रा’ निकालेगी कांग्रेस, हम जीतेंगे, जीतेंगे, जीतेंगे- सोनिया गांधी

पार्टी को जनता से जोड़ने के लिए हम भारत जोड़ो यात्रा शुरू करेंगे, आगामी गांधी जयंती से इस यात्रा की होगी लॉन्चिंग, कन्याकुमारी से कश्मीर तक होगी 'भारत जोड़ो यात्रा', हम सभी इस यात्रा में होंगे शामिल, वरिष्ठ लोग युवाओं को इस यात्रा में जोड़ेंगे, मैं भी भी इस यात्रा में शामिल होंउगी- सोनिया गांधी

0
img 20220515 wa0216
img 20220515 wa0216
Advertisement2

Politalks.News/Congress. पार्टी को फिर से एकजुट, संगठित और मजबूती देने क्व उद्देश्य राजस्थान के उदयपुर में तीन दिन चला कांग्रेस का नव संकल्प शिविर कल समाप्त हो गया. तीन चले इस शिविर का सार यह निकला है कि पार्टी का जनता से संवाद खत्म सा हो गया है और इसके लिए इस नव संकल्प शिविर के समापन सत्र में संकल्प लिया गया है कि कांग्रेस पार्टी जनता के बीच जाकर संवाद करेगी. जनता के साथ कांग्रेस का जो कनेक्शन था उसे फिर से बनाना पड़ेगा. सोनिया गांधी ने कहा कि इसके लिए आगामी 2 अक्टूबर यानी गांधी जयंती के दिन से कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक पार्टी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ चलाएगी जिसमें पार्टी के सीनियर और युवा सारे नेता एकजुट होकर जनता के बीच जाकर उनसे बात करेंगे और उनकी समस्याएं सुनेंगे.

रविवार को कांग्रेस के नव संकल्प शिविर के समापन सत्र में पार्टी अध्यक्षा सोनिया गांधी ने अपने संबोधन में 2024 के लोकसभा चुनावों में जीत हासिल करने के लिए, वरिष्ठ और युवाओं को साथ मिलकर पार्टी में नई ऊर्जा का संचार करने की बात कही. सोनिया ने कहा कि बुजुर्ग और युवा नेताओं को मिलकर कांग्रेस की लड़ाई लड़नी होगी. शिविर में मौजूद लगभग 403 दिग्गज कांग्रेसियों को संबोधित करते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि, ‘पार्टी को जनता से जोड़ने के लिए हम भारत जोड़ो यात्रा शुरू करेंगे और आगामी गांधी जयंती से इस यात्रा की लॉन्चिंग होगी. कन्याकुमारी से कश्मीर तक होगी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ और हम सभी इस यात्रा में शामिल होंगे. वरिष्ठ लोग युवाओं को इस यात्रा में जोड़ेंगे. मैं भी भी इस यात्रा में शामिल होंउगी.’

यह भी पढ़ें: जनता से जुड़ने के लिए हमें कोई शॉर्टकट नहीं बल्कि बहाना होगा पसीना- राहुल का कांग्रेसियों को मंत्र

इसके साथ ही सोनिया गांधी ने पार्टी में कांग्रेस वर्किंग कमेटी के साथ ही एक एडवाइजरी ग्रुप बनाने की भी घोषणा की है. सोनिया गांधी ने कहा कि भले ही निर्णय लेने की क्षमता एडवाइजरी ग्रुप में न होकर, कांग्रेस वर्किंग कमेटी के पास होगी, लेकिन एडवाइजरी ग्रुप जो कुछ सलाह देगा उस पर गंभीरता से पार्टी में विचार किया जाएगा. सोनिया गांधी ने आगे कहा कि, ‘मैं आशा करती हूं, कि हम चिंतन शिविर से इसी भावना के साथ विदा होंगे कि हम इन हालातों से उबरेंगे. सोनिया गांधी ने तीन बार अपनी बात दोहराई और कहा कि हम इन हालातों से उबरेंगे, यही है हमारा दृढ़ निश्चय और नव संकल्प है, हम जीतेंगे, जीतेंगे, जीतेंगे’ और यही हमारा नव संकल्प है.’

यह भी पढ़ें: कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल होने वाले माणिक साहा चौथे नेता जिन्हें भाजपा ने दिया CM पद का तोहफा

सोनिया गांधी से पहले कांग्रेस के इस नव संकल्प शिविर के तीसरे दिन और समापन सत्र में राहुल गांधी ने कार्यक्रम को संबोधित किया. राहुल गांधी ने कहा कि पिछले तीन दिनों में कांग्रेस को लेकर सार्थक चर्चा हुई, कांग्रेस पार्टी संवाद की बात करती है. पार्टी में बिना भेदभाव किए हुए बोलने का सभी को मौका दिया जाता है. राहुल गांधी ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी में ऐसा नही होता है जबकि यहां ग्रुप डिस्कशन की भी सुविधा है. राहुल गांधी ने कहा कि इस वक्त हमारी लड़ाई विचारधारा की है. कांग्रेस बीजेपी और आरएसएस की विचारधारा की लड़ाई लड़ रही है. ये लड़ाई मेरी जिंदगी की लड़ाई है. क्षेत्रीय पार्टी इस लड़ाई को नहीं लड़ सकती है, लेकिन क्षेत्रियों दलों का सम्मान हमें करना होगा. कांग्रेस पार्टी एक परिवार है और मैं भी उसी परिवार का एक सदस्य हूं.

Leave a Reply