हिमाचल चुनाव से पहले कांग्रेस ने बीजेपी को दिया जोर का झटका, सूरी और पं.जयकुमार ने थामा ‘हाथ’

48 साल से बीजेपी से जुड़े विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष रहे हैं पं. जय कुमार, चंबा सदर प्रत्याशी को सीधा फायदा होने की उम्मीद, वहीं संजीव सूरी के कांग्रेस में आने से कई अन्य दिग्गज भी छोड़ सकते हैं भाजपा, दोनों नेताओं के आने से कांग्रेस में जबरदस्त उत्साह

himachal elections chanba
himachal elections chanba

HimachalAssemblyElection. हिमाचल विधानसभा चुनाव 2022 मतदान की तारीख जैसे जैसे पास आ रही है, तपोभूमि का सियासी माहौल गर्माता जा रहा है. प्रदेश में हमेशा परिवर्तन सरकार का ट्रेंड रहा है, लेकिन इस बार आम आदमी पार्टी ने चुनाव में शामिल होकर बीजेपी-कांग्रेस दोनों पार्टियों की परेशानियां बढ़ा रखी है. इसी बीच भाजपा और कांग्रेस में खुलकर सामने आ रही नेताओं की आपसी खींचतान और महत्वाकांक्षा ने दोनों पार्टियों की मुसीबत बढ़ा दी है. ऐसे में दोनों ही दलों में जारी नेताओं की अदला-बदली के बीच चंबा जिले में चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस में बीजेपी को बड़ा झटका दिया है. हिमाचल बीजेपी के महामंत्री रहे संजीव सूरी और विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष पंडित जय कुमार ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है. बता दें संजीव सूरी और पं. जय कुमार के आने से कांग्रेस को निश्चित तौर पर मजबूती मिलेगी.

आपको बता दें कि हाल ही में हिमाचल में सदर की सीट के प्रत्याशी नीरज नैय्यर के चुनाव प्रचार के लिए चंबा पहुंची कांग्रेस की स्टार प्रचारक व मंडी संसदीय क्षेत्र की सांसद प्रतिभा सिंह ने यहां एक रोड शो किया था. माना जा रहा है कि उसी समय कांग्रेस ने ये खेल खेला और और हिमाचल विस चुनाव से केवल 6 दिन पहले बीजेपी को दो बड़े झटके दे दिए.

यह भी पढ़े: हिमाचल की माताएं मानती हैं कि उनका बेटा दिल्ली में बैठा है, जो उनके बारे में सोचता है- पीएम मोदी

पहले भी कांग्रेस में रह चुके हैं सूरी –
यहां आपको यह भी बता दें कि इससे पहले संजीव सूरी कांग्रेस में रह चुके हैं और बड़े नेताओं से नाराजगी के चलते कांग्रेस को छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए थे. लेकिन अब उन्ही नेताओं के कांग्रेस छोड़ भाजपा में आने पर उन्होंने अपनी नाराजगी जाहिर की और पार्टी को छोड़ दिया. ऐसे में एक बार फिर सूरी घर वापसी करते हुए फिर से कांग्रेस में शामिल हुए हैं. बता दें कि संजीव सूरी चंबा क्षेत्र के एक दिग्गज नेता हैं. जब उन्होंने बीजेपी ज्वॉइन की थी तो उनके साथ काफी सारे नेता कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए थे. सूरी के कांग्रेस में आते ही दर्जन भर नेताओं के बीजेपी में शामिल होने की आशंका जताई जा रही है जो कांग्रेस के लिए फायदे तो बीजेपी के लिए कड़े नुकसान का संकेत है.

Patanjali ads

विहिप अध्यक्ष ने भी छोड़ा बीजेपी का साथ –
वहीं संजीव सूरी के साथ-साथ बीजेपी के साथ जुड़े विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष पंडित जय कुमार ने भी बीजेपी का साथ छोड़ कांग्रेस का दामन थाम लिया है, जिसे बीजेपी के लिए जोरदार झटका माना जा रहा है क्योंकि पं. जय कुमार 48 साल पहले बीजेपी में शामिल हुए थे. पंडित कुमार साल 1972 से पार्टी के साथ जुड़े हुए थे. हालांकि जय कुमार ने पार्टी छोड़ने की कोई स्पष्ट वजह नहीं बताई है. लंबे समय तक बीजेपी से जुड़े फायर ब्रांड नेता का अचानक कांग्रेस में शामिल होना चंबा के गलियारों में चर्चा का विषय बना हुआ है.

यह भी पढ़े: बीजेपी का ऑफर- गुजरात चुनाव मत लड़ो, छोड़ देंगे तुम्हारे मंत्रियों को- केजरीवाल का बड़ा आरोप

सूरी और विहिप अध्यक्ष के आने से कांग्रेस मजबूत
आपको बता दें कि हिंदू राजनीति का एक बड़ा और दिग्गज चेहरा विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष पंडित जय कुमार अपने क्षेत्र में एक खास दबदबा रखते हैं. उनके समर्थकों की फौज भी काफी लंबी है. चम्बा सदर में कांग्रेस प्रत्याशी नीरज नैय्यर की साफ छवी को देखते हुए कांग्रेस के लिए ये एक अच्छा संकेत हो सकता है. इसी तरह, संजीव सूरी के कांग्रेस में वापसी करने के बाद आने वाले समय में और भी भाजपा के दिग्गज कार्यकर्ता व पदाधिकारी पार्टी छोड़ कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं, जिससे भाजपा की मुसीबत और ज्यादा बढ़ सकती हैं.

Leave a Reply