देश के साथ में धोखा था गुजरात मॉडल, मार्केटिंग के उस्ताद मोदी ने बनाया सिर्फ माहौल- सीएम गहलोत

गुजरात मे लोग नौकरी के लिए तरस रहे हैं, कर्मचारियों को गुजरात में वेतन पूरा नहीं मिल रहा, लाखों लोग टेंपरेरी लगे हुए हैं, सड़कें टूटी पड़ी हैं, रेवड़ी का जुमला बोलकर पीएम मोदी ने करोड़ों लोगों की बेइज्जती की है, क्या वे भीख मांग रहे हैं क्या? मैंने पुरानी पेंशन बहाल करके सरकारी नौकरी में पूरी जिंदगी लगाने वाले को उसकी सोशल सिक्योरिटी बहाल की तो इन्हें तकलीफ हो रही है, इससे बीजेपी सरकार घबराई हुई है- सीएम अशोक गहलोत

0
img 20220811 191229
img 20220811 191229
Advertisement2

Politalks.News/Rajasthan/Gehlot. सुबह परिवार के रक्षा बंधन का पर्व मनाकर उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ के शपथग्रहण समारोह में शामिल होने दिल्ली पहुंचे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दिल्ली में मीडिया से बातचीत में एक बार फिर भाजपा और मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला. सीएम गहलोत ने फ्री स्कीम को रेवड़ी बताने सहित कई मुद्दों को लेकर तो PM नरेंद्र मोदी और BJP आड़े हाथ लिया ही साथ ही मुख्यमंत्री गहलोत ने मोदी के गुजरात मॉडल पर सवाल उठाते हुए इसे देश के साथ धोखा बताया है. इसके साथ ही सीएम गहलोत ने पीएम मोदी को मार्केटिंग का उस्ताद भी बताया. वहीं मुख्यमंत्री गहलोत ने यह भी कहा कि मैंने पुरानी पेंशन बहाल करके सरकारी नौकरी में पूरी जिंदगी लगाने वाले को उसकी सोशल सिक्योरिटी बहाल की तो इन्हें तकलीफ हो रही है, इससे बीजेपी सरकार घबराई हुई है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मोदी सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि केंद्र सरकार को चाहिए कि वह हमारी योजनाओं पर रिसर्च करें. मैं चैलेंज देता हूं कि आप हमारे चार बजट का रिसर्च और विश्लेषण करवाइए और हमारी स्कीम को केंद्र में लागू करो और BJP शासित राज्यों में भी लागू करवाओ, तब मालूम पड़ेगा कि हमारी योजनाओं की क्या खासियत है? हम मार्केटिंग कम करते हैं, ये इसमें उस्ताद लोग है, मोदी तो खुद उस्ताद हैं मार्केटिंग में. यही नहीं, इसके साथ ही सीएम गहलोत ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि NDA सरकार के बाद जो करप्शन बढ़ा है उसने हदें पार कर दी हैं. UPA राज की तुलना में 10 गुणा ज्यादा करप्शन बढ़ गया है, लोग लूट रहे हैं, लेकिन डर के मारे कोई बोल नहीं रहा है.

यह भी पढ़ें: राठौड़ साहब ज्यादा ‘पराक्रम’ नहीं दिखाएं वरना सारी पोल खुल जाएगी, फिर बात दूर तक जाएगी- रमेश मीणा

इसके साथ ही सीएम गहलोत ने नरेन्द्र मोदी के गुजरात का मुख्यमंत्री रहते सुर्खियों में रहे गुजरात मॉडल पर जोरदार निशाना साधते हुए कहा कि, मोदी ने गुजरात मॉडल के नाम पर सिर्फ माहौल बनाया. मालूम करिए कि गुजरात मॉडल था क्या? गुजरात मॉडल देश के साथ में धोखा था. ऐसा माहौल बना दिया कि जैसे गुजरात मॉडल देश को कहां ले जाएगा? जबकि आज वहां लोग नौकरी के लिए तरस रहे हैं. कर्मचारियों को गुजरात में वेतन पूरा नहीं मिल रहा, लाखों लोग टेंपरेरी लगे हुए हैं, सड़कें टूटी पड़ी हैं. आपको बता दें, इसी साल के अंत में होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने सीएम अशोक गहलोत को सीनियर ऑब्ज़र्वर बनाया है.

Patanjali ads

गुजरात मॉडल पर बोलते हुए सीएम गहलोत ने आगे कहा कि अब जब हमारे लोग वहां प्रभारी बनकर गए हुए हैं तो वो बताते हैं कि क्या-क्या नहीं हो रहा है वहां पर. गुजरात मॉडल का इतना माहौल बना दिया था कि पता नहीं मोदी क्या करिश्मा कर देंगे? सीएम गहलोत ने आगे कहा कि नरेन्द्र मोदी की जिंदगी में बदलाव करने का बहुत बड़ा मौका आया था. अगर मोदी 75 साल की उपलब्धियों को क्वॉट करते और नेहरू से लेकर मनमोहन सिंह के समय तक के फैसले बताते, लेकिन ऐसा नहीं करके मौका चूक गए.

यह भी पढ़े: 2014 में आने वाले रह जाएंगे 2024 में? हम रहें या न रहें, लेकिन वो नहीं रह पाएंगे- शपथ के बाद गरजे नीतीश

वहीं पिछले दिनों से देश की सियासी सुर्खियों में चल रही ‘रेवड़ी पॉलिटिक्स‘ और मुफ्त के रेवड़ियों वाले पीएम मोदी के बयान पर पलटवार करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि, ‘प्रधानमंत्री को रेवड़ी बांटने का बयान नहीं देना चाहिए था, ये रेवड़ी नहीं है. रेवड़ी का जुमला बोलकर PM ने करोड़ों लोगों की बेइज्जती की है, क्या वे भीख मांग रहे हैं क्या? सीएम गहलोत ने आगे कहा कि मैं प्रधानमंत्री से पूछना चाहता हूं कि जब वसुंधरा राजे मुख्यमंत्री थीं तब आपने जयपुर, अजमेर में बड़े बड़े प्रोग्राम किए थे और बाकायदा सरकारी स्तर पर लाभार्थियों को बसों से लाया गया था. यहां तक कि लंच, डिनर ब्रेक फास्ट की व्यवस्था की गई थी, लाने ले जाने की पूरी व्यवस्था सरकार ने की थी. लाभार्थियों को लिटरेचर के नाम पर एक बैग पकड़ाया कि हमने आप पर ये एहसान किए हैं, कम से कम हम इस तरह एहसान तो नहीं जता रहे.

Leave a Reply