किसानों और नौजवानों को धोखा देने का काम जिसने किया, उन्हें धूल चटाने का काम सिंधिया ने किया

सहाड़ा उपचुनाव के रण में उतरे ज्योतिरादित्य बोले- मुझे कुर्सी की भूख नहीं, मुझे सत्ता की भूख नहीं, लेकिन यदि जनता के साथ अन्याय हो, भ्रष्टाचार हो तो जान भी देने की जरूरत पड़ी तो मैं देने को तैयार हूं, हमारी सोच है जान जाए पर वचन न जाए, कांग्रेस की सोच है- वचन जाए तो जाए, जान बची रहे, आने वाली 17 तारीख को गहलोत सरकार की भी उलटी गिनती शुरू हो जाएगी. सही है कि नहीं- तो ताली बजाओ

img 20210411 wa0227
img 20210411 wa0227

Politalks.News/Rajasthan. राजस्थान उपचुनाव के सियासी रण में उतरे कभी कांग्रेस के दिग्गज रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज सहाड़ा में कांग्रेस और गहलोत सरकार पर जमकर हमला बोला. हालांकि पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट को लेकर इशारों में ही सही सीएम गहलोत पर सिंधिया द्वारा कोई तंज की बात नहीं की जो जिसके कारण लोगों को निराशा ही हाथ लगी. आज दोपहर भीलवाड़ा के सहाड़ा पहुंचे बीजेपी से राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पहले अपने पुरखों के मंदिर में पूजा-अर्चना की और उसके बाद आयोजित चुनावी जनसभा को सम्बोधित किया. इस दौरान कांग्रेस पर निशाना साधते हुए जिन्होंने किसानों को, नौजवानों को धोखा देने का काम किया, उन्हें धूल चटाने का काम ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया.

सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सहाड़ा से बीजेपी प्रत्याशी डॉ रतन लाल जाट के समर्थन में चुनावी सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि, ‘हमारी सोच है कि जान जाए पर वचन न जाए, पर कांग्रेस की सोच है कि वचन जाए तो जाए, पर जान किसी भी कीमत पर नहीं जाए. सिंधिया ने कहा कि एक तरफ किसानों का कर्जा माफ नहीं किया, दूसरी तरफ हमारे पीएम मोदी ने किसान सम्मान निधि के रूप में एक-एक किसान को 6 हजार रुपए दिए. यहां सीएम गहलोत कहते हैं कि 6 हजार से क्या होता है, अरे मैं पूछना चाहता हूं कि आपने क्या करके दिखाया. यह तो बताएं.

यह भी पढ़ें: मरुधरा SAFE है! कांग्रेस आलाकमान को हुआ विश्वास ‘शरणागत वत्सल’ हैं सीएम अशोक गहलोत

धूल चटाने का काम ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया
इस दौरान कांग्रेस पर बड़ा हमला बोलते हुए महाराज सिंधिया ने कहा कि जब मध्यप्रदेश में भाजपा की सरकार हमने स्थापित की, उससे पहले जिन्होंने किसानों को, नौजवानों को धोखा देने का काम किया, उन्हें धूल चटाने का काम ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया. सिंधिया ने कहा मुझे कुर्सी की भूख नहीं, मुझे सत्ता की भूख नहीं, लेकिन यदि जनता के साथ अन्याय हो, भ्रष्टाचार हो तो जान भी देने की जरूरत पड़ी तो मैं देने को तैयार हूं.

Patanjali ads

मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि मुझे गर्व है कि भाजपा की एमपी की सरकार में जहां 6 हजार रुपए केंद्र ने दिया तो हमने और शिवराज जी ने मिलकर सरकार की ओर सेे 4 हजार रुपए और जोड़कर 10 हजार रुपए किया. इस दौरान मुख्यमंत्री गहलोत पर निशाना साधते हुए सिंधिया ने कहा कि सुन लें गहलोत जी, अगर किसान का कल्याण करना है तो गहलोत जी, बातें करने से काम नहीं बनता उस कार्य में अपनी राशि डलवाकर बताएं तो हम मानेंगे आप किसान हितैषी हैं.

यह भी पढ़ें: सहाड़ा उपचुनाव के प्रचार के बहाने सिंधिया-पायलट की ‘दोस्ती की गूंज’ ने किया गहलोत खेमे को बैचैन

गहलोत सरकार पर आगे निशाना साधते हुए सिंधिया ने कहा कि नरेंद्र मोदी की सरकार ने फसल बीमा योजना शुरू की. इस योजना के तहत एक लाख करोड़ रुपए किसानों के लिए दिए. यह भाजपा की केंद्र सरकार की सोच है. यहां राजस्थान में जो 10 हजार रुपए आपकी सब्सिडी बिजली के लिए दी जाती थी उसे भी खत्म कर दिया. सिंधिया ने कहा कि अब आने वाली 17 तारीख को गहलोत सरकार की भी उलटी गिनती शुरू हो जाएगी. सही है कि नहीं- तो ताली बजाओ. यहां आपने पैसा वापस ले लिया. आप कटाक्ष केंद्र सरकार पर करते हो.

यह भी पढ़ें: बीजेपी को ‘बुआ’ पर नहीं ‘भतीजे’ पर भरोसा, सहाड़ा में ज्योतिरादित्य सिंधिया लगाएंगे पार्टी की नैया पार!

गहलोत जी को चौका मारने की आदत है, 17 अप्रैल को ईवीएम के बटन पर छक्के लगाने हैं

आपको बता दें, रविवार को सहाड़ा में रोजगार देने की मांग के साथ बेरोजगारों ने रैली निकाली. राज्य सरकार की ओर से लटकाई जा रही भर्तियों के खिलाफ वे नेताओं का विरोध कर रहे थे. इस मामले को लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सीएम अशोक गहलोत पर निशाना साधते हुए कहा कि- आपने कहा था बेरोजगारों को 3500 रुपए बेरोजगारी भत्ता देंगे, जबकि आज सबसे ज्यादा बेरोजगारी राजस्थान में है. यहां इतनी अधिक क्षमताएं हैं उसके बावजूद इतनी बड़ी संख्या बेरोजगारों की हो गई है. गहलोत जी को मौके पर चौके मारने की बड़ी आदत है. अब 17 तारीख को जनता को ईवीएम के बटन पर छक्के मारकर गहलोत जी की नींद उड़ानी होगी. सिंधिया ने तंज कसते हुए कहा कि आम आदमी त्रस्त है और कानून व्यवस्था ध्वस्त है.

Leave a Reply