ममता दीदी के जबरा फैन बने पीके अड़े अपनी बात पर- बंगाल में 100 सीटें बीजेपी के लिए दूर की कौड़ी

एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में प्रशांत किशोर ने निकाली अपने मन की भड़ास, एक बार फिर बोले बीजेपी 100 सीटें जीतती है तो छोड़ देंगे रणनीतिकार का काम, वायरल ऑडियो चैट पर प्रशांत किशोर की दो टूक, आम लोगों से ममता के कनेक्ट को बताया शानदार

0
ममता दीदी के जबरा फैन बने पीके अड़े अपनी बात पर
ममता दीदी के जबरा फैन बने पीके अड़े अपनी बात पर
Advertisement2

Politalks.News/WestBengalElection. पश्चिम बंगाल के चुनावी रण में हर किसी की नज़र तृणमूल कांग्रेस के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर पर टिक गई हैं. बंगाल में बचे चार चरण के सियासी घमासान के बीच प्रशांत किशोर ने आज एक बार फिर बीजेपी के 100 से कम सीटें जीतने के दावे के साथ ही अपने मन की भड़ास भी निकाली. एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में वायरल ऑडियो को लेकर प्रशांत किशोर ने कहा कि उस ऑडियो में मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा, जो पब्लिक प्लेटफॉर्म पर ना कहा हो. पीके ने इस दौरान चुनाव आयोग को भी अपने निशाने पर रखा.

वायरल ऑडियो चैट पर प्रशांत किशोर की दो टूक
वायरल ऑडियो को लेकर प्रशांत किशोर ने कहा कि उस ऑडियो में मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा, जो पब्लिक प्लेटफॉर्म पर ना कहा हो. प्रशांत किशोर ने कहा कि वो ऑडियो कोई लीक नहीं था, बल्कि सबकुछ पब्लिक था. पीके ने कहा कि अपने प्रतिद्वंदी को कभी कमजोर नहीं समझना चाहिए और ना ही मैं समझता हूं. जिस व्यक्ति से मेरा मुकाबला है, तो मैं हमेशा उसकी ताकत ज्यादा ही मानकर आगे बढ़ूंगा. पीएम मोदी लोकप्रिय हैं, इसलिए तो देश के पीएम हैं.

यह भी पढ़ें: BJP और TMC के बीच तेज हुआ सियासी घमासान, दोनों के बीच की लड़ाई ने बंगाल को किया बदनाम

40 फीसदी वोट के बाद भी 100 सीटें बीजेपी के लिए दूर की कोड़ी’
वायरल ऑडियो पर आगे बताते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि मुझसे सवाल किया गया कि बीजेपी को 40 फीसदी वोट आ रहा है, तो मैंने बताया कि वो वोट क्यों आ रहा है. बीजेपी को वोट मिलने का सबसे बड़ा कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं. लेकिन, मैं एक बार फिर कह रहा हूं कि टीएमसी फिर से सरकार बनाने जा रही है और बीजेपी 100 सीटों से कम पर रुक जाएगी. ऑडियो पर पीके बोले कि SC समुदाय, मतुआ समुदाय बीजेपी को वोट कर रहा है, लेकिन उस मात्रा में नहीं कर रहा है जैसा लोकसभा चुनाव के दौरान मिला था. बीजेपी को जो 40 फीसदी वोट मिल रहा है, उसके कारण पीएम मोदी की लोकप्रियता, ध्रुवीकरण, हिन्दी भाषी लोगों में बीजेपी की पकड़ और SC समुदाय का बीजेपी को वोट करना है. पीके ने कहा कि अगर बीजेपी 40 फीसदी वोट पा रही है, तो टीएमसी भी 45 फीसदी से अधिक वोट ले जा रही है.

Patanjali ads

कूचबिहार की घटना पर प्रशांत किशोर ने क्या कहा?
कूचबिहार की घटना पर प्रशांत किशोर ने कहा कि ममता बनर्जी ने CRPF पर सीधे सवाल नहीं उठाए, बल्कि सरकार की ओर से जो निर्देश दिए जा रहे हैं वो गलत है और इसीलिए ममता बनर्जी ने राज्यपाल के सामने अपील की. कूचबिहार को लेकर पीके ने कहा कि केंद्रीय फोर्स की गोली से 5 लोगों की जान चली गई है. ममता बनर्जी ने कोई भड़काऊ बयान नहीं दिया, ममता बनर्जी ने कहा कि अगर महिलाओं को वोट डालने में केंद्रीय फोर्स अड़चन डाल रही है, तो उनका घेराव कर लीजिए.

निर्वाचन आयोग ने मोदी जी को पटना में नहीं रोका, ममता को कूचबिहार में क्यों रोक रहा है?
प्रशांत किशोर ने कहा कि मुख्यमंत्री के तौर पर ममता बनर्जी को वहां जाने का हक है. पटना में 2014 में रैली के दौरान कुछ लोगों की जान चली गई, अगले ही दिन पीएम मोदी गुजरात से उनसे मिलने आए थे. लेकिन तब चुनाव आयोग ने वहां कोई एक्शन नहीं लिया, लेकिन अब ममता बनर्जी को कूचबिहार जाने से रोका जा रहा है, जबकि कूचबिहार में चुनाव खत्म हो चुका है.

यह भी पढ़ें: किसानों और नौजवानों को धोखा देने का काम जिसने किया, उन्हें धूल चटाने का काम सिंधिया ने किया

यहां आपको बता दें कि कूचबिहार में चौथे चरण के मतदान के बीच केंद्रीय सुरक्षाबलों और स्थानीय लोगों में झड़प हो गई थी, जिसके बाद सुरक्षाबलों की गोली से कुछ लोगों की मौत हो गई थी. चुनाव आयोग ने यहां मतदान रद्द किया था, ममता बनर्जी ने इसको लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा था तो वहीं पीएम मोदी ने ममता की भड़काऊ बयानबाजी को जिम्मेदार बताया था.

‘ममता का आम लोगों से कनेक्ट शानदार
प्रशांत किशोर ने कहा कि ममता बनर्जी का लोगों के साथ कनेक्ट बेहतरीन है, जो शायद कई नेताओं से काफी बेहतर है. अभिषेक बनर्जी को लेकर पीके ने कहा कि वो एक महत्वपूर्ण नेता हैं, लेकिन पार्टी की नेता, राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हैं. ऐसे में ये नहीं हो सकता है कि ममता बनर्जी बैठी रहें और पार्टी कोई और चला रहा हो. ममता बनर्जी के पैर में लगी चोट को लेकर प्रशांत किशोर ने कहा कि ममता बनर्जी प्रचार के वक्त चोटिल हुईं, किसी ने उसे घटना बताया और किसी ने साजिश. वहीं चुनाव आयोग ने इस पूरे विवाद पर एक्शन भी लिया.

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल में चार चरण का मतदान हो चुका है. अब पांचवें चरण का मतदान 17 अप्रैल को होना है. प्रशांत किशोर इस बार तृणमूल कांग्रेस की चुनावी रणनीति का जिम्मा संभाल रहे हैं. चुनाव शुरू होने से पहले उन्होंने दावा किया था कि अगर बीजेपी बंगाल में 100 से अधिक सीटें जीतती है, तो वो रणनीतिकार वाला काम छोड़ देंगे जिस पर वो आज भी कायम हैं.

Leave a Reply