mohan bhagwat
mohan bhagwat

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) के प्रमुख मोहन भागवत ने महाराष्ट्र के नागपुर में आयोजित दशहरा कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए देशवासियों को विजयदशमी की बधाई एवं शुभकामनाएं दी. यहां उन्होंने आगामी लोकसभा चुनाव और मणिपुर में हो रही खूनी हिंसा को लेकर भी बयान दिए. भागवत ने कहा कि देश में विकास की नई इबारत रची जा रही है लेकिन कुछ लोग ऐसे हैं जो भारत के बढ़ते कदमों से खुश नजर नहीं आते. सीधे शब्दों में कहा जाए तो आरएसएस चीफ ने कांग्रेस और विपक्षी गठबंधनों पर सीधे हमला कर निशाना साधा है. भागवन ने कहा कि दोनों पक्षों के लोग शांति चाहते हैं लेकिन कुछ लोगा ऐसा नहीं चाहते हैं.

नागपुर के रेशिमबाग मैदान में आयोजित विजयदशमी उत्सव में संबोधित करते हुए संघ प्रमुख मोहन भागवत ने आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर जनता से किसी के बहकावे में न आने की अपीकी की. भागवत ने कहा कि देश लगातार तरक्की के पथ पर आगे बढ़ रहा है. विकास की नई इबारत रची जा रही हैं, लेकिन भारत में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इस तरक्की और विकास से खुश नहीं हैं. कुछ लोगों को इस तरक्की से तकलीफ होती है. उन्होंने कहा देश ने जी-20 जैसे बड़े इवेंट की अध्यक्षता कर पूरी दुनिया को भारत की ताकत से अवगत करा दिया है. दुनियाभर के नेताओं ने इस कार्यक्रम में गर्मजोशी के साथ हिस्सा लिया. हालांकि देश में ही कुछ लोग ऐसे हैं जो भारत के बढ़ते कदमों से खुश नजर नहीं आते.

यह भी पढ़ें: एमपी में कांग्रेस ने ली बढ़त, अब 228 सीटों पर बीजेपी-कांग्रेस में मुकाबला तय

आगे मोहन भागवत ने कहा कि अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव में किसी के उकसावे या बहकावे में ना आएं. हर तरह का अनुभव लें और उसके बाद ही जो बेस्ट हो उसे अपना मत दें.

Patanjali ads

मणिपुर हिंसा पर कही ये बड़ी बात

आरएसएस चीफ मोहन भागवत ने अपने संबोधन में मणिपुर हिंसा का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि एक दशक के ज्यादा समय से मणिपुर पूरीचुनाव नजदीक आते ही अचानक ऐसा क्या हो गया कि पूरा मणिपुर ही जलने लगा. क्या हिंसा करने वालें लोगों में सीमा पार के आतंकवादी भी शामिल हैं. हमें शांति की ओर बढ़ना होगा. मणिपुर में स्वयंसेवक काम कर रहे हैं और मैं उनके काम को सलाम करता हूं. प्रदेश में विश्वास जरूर टूट रहा है लेकिन हिम्मत अभी भी बाकी है, भागवन ने कहा कि दो समुदाय मैतयी और कुकी के बीच संघर्ष को सांप्रदायिक रूप दिया जा रहा है. एक बार फिर संघर्ष के साथ सभी आगे बढ़ रहे हैं जबकि दोनों समुदाय शांति चाहते हैं.

एशियन गेम्स के विजेताओं को दी बधाई

इस दौरान मोहन भागवत ने एशियन्स गेम में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों को बधाई दी और मेडल जीनते वालों की हौसला अफजाई भी की. उन्होंने देश के होनहारों ने एशियाई खेलों में पहली बार 100 से ज्यादा पद अपने नाम कर इतिहास रचा है. उन्होंने अयोध्या राम मंदिर को लेकर भी अपनी बात रखी. भागवत ने कहा कि राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा अपने तय समय पर ही होगी. 22 नजवरी को मंदिर में व्यवस्था के साथ रामलाला की स्थापना की जाएगी.

Leave a Reply