तीसरी लहर से मुकाबले के लिए हम पूरी तरह सक्षम, गांव-ढाणी तक अब मजबूत इंफ्रास्ट्रक्चर- CM गहलोत

सीएम गहलोत ने किया एनआईसीयू, पीआईसीयू, आईसीयू, ऑक्सीजन जनरेशन औक लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन प्लांटस का लोकार्पण- यूके, रूस सहित दुनिया के कई मुल्कों में कोरोना से हालात फिर हुए गंभीर, कई राज्यों में भी बढ़ने लगे केस, ऐसे में, सजगता और सतर्कता है बेहद जरूरी

0
2323 1 7140087 355x233 m
2323 1 7140087 355x233 m
Advertisement2

Politalks.News/Rajasthan. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार शाम राज्य में चिकित्सा एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के अधीन संचालित चिकित्सा संस्थानों में एनआईसीयू, पीआईसीयू, आईसीयू, ऑक्सीजन जनरेशन औक लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन प्लांटस का लोकार्पण और शिलान्यास किया. जिसमें करीब 231.66 करोड़ रूपए की लागत के कार्यों का लोकार्पण और लगभग 50.61 करोड़ रूपए की लागत के कार्यों का शिलान्यास किया. चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा और यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल भी कार्यक्रम में मौजूद रहे.

इस दौरान समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि सरकार ने कोरोना महामारी की भयावह चुनौती को अवसर में बदलते हुए प्रदेश में व्यापक स्तर पर उच्च गुणवत्ता की स्वास्थ्य सुविधाएं विकसित की हैं. राजधानी से लेकर गांव-ढाणी तक मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत किया गया है. सीएम गहलोत ने कहा कि अगर कोरोना की तीसरी लहर आती है तो अब राजस्थान उसका मुकाबला करने के लिए पूरी तरह सक्षम है.

यह भी पढ़ें: G-23 नेताओं को सूंघ गया सांप? CWC की बैठक के बाद विचित्र खामोशी की सियासी गलियारों में चर्चाएं

सजगता और सतर्कता जरूरी, कोविड महामारी अभी गई नहीं
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कोविड महामारी अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुई है बल्कि यूके, रूस सहित दुनिया के कई मुल्कों में कोरोना से हालात फिर गंभीर हो गए हैं. कई राज्यों में भी केस बढ़ने लगे हैं. ऐसे में, सजगता और सतर्कता बेहद जरूरी है. सीएम गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार ने पहली और दूसरी लहर में कोरोना का बेहतरीन प्रबंधन कर लोगों का जीवन बचाया है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान किए गए हमारे प्रयासों की देश और दुनिया में सराहना हो रही है. हमारी सरकार ने तीसरी लहर से मुकाबले के लिए टेस्टिंग सुविधाओं को बढ़ाने, वैरिएंट की पहचान के लिए जीनोम सिक्वेंसिंग सुविधा प्रारंभ करने, ऑक्सीजन के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता हासिल करने, आईसीयू बैड्स बढ़ाने सहित तमाम आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत किया है. निःशुल्क जांच एवं दवा योजना के बाद इस कार्यकाल में हमारी सरकार ने निरोगी राजस्थान और मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य जीवन बीमा जैसी महत्वाकांक्षी योजनाएं शुरू की है.

यह भी पढ़ें: अब अपनों के निशाने पर आई मोदी सरकार! RSS से जुड़े संगठन ने देशव्यापी प्रदर्शन का किया एलान

मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना ने दिया बड़ा सहारा
इस दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आगे कहा कि निःशुल्क जांच एवं दवा योजना के बाद इस कार्यकाल में हमारी सरकार ने निरोगी राजस्थान और मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य जीवन बीमा जैसी महत्वाकांक्षी योजनाएं शुरू की है. इनका उद्देश्य है कि लोग स्वस्थ जीवन शैली को अपनाएं, यदि बीमार हों भी तो उन्हें भारी-भरकम खर्च की चिंता नहीं करनी पड़े. स्वास्थ्य बीमा योजना के माध्यम से उन्हें 5 लाख रूपए तक का कैशलेस उपचार मिल रहा है.

संकट के समय रही ऑक्सीजन की उपलब्धता
समारोह में मौजूद चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि दूसरी लहर के समय पूरा देश ऑक्सीजन के संकट से जूझ रहा था, लेकिन राज्य सरकार ने प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित की. रघु शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तीन वरिष्ठ मंत्रियों की टीम को दिल्ली भेजा और ऑक्सीजन आपूर्ति की लगातार गहन मॉनिटरिंग की गई. मंत्री शर्मा ने कहा कि अब हम ऑक्सीजन प्लांट्स की स्थापना के काम को प्राथमिकता से पूरा कर रहे हैं.

Leave a Reply