डॉ किरोड़ी को लेकर रमेश मीणा ने ही उठाए गहलोत सरकार पर सवाल- क्यों नहीं किया जा रहा गिरफ्तार?

पीसीसी में जनसुनवाई करने पहुंचे मंत्री रमेश मीणा ने भाजपा सांसद किरोड़ी लाल मीणा पर तो जमकर निशाना साधा ही, साथ में अपनी ही गहलोत सरकार पर मैच फिक्सिंग का आरोप लगा जाहिर की नाराजगी, कहा कि सरकार और प्रशासन को बार-बार चुनौती देने वाले किरोड़ी लाल पर इतनी मेहरबानी क्यों? 5 से ज्यादा गंभीर किस्म के आपराधिक मामले दर्ज होने के बावजूद उन्हें गिरफ्तार क्यों नहीं किया जा रहा है?

0
रमेश मीणा ने लगाए ‘मैच फिक्सिंग’ के आरोप
रमेश मीणा ने लगाए ‘मैच फिक्सिंग’ के आरोप
Advertisement2

Politalks.News/Rajasthan/Kirodi/RameshMeena. भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा के सियासी शत्रु माने जाने वाले गहलोत सरकार में पंचायत राज मंत्री रमेश मीणा ने डॉ किरोड़ी को गिरफ़्तार नहीं किए जाने को लेकर अब अपनी ही सरकार पर सवाल उठाए हैं. बुधवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में जनसुनवाई करने पहुंचे मंत्री रमेश मीणा ने मीडिया से बात करते हुए सांसद किरोड़ी लाल मीणा पर तो जमकर निशाना साधा ही, साथ में अपनी ही गहलोत सरकार के साथ डॉ किरोड़ी की मैच फिक्सिंग का आरोप लगाकर नाराजगी जाहिर की है. मंत्री रमेश मीणा ने कहा कि सरकार और प्रशासन को बार-बार चुनौती देने वाले किरोड़ी लाल पर इतनी मेहरबानी क्यों है? किरोड़ी लाल पर 5 से ज्यादा गंभीर किस्म के आपराधिक मामले दर्ज हैं, इसके बावजूद उन्हें गिरफ्तार क्यों नहीं किया जा रहा है?

पीसीसी ने जनसुनवाई के बाद मीडिया से बातचीत में मंत्री रमेश मीणा ने कहा कि किरोड़ी लाल मीणा लाशों की राजनीति करते हैं. उन्होंने अपने जीवन में कोई ऐसा काम किया है जिससे लोगों को कोई फायदा हुआ हो. रमेश मीणा ने कहा कि किरोड़ी मीणा के ऊपर पांच से ज्यादा केस लगे हुए हैं, सारी रिपोर्ट आ चुकी है. लेकिन उनकी गिरफ्तारी नहीं हो रही है. रमेश मीणा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से दोबारा अपील करते हुए कहा कि किरोड़ी लाल मीणा बार-बार न्यूसेंस करते हैं और लोगों को असुविधा होती है. ऐसे व्यक्ति को गिरफ्तार क्यों नहीं किया जा रहा है? रमेश मीणा ने आगे कहा कि हम सोचने के लिए मजबूर हैं कि सरकार की ऐसी क्या मजबूरी है कि इन पर कार्रवाई नहीं हो रही. जबकि इन्हें गिरफ्तार करना चाहिए.

यह भी पढ़े: वागड़ दौरे पर CM गहलोत ने की कन्हैया लाल के बेटों से मुलाकात, कहा- नौकरी दी लेकिन मैं नहीं हूं संतुष्ट

बीते रोज मंगलवार को भाजपा सांसद किरोड़ी लाल मीणा द्वारा ERCP को लेकर मीणा हाइकोर्ट में विशाल जनसभा के दौरान किया गया जल क्रांति का आगाज और उसके बाद हजारों समर्थकों के साथ जयपुर कूच को लेकर मंत्री रमेश मीणा ने कहा कि मंत्री रमेश मीना ने कहा कि ईस्टर्न कैनाल प्रोजेक्ट की डीपीआर पूर्ववर्ती वसुंधरा राजे सरकार ने बनाई थी, तब किरोड़ी सो रहे थे क्या? उस समय डीपीआर में संशोधन क्यों नहीं करवाया? उस वक्त वसुंधरा राजे ने क्या नियम जोड़े थे, चुप क्यों रहे थे? किरोड़ी लाल का विकास से कोई लेना देना नहीं है, इन्हें तो सिर्फ दबगंई दिखानी होती है. रमेश मीणा ने आगे कहा कि किरोड़ी लाल तो सिर्फ लाशों की राजनीति करते हैं. अपना रौब दिखाकर अधिकारियों को सिर्फ डराते हैं.

Patanjali ads

मंत्री रमेश मीणा ने सांसद किरोड़ी लाल मीणा पर जुबानी हमला जारी रखते हुए कहा कि किरोड़ी लाल अस्तित्व समाप्त हो चुका है. लेकिन फिर भी उन्होंने राजनीति में चर्चा में रहने के लिए और दबंगई दिखाने के लिए लोगों को बुलाकर सभा की. रमेश मीणा ने कहा कि सभा में 2 लाख लोगों के आने की बात कहते हैं, लेकिन हकीकत यह है कि संख्या केवल 10 से 15 हजार थी. किरोड़ी लाल के साथ अपनी सरकार पर आरोप लगाते हुए रमेश मीणा ने आगे कहा कि जब शाम हुई, तो वे जानते थे कि अकेले रह जाएंगे, इसलिए उन्होंने मैच फिक्सिंग करके प्रशासन को बुलाया और बातचीत की. अगर मुद्दा था तो फिर किरोड़ी डरते क्यों हैं? आगे बढ़ते, लेकिन क्योंकि मुद्दा था नहीं, तो वह आगे बढ़ते कैसे? किरोड़ी केवल रुकावट डालने के लिए यह बताना चाहते हैं कि उनके पास कितनी ताकत है.

यह भी पढ़े: 2014 में आने वाले रह जाएंगे 2024 में? हम रहें या न रहें, लेकिन वो नहीं रह पाएंगे- शपथ के बाद गरजे नीतीश

आपको बता दें, राजस्थान की राजनीति में दिग्गज बीजेपी नेता डॉ किरोड़ी लाल मीणा और कांग्रेस सरकार में मंत्री रमेश मीना की पुरानी अदावत है. पिछले विधानसभा चुनाव में रमेश मीना किरोड़ी लाल की पत्नी गोलमा देवी को हराकर ही मंत्री बने. करौली जिले की सपोटरा तहसील से कांग्रेस प्रत्याशी रमेश मीना ने भाजपा प्रत्याशी गोलमा देवी को चुनावी शिकस्त दी थी, तब से ही दोनों नेताओं के बीच अदावत चल रही है. हाल ही में किरोड़ी लाल ने मंत्री रमेश मीना को भू माफिया बताते हुए कहा था कि रमेश मीना में दम है तो गिरफ्तार करवा दें. यही नहीं हाल ही में किरोड़ी लाल मीणा की पत्नी और पूर्व मंत्री गोलमा देवी ने गहलोत सरकार में मंत्री राजेन्द्र गुढा के आवास जाकर रमेश मीणा के खिलाफ गंभीर आरोप लगाते हुए सरकार के नाम ज्ञापन भी सौंपा था.

Leave a Reply